GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

बस, अब और नहीं

बस, अब और नहीं

नटखट और चुलबुली तश्शू कैसे एक राजनेता बनी और कैसे उसने निर्णय लिया अपने पति से अलग होने का... पेश है, भावनाओं के सूत्र में पिरोई गई...

श्रीमती जी क...

श्रीमती जी की नाराजगी

समाज से बहिष्कृत लेखक नामक इस प्राणी को इस स्थान से अधिक सकून और कहां मिल सकता है। नैतिकता के बोझ तले दबा यह प्राणी एकांतवासी न हो...

 चिड़िया की ...

चिड़िया की उम्मीदों से भरी उड़ान...

इसी चिडिया की तरह, छोटी सी जिंदगी में हम भी अपने सपनों के साथ ऐसी ही उड़ान भरते हैं।अलग-अलग जगह जाते हैं और नए-नए लोगों से मिलते हैं,कभी...

 अपने ही छल ...

अपने ही छल रहें है बालमन

बाल यौन उत्पीड़न ऐसा अपराध है, जो बच्चे के तन के साथ उसके मन को भी छलनी कर देता है। इसके निशान उसके कोमल मन पर हमेशा के लिए छाप छोड...

पाप का ताप

पाप का ताप

शिवानी के प्रति गजेन्द्र सिन्हा का व्यवहार जरूरत से ज्यादा उदार रहता था। वह न सिर्फ शिवानी की हर बात मान लेता था अपितु उसकी तरफदारी...