GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

इन तीर्थ-स्थलों के दर्शन से होंगी मन की सारी मुरादें पूरी

राजलक्ष्मी त्रिपाठी

20th May 2016

रंगबिरंगी संस्कृति वाले भारत में ईश्वर की आराधना करने वाले लोगों की कोई कमी नहीं है। अनेक मंदिरों के बारे में अलग-अलग मान्यताएं हैं। यहां के अनेक तीर्थ स्थल और मंदिर अलग-अलग लोगों की अलग-अलग इच्छाओं की पूर्ति करते हैं।

इन तीर्थ-स्थलों के दर्शन से होंगी मन की सारी मुरादें पूरी

 

हिंदू जनमानस में तैंतीस करोड़ देवी-देवता हैं, जो आपके मन की मुरादें पूरी करते हैं। हम आपको बता रहे हैं ऐसे कुछ मंदिरों के बारे में जहां के बारे में कहा जाता है कि वहां जाने पर आपकी मनोकामनाएं पूरी होती हैं, आपकी खाली झोली भरती हैं। फिर देर किस बात की है, आप भी निकल पडि़ए इन देव स्थलों की सैर पर और पूरी कीजिये अपने मन की मुराद।

तिरुपति बालाजी

श्रीकृष्ण का एक नाम वेंकटेश्वर भी है। उनको समर्पित तिरुपति बाला जी के मंदिर की गिनती दुनिया के सबसे अमीर मंदिरों में होती है। मान्यता है कि यहां पर सच्चे दिल से मांगी गई कोई भी इच्छा अधूरी नहीं रहती। इस मंदिर में मनौती पूरी होने के बाद लोग अपने बाल चढ़ाते हैं। यहां भरपूर मात्रा में चढ़ावा भी चढ़ता है मान्यता है कि आपकी इच्छा जितनी बड़ी है, उसे पूरा करने के लिए आपको उतना ही चढ़ावा चढ़ाना होगा। तिरुमाला की पहाडिय़ों पर लगभग 853 मीटर की उंचाई पर स्थित इस मंदिर का निर्माण 300 बीसी में हुुआ था। पूरे साल यहां पर दर्शनार्थियों की भीड़ लगी रहती है। मंदिर बहुत भव्य है और इसका आर्किटेक्चर देखने योग्य है।

कामख्या देवी

असम स्थित कामाख्या देवी के मंदिर के बारे में मान्यता है कि जो दंपत्ति संतान सुख से वंचित हैं यहां पर मां की आराधना करने से उनकी यह इच्छा पूरी होती है। 108 शक्तिपीठों में से एक कामाख्या देवी के इसी स्थान पर सति की योनि गिरी थी। साल में पांच दिन तक यहां पर देवी की माहवारी का उत्सव मनाया जाता है। धारणा है कि अगर उस समय संतान के इच्छुक दंपत्ति वहां जाकर मां के दर्शन करें, तो उनकी मुराद पूरी होती है।

मरघट वाले बाबा

दिल्ली के कश्मीरी गेट स्थित हनुमान मंदिर, जिसे मरघट वाले बाबा के नाम से जाना जाता है, के बारे में मान्यता है कि यहां पर आप जो भी मनौती मांगते हैं वह जरूर पूरी होती है। इस मंदिर में हनुमान जी की पूजा की जाती है। प्रत्येक मंगलवार और शनिवार को यहां पर भारी भीड़ होती है। यहां पर चाहे आपने विवाह के लिए मनौती मांगी हो या फिर संतान के लिए, वह जल्दी से जल्दी निर्विघ्न पूरी होती है।

 

कालकाजी मंदिर

सफेद पत्थरों से बना नई दिल्ली स्थित कालकाजी मंदिर भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करने के लिए प्रसिद्ध है। इस मंदिर में मां दुर्गा की अवतार कालिका देवी की आराधना की जाती है। कालकाजी के मंदिर के बारे में मान्यता है कि यहां आप सच्चे मन से जो कुछ भी मांगते हैं, वह जरूर मिलता है। यहां पर दुनिया भर से दर्शनार्थी आते हैं और मां से अपनी मनोकामना की पूर्ति हेतु प्रार्थना करते हैं। नवरात्रों के समय यहां श्रद्धालुओं की भारी भीड़ लगी रहती है और इसकी छटा देखते ही बनती है। रंग-बिरंगी लाइटों से जगमगाते मंदिर में दुलहन की तरह सजी मां होंगी मन की सारी मुरादें पूरी की मूर्ति देखने वाले को मुग्ध कर देती है।

चिंतपूर्णी देवी

हिमाचल स्थित चिंतपूर्णी देवी का मंदिर सती के शक्ति पीठों में से एक है। ऐसा माना जाता है कि जब भगवान शिव सती के मृत शरीर को लेकर तांडव कर रहे थे, तो उन्हें शांत करने के लिए भगवान विष्णु ने सुदर्शन चक्र से उनके शव के टुकड़े-टुकड़े कर दिये थे। उस समय उनका मस्तक यहीं पर गिरा था। इसी वजह से उन्हें छिन्नमस्ता भी कहा जाता है। माता चिंतपूर्णी देवी के दरबार में आप जो भी मनोकामना मांगते हैं वो पूरी होती है, खासकर संतान प्राप्ति की। बैशाख के आस-पास यहां पर अच्छी खासी भीड़ होती है। उस समय यहां तीन दिन का भव्य मेला लगता है, जिसमें दूर-दूर से लोग आते हैं और माता से प्रार्थना करके अपनी मुरादें पूरी करती हैं।

