GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

फोड़े-फुंसी से पाना है छुटकारा तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

गृहलक्ष्मी टीम

25th May 2016

फोड़े-फुंसी से पाना है छुटकारा तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

 

फोड़े-फुंसी तो दिखने में काफी छोटे लगते हैं पर यदि इनका इलाज समय से और सावधानीपूर्वक न किया जाए तो यह गंभीर बीमारी का रूप ले लेते हैं। इनका इलाज देसी विधