सास को क्यों...

सास को क्यों करती है बहू इग्नोर...

इसमें कोई दोराय नहीं कि, सास के पास बहू से दोगुना तजुर्बा है, लेकिन अगर सास हर वक्त बहू की हर चीज़ पर नज़र रखेगी और उसके लिए उलझन पैदा...

बनें स्मार्ट...

बनें स्मार्ट सास - बहु मैनेजमेंट...

स्मार्ट सास बनना कोई मुश्किल काम नहीं है, कॅन्ट्रोल तो आप हर किसी पर वैसे भी रखती ही हैं, पर बहुओं के साथ साथ आपको भी इस बात का अंदाज़ा...

मझे कुछ कहना...

मझे कुछ कहना है…(पहला कविसम्मेलन)...

मैं एक कवयित्री हूँ I कविता पढ़ने का शौक बहुत था लेकिन मंच पर जा कर कविता पढूंगी, ऐसा कभी सोचा नहीं था I पढ़ते-पढ़ते कभी-कभी शौक चर्रा...

मुझे कुछ कहन...

मुझे कुछ कहना है… मेरी पहली माहवारी...

मेरी उम्र 12 वर्ष की थी जब मेरा मासिक चक्र शुरू हुआ . हालाँकि हमारे पारंपरिक भारतीय परिवारों में यूँ तो दादी -नानी या माँ-चाची जैसी...

कुछ कर गुजरन...

कुछ कर गुजरने का जुनून है जिनमें......

लॉकडाउन में करवाया सुरक्षित प्रसव यह कहानी भी लॉकडाउन में एक महिला के सुरक्षित प्रसव की है जोकि एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने ही करवाया...

तनाव से मिले...

तनाव से मिलेगी मुक्ति, ये 10 योग...

आज कल भाग दौड़ भरी जिंदगी में अपनी सेहत का ध्यान रखना और भी मुश्किल होता जा रहा है। ऐसे में बीमारियों से अपनी रक्षा करना भी किसी बड़ी...

पद्म पुरस्का...

पद्म पुरस्कार विजेता 29 नारी शक्ति...

सुमित्रा महाजन (पद्म भूषण) 2021 के पद्म पुरस्कार की श्रेणी में पद्म भूषण पुरस्कार के तहत पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को सम्मानित...

क्या यही प्य...

क्या यही प्यार है

हम में से बहुत से ऐसे लोग हैं, जो किसी के हंसकर बात करने यां किसी के देखने मात्र को प्यार का नाम दे देते हैं। ये चीजें एटरेक्शन यां...

देश का भविष्...

देश का भविष्य हैं बच्चे: पंडित...

भारतीत्र स्वतंत्रता आंदोलन में महात्मा गांधी जी के सान्निध्य में नेहरू जी एक सर्वोच्च नेता के रूप में उभरे। 1947 में भारत के एक स्वतंत्र...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

चित्त की महत...

चित्त की महत्ता...

श्री गुरुदेव की कृपा के बिना कुछ भी संभव नहीं। अध्यात्म...

तुम अपना भाग...

तुम अपना भाग्य फिर...

एक बार ऐसा हुआ कि पोप अमेरिका गए, वहां पर उनकी कई वचनबद्घताएं...

संपादक की पसंद

शांति के क्ष...

शांति के क्षण -...

मानसिक शांति के अत्यन्त सशक्त क्षण केवल दुर्बल खालीपन...

सुख खोजने की...

सुख खोजने की कला...

एक महिला बोली : मुनिश्री! मैं बड़ी दु:खी हूं। यों तो...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription