GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

भक्तों की बिगड़ी बना देते हैं साईं के ये 11 वचन

अर्चना चतुर्वेदी

24th June 2017

साईं की लीला वास्तव में अपरम्पार है। वह प्रेम की बात करते हैं सिद्धांत की नहीं। साईं कलयुग के ऐसे देवता हैं, जो किसी धर्म या जाति के बंधन में नहीं बंधे थे। क्या हिंदू, क्या मुस्लिम और क्या सिख.. बाबा के दरबार उसके हर भक्त के लिए खुले हैं। उनके स्मरण मात्र से ही सारी बुरी वृत्तियो, प्रवृत्तियों व संताप से छुटकारा मिल जाता है। वैसे अपने साईं इतने कृपालु हैं कि एक नमस्कार पर भी रीझ जाते हैं। परन्तु फिर भी साईं बाबा की विशेष कृपा उसी पर होती है जो सदा सत्य के पालन करता है। सभी प्रकार के चातुर्य का त्याग कर जो बाबा की शरण में चला जाता है। बाबा उसकी सब प्रकार से रक्षा करते हैं-उसके इस लोक को तो आनंदमय बना ही देते हैं, उसका परलोक भी संवार देते हैं। उसे मुक्त कर देते हैं। जानिए, ये 11 साईं के वचन जो भक्तों की बिगड़ी बना देते हैं -

कमेंट करें Add your comment

blog comments powered by Disqus

पोल

क्या महिलाओं को अपनी सेक्स डिजायर पर खुल कर बात करनी चाहिए ?

गृहलक्ष्मी गपशप

अपने इस ऐप के जरिए डॉ. अंजली हूडा सांगवान लोगों को रखती हैं फिट

अपने इस ऐप के जरिए डॉ....

"गृहलक्ष्मी ऑफ द डे"- डॉ. अंजली हूडा सांगवान

रिंग सेरेमनी से दें रिश्ते को पहचान

रिंग सेरेमनी से...

रिंग सेरेमनी, ये एकमात्रा रस्म नहीं बल्कि एक ऐसा मौका...

संपादक की पसंद

आओ, हम ही श्रीगणेश करें

आओ, हम ही श्रीगणेश...

“मम्मी गर्मी से मैं जला जा रहा हूं, मुझे बचा लो” मां...

रिदम और रूद्राक्ष की प्रेम कहानी

रिदम और रूद्राक्ष...

अक्सर जब किताबों में कोई प्रेम कहानी पढ़ती थी, तब मन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription