देश का भविष्...

देश का भविष्य हैं बच्चे: पंडित...

भारतीत्र स्वतंत्रता आंदोलन में महात्मा गांधी जी के सान्निध्य में नेहरू जी एक सर्वोच्च नेता के रूप में उभरे। 1947 में भारत के एक स्वतंत्र...

शाबाश - गृहल...

शाबाश - गृहलक्ष्मी कहानियां

माँ जब नानी के शब्द वाणों को ना झेल पातीं तो अपना कमरा जोर से बन्द कर नानी डर जाती और चुप हो जाती थीं। इस तमाशे के बीच वो चुपचाप...

अपरिग्रह - ग...

अपरिग्रह - गृहलक्ष्मी कहानियां...

कितनी बार समझाया है अंजली को कि यह सब शानो-शौकत मेरी वर्षों की मेहनत का परिणाम है उसे मैं किसी को नहीं बाँटना चाहता। परन्तु वह हमेशा...

कुंठित भूख -...

कुंठित भूख - गृहलक्ष्मी कहानियां...

उसने बहुत बार मास्क न लगाने की वजह से पुलिस की मार खाई थी, जुर्माना भरने की उसकी औकात न थी, ये बात पुलिस उसका हुलिया देख के ही समझ...

प्रेम की दीव...

प्रेम की दीवार - गृहलक्ष्मी कहानियां...

तय किये गए उचित समय पर रोहित नदी के किनारे पहुँच गया। परन्तु उसे पता था हमेशा की तरह सुधा आज भी देरी से आएगी और फिर कोई न कोई बहाना...

धूप की तलाश ...

धूप की तलाश - गृहलक्ष्मी कहानियां...

साँस लेना मुश्किल हो रहा है। कबरी बड़ी थी, बोली-अब क्या कहूँ। कुछ साल पहले मुझे याद है, ऐसी कोई बात नहीं थी। मैं और मेरी बहनें अम्मा...

बहू को ही दो...

बहू को ही दोष क्यों

घर,परिवार, बच्चे, पति और मेहमान हर तरह से बहू परिवेष को पूरी शालीनता के साथ सहेज कर रखती है। लेकिन क्या कोई उसके जख्मों पर मरहम लगाता...

'गर साथ तुम्...

'गर साथ तुम्हारा मिल जाता' - गृहलक्ष्मी...

रुई के फाहे से गिरते हिम के टुकड़े, मेरे मन को करते विह्वल आंखो से बहते निर्झर, बन के पानी ये पिघल-पिघल बिसरी यादों की कुछ कड़ियां,...

रिवाज या लाल...

रिवाज या लालच - गृहलक्ष्मी कहानियां...

दूसरी तरफ शिखा की मां साधना जी अपनी  समधन के मुंह से तमाशा बनने वाली बात सुनकर दुखी हो गईं| गुस्सा तो बहुत आया लेकिन बेटी की सास को...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

रम जाइए 'कच्...

रम जाइए 'कच्छ के...

गुजरात का कच्छ इन दिनों फिर चर्चा में है और यह चर्चा...

घट-कुम्भ से ...

घट-कुम्भ से कलश...

वैसे तो 'कुम्भ पर्व' का समूचा रूपक ज्योतिष शास्त्र...

संपादक की पसंद

मां सरस्वती ...

मां सरस्वती के प्रसिद्ध...

ज्ञान की देवी के रूप में प्राय: हर भारतीय मां सरस्वती...

लोकगीतों में...

लोकगीतों में बसंत...

लोकगीतों में बसंत का अत्यधिक माहात्म्य है। एक तो बसंत...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription