GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जन्माष्टमी क...

जन्माष्टमी के व्रत के दौरान ध्यान...

भगवान विष्णु के आठवें अवतार श्री कृष्ण का जन्म भाद्रपद कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथी के दिन रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। इसी ख़ुशी में हर...

सावन 2018:खा...

सावन 2018:खास रहेगा इस बार सावन...

सावन का पवित्र महीना इस बार 28 जुलाई से शुरू हो रहा है।

अमावस्या पर ...

अमावस्या पर जरूर करें ये आसान 8...

हिन्दू धर्म में अमावस्या और पूर्णिमा की तिथियों का विशेष महत्व होता है। इस दिन किए गए कुछ खास कार्यों से  मनोकामनाएं बहुत जल्दी पूरी...

अखंड सौभाग्य...

अखंड सौभाग्य चाहिए तो करें 'वट...

  हिन्दू धर्म में वट सावित्री व्रत को भी करवा चौथ की तरह ही माना जाता है। अपने अचल सुहाग की कामना के लिए महिलाएँ बरगद के पेड़ की...

श्रीकृष्ण जन...

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी: इस उपवास...

भगवान श्री कृष्ण जगत के पालनहार हैं। उनका नाम लेते ही मनुष्य के चौरासी चक्र के बंधन से मुक्त हो जाता है। जो व्यक्ति जन्माष्टमी के व्रत...

हनुमान जी को...

हनुमान जी को करना है प्रसन्न तो...

    21 मंगलवारों का नियमित व्रत करने से मंगल दोष समाप्त हो जाता है। मंगलवार का व्रत मंगल भगवान को प्रसन्न करने के लिए किया जाता...

माँ को अर्पण...

माँ को अर्पण करें ये नौ नवरात्रि...

नवरात्रि यानी मां के नौ रूपों के नौ दिन, आस्था के नौ दिन और माता रानी को मनाने के नौ दिन। निरोग, सफलता, धनवान और बुद्धिमान होने की...

क्यों मनाते ...

क्यों मनाते हैं शिवरात्रि?

शिवरात्रि का अर्थ वह रात्रि है जिसका शिवतत्व के साथ घनिष्ठ संबंध है। भगवान शिव जी की अतिप्रिय रात्रि को शिवरात्रि कहा गया है। शिवार्चन...

भगवान शिव को...

भगवान शिव को पशुपति क्यों कहते...

भगवान शिव रूप रहित हैं। अर्थात् शिव अनन्त हैं, असीम हैं। उनमें किसी बात की अभिलाषा नहीं है। वह दयालु भी हैं तथा क्रोध आने पर रौद्र...