GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

मां कैसे डाल...

मां कैसे डाल सकती है बढ़ते बच्चे...

कैसे दें बच्चों को संस्कार

संस्कार दिए ...

संस्कार दिए क्या ?

स्कूल में दिन का अधिकांश हिस्सा बिताने के बावजूद, परिवार का बालक के व्यक्तित्व व चरित्र निर्माण पे बहुत असर होता है । कोरोना संकट के...

Default title image for grehlkshmi

जब बेटी ससुराल से वापिस आ जाए

हिन्दुस्तानी संस्कृति में विवाह को एक पवित्र संस्कार माना गया है। पति-पत्नी का रिश्ता सात जन्मों का अटूट रिश्ता माना जाता है। बदलते...

किशोर और COV...

किशोर और COVID-19: चुनौतियां और...

लॉक डाउन में घर में रहने के लिए किशोर भी मजबूर हैं ऐसे में उनका समय नहीं कट रहा ।वह सारे समय पढ़ नहीं सकते। इसलिए वह भी हो रहे हैं...

बच्चों की पर...

बच्चों की परवरिश को संवारते ग्रैंड...

ग्रैंड पैरेंट्स यानी कि दादा -दादी या फिर नाना -नानी  के महत्व को उनके नाती-पोतों द्वारा शायद ही कभी समझा जा सकता है क्योंकि हम इसे...

लॉकडाउन का स...

लॉकडाउन का समय बच्चों में बढ़ा रहा...

लॉकडाउन की वजह से सारे स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं जिससे बच्चों को वायरस के संक्रमण से पूरी तरह से बचाया जा सके। बच्चे और पैरेंट्स...

अभिभावकों की...

अभिभावकों की आकांक्षाओं के बोझ...

किशोरवय बच्चों की आत्महत्या करने में सबसे बड़ा कारण पढ़ाई का बोझ है। माता-पिता को फस्र्ट क्लास से कम पर तो संतोष होता ही नहीं। वे और...

ट्यूशन के दौ...

ट्यूशन के दौरान बच्चों पर रखें...

आजकल पढ़ाई-लिखाई का माहौल निरंतर बदल रहा है। दूसरी तरफ मां-बाप का कामकाजी होने के कारण बच्चों को पढ़ाना मुश्किल होता जा रहा है। अब...

डिजिटल युग म...

डिजिटल युग में बिगड़ते बच्चे

डिजिटल युग में पैरेंटिंग की परिभाषा बदल गई है। समय के अभाव के चलते अभिभावक बच्चों को समय नहीं दे पा रहे। परिवार संयुक्त से एकल हो गए...

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

गृहलक्ष्मी गपशप

पहली बार घर ...

पहली बार घर रहे...

लाॅकडाउन से पहले अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशी रीलीज़...

अनलाॅक 2 में...

अनलाॅक 2 में 31...

मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स ने कहा है कि जो डोमैस्टिक...

संपादक की पसंद

गुरु एक सेतु...

गुरु एक सेतु है,...

गुरु तो एक सेतु है, एक संभावना है। गुरु एक तरह की रिक्तता...

दिल जीत लेंग...

दिल जीत लेंगे जयपुर...

जयपुर को गुलाबी शहर कहा जाता है लेकिन ये महलों का शहर...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription