GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

बिना घी,तेल ...

बिना घी,तेल के जलती है यहां अखंड...

  ज्वाला जी का मंदिर माता के 51 शक्तिपीठों में से सबसे प्रसिद्ध मंदिर है। यहां देवी ज्वाला के रूप में विद्यमान हैं जो अनादिकाल से...

पहाड़ों में ...

पहाड़ों में है मां वैष्णो का धाम,...

  असमर्थ को समर्थ करने वाली शक्ति को मां के नाम से जाना जाता है। भारतीय दर्शन प्रभु के निराकार रूप को ही शिव एवं शक्ति के साकार...

जानिए मां दु...

जानिए मां दुर्गा को यह दिव्यास्त्र...

जिस काम को और कोई संपन्न नहीं करता, उसे सर्वशक्ति संपन्न देवी दुर्गा कर सकती है। शक्ति की अधिष्ठात्री देवी की संरचना तमाम देवी-देवताओं...

माँ को अर्पण...

माँ को अर्पण करें ये नौ नवरात्रि...

नवरात्रि यानी मां के नौ रूपों के नौ दिन, आस्था के नौ दिन और माता रानी को मनाने के नौ दिन। निरोग, सफलता, धनवान और बुद्धिमान होने की...

क्या आप जानत...

क्या आप जानते हैं अंधविश्वास से...

आचरण और अनुशासन भारतीय समाज की आधारशिला है। आज के आधुनिक युग में भी भारत अपनी परंपरा को अपने से जोड़े हुए है। पुराने समय से ही कई ऐसे...

क्यों मनाते ...

क्यों मनाते हैं शिवरात्रि?

शिवरात्रि का अर्थ वह रात्रि है जिसका शिवतत्व के साथ घनिष्ठ संबंध है। भगवान शिव जी की अतिप्रिय रात्रि को शिवरात्रि कहा गया है। शिवार्चन...

भगवान शिव को...

भगवान शिव को पशुपति क्यों कहते...

भगवान शिव रूप रहित हैं। अर्थात् शिव अनन्त हैं, असीम हैं। उनमें किसी बात की अभिलाषा नहीं है। वह दयालु भी हैं तथा क्रोध आने पर रौद्र...

मकर संक्रांत...

मकर संक्रांति देवताओ का दिन

खुशी और समृद्धि का व्यौहार मकर संक्रांति, सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने पर मनाया जाता है। इस वर्ष मकर संक्राति 15 जनवरी को मनाया...

मस्ती और स्व...

मस्ती और स्वादिष्ट परंपरा है मकर...

मकर संक्रांति हिंदुओं का एक ऐसा त्योहार है जो भारत और नेपाल के लगभग सभी हिस्सों में मनाया जाता है। यह फसल से जुड़ा हुआ त्योहार है।...