चूहों वाली माता करकी देवी

राजस्थान के बीकानेर स्थित करकी देवी के मंदिर में प्रतिदिन देसी-विदेशी श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है। इसका कारण यह है कि माता सबकी इच्छाएं पूरी करती हैं, खासकर जिन लोगों की शादी नहीं हो रही होती है। अगर वे यहां पर मां करकी देवी का दर्शन करके उनसे अपने मन की बात कहते हैं, उनकी इच्छा पूरी होती है। करकी देवी के मंदिर में लगभग बीस हजार चूहे होंगे, लेकिन मजे की बात यह है कि यहां पर ना तो किसी तरह की बदबू आती है, और न ही गंदगी दिखाई देती है। वैसे तो यहां आने वालों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं, अगर माता के दर्शन के दौरान सफेद चूहा दिख गया, तो इसका मतलब यह है कि आपके मन की मुराद जरूर पूरी होगी यह शुभ शगुन माना जाता है।

 

अजमेर शरीफ

माना जाता है कि अजमेर शरीफ में जो भी सच्चे मन से प्रार्थना करता है उसकी मनोकामना भी जरूर पूरी होती है। यहां आने वाले कभी खाली हाथ नहीं जाते, उनकी मुराद जरूर पूरी होती है। अजमेरी शरीफ की यह दरगाह दक्षिण एशिया की सबसे पुरानी दरगाह है। इसकी खासियत यह है कि यहां अलग-अलग धर्म के लोग पूरी श्रद्धा से जाते हैं और मुंहमांगी इच्छाएं पूरी करके आते हैं। जिन लोगों को बच्चे नहीं होते हैं वे यहां पर आकर मन्नत मांगते हैं, मांग पूरी हो जाने के बाद यहां आकर पालना बांधते हैं।

जमशेदपुर का पासपोर्ट मंदिर

आप विदेश जाना चाहते हैं, लेकिन आपका वीजा लगने में हर बार कोई न कोई अड़ंगा लग जाता है, तो इससे छुटकारा पाने के लिए जमशेदपुर में एक मंदिर है, जहां अर्जी लगाकर आप विदेश जाने का सपना पूरा कर सकते हैं। इस मंदिर की खासियत यह है कि यहां पर सिर्फ विदेश जाने की इच्छा रखने वालों की मनौती ही पूरी होती है। अगर आप यहां नहीं जा पा रहे, तो निराश होने की जरूरत नहीं है आप अपने पासपोर्ट की कॉपी के साथ अपनी इच्छा पत्र में लिखकर भेज दें आपकी मनौती जरूर पूरी होगी।

सिद्धिविनायक

गणपति जी दुखहर्ता और सबकी मनोकामनाओं को पूरा करने वाले हैं। मध्यप्रदेश में भोपाल से 40 किलोमीटर दूर स्थित सिद्धि विनायक मंदिर के बारे में मान्यता है कि यहां पर जो भी मांगो, पूरा होता है। अपनी इच्छा पूरी करने के लिए परिक्रमा करते समय मंदिर की पिछली दीवार पर उल्टा स्वास्तिक बनाकर अपनी इच्छा व्यक्त करें, जब आपकी मनोकामना पूरी हो जाए, तो फिर वहां जाकर गणपति जी के दर्शन करने के बाद परिक्रमा करके सीधा स्वास्तिक बनाएं।
मुंबई स्थित सिद्धिविनायक मंदिर में मनोकामना पूरी करने के लिए चूहों की मदद लेनी पड़ती है आपको जो भी इच्छा पूरी करानी है, उसे चूहे के कान में कहें वो गणपति जी से आपकी सिफारिश करके आपकी इच्छा को पूरी कराएंगे।

जबलपुर में गौरीनंदन गणेश

जबलपुर में गौरीनंदन गणेश भी अर्जी देने पर मनोकामना पूरी करते हैं। आप अपनी फरियाद को मंदिर में स्थित रजिस्टर में दर्ज कर दें। माना जाता है कि गणपति जी आपकी मुराद पूरी करके आपके जीवन में सुख-समृद्धि लाएंगे। इसके बदले में आपको नारियल और मोदक का प्रसाद चढ़ाकर उनका आभार प्रकट करना होगा।

माता वैष्णोदेवी

शक्ति का प्रतीक शेरावाली माता या वैष्णोदेवी के दरबार में श्रद्धालु कठिन चढ़ाई करके उनके दर्शन को जाते हैं। इसका कारण यह है कि माता वैष्णो अपने भक्त की सारी मनोकामनाओं को पूरी करने के साथ-साथ उसके हर दुख-तकलीफ में धैर्य और हिम्मत रखने की भावना प्रदान करती हैं। जम्मू के कटरा स्थित माता के मंदिर में पूरे साल दर्शनार्थियों का तांता लगा रहता है। 

 

ये भी  पढ़ें -

जानिए 14 साल के वनवास के दौरान कहाँ-कहाँ रहे थे श्रीराम 

पहाड़ों में है मां वैष्णो का धाम, जानिए कब, कैसे करें यात्रा

बिना घी,तेल के जलती है यहां अखंड ज्वाला

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription