GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

धूप की गंध

धूप की गंध

कमरे में धूप की भीनी गंध भरी रहती थी. शाम को जब वह लौटता था धूप की गंध भरी रहती थी. धूप की गंध और धुआं. घर उसे घर की तरह लग ही नहीं...

सॉफ्ट लैंडिंग

सॉफ्ट लैंडिंग

निर्मल के सिर से पिता का साया बचपन में ही उठ गया था। पिता के असमय गुजर जाने के बाद उसके परवरिश की पूरी जिम्मेदारी उसकी मां निरूपा जी...

मुझे माफ़ कर...

मुझे माफ़ कर देना- भाग 3

महीने भर बाद हमारा विवाह हो गया। मुझे वो दिन अभी भी याद हैं जब मैंने आखिरी बार तेरा चेहरा देखा था, तूने कोई रोष व्यक्त नहीं किया था,...

मुझे माफ़ कर...

मुझे माफ़ कर देना- भाग 2

फिल्म और साहित्य को लेकर वह अक्सर बातें करता था। विशेषकर वे बातें जो स्त्री-पुरुष के बीच की अंतरंग बातों को व्याख्यायित करती थीं। मेरे...

मुझे माफ़ कर...

मुझे माफ़ कर देना- भाग 1

डाक में कुछ चिट्ठियाँ आई पड़ी हैं। निर्मल एकबार उन्हें उलटपलट कर देखती है, पर पढऩे को उसका मन नहीं कर रहा। वह जानती है कि ये सभी चिट्ठियाँ...

प्रतीक्षित ल...

प्रतीक्षित लम्हा- भाग 2

वह उन्हें देख कर कह उठे- 'भावी! कितनी प्यारी है ये पहाडिय़ां और कितनी सुंदर है इन पर बर्फ से ढकी चादर। बिल्कुल तुम्हारी तरह। जी चाहता...

प्रतीक्षित ल...

प्रतीक्षित लम्हा- भाग 1

आज भीड़ में भी जैसे अकेलेपन का एहसास होने लगा है। कभी भीड़ में मैं जीती थी, भावनाओं की उछाल के साथ। वक्त का एक-एक कतरा खुशी से झूम...

बोझिल पलकें,...

बोझिल पलकें, भाग-37

अजय और अंशु के प्यार की तो अभी शुरुआत ही हुई थी। ये पिकनिक भी मानो उसी एहसास को परवान चढ़ा रही थी। फिर अचानक ये क्या हो गया? क्या अंशु...

बोझिल पलकें,...

बोझिल पलकें, भाग-36

अंशु और अजय के दिल में पलता प्यार अब उन दोनों को एक-दूसरे के नजदीक खींच रहा था। उस पर उस पिकनिक स्पॉट की रोमानी खूबसूरती उनके दिलों...

पोल

सबसे अछि दाल कौन सी है

गृहलक्ष्मी गपशप

कम हो गया है...

कम हो गया है अब...

‘‘मैंने सुना है कि आजकल एपिसिओटॉमी का चलन नहीं रहा...

सेक्स ना करन...

सेक्स ना करने के...

यूं तो हर इंसान अपने जीवन में सेक्स ज़रूर करता है,...

संपादक की पसंद

केविनकेयर के...

केविनकेयर के "इनोवेटिव...

भारतीय एफएफसीजी ग्रुप केविनकेयर ने अभिनेता अक्षय कुमार...

इन व्यंजनों ...

इन व्यंजनों को बनाकर,...

सभी भारतीय त्यौहारों के उपवास और अनुष्ठानों के बाद...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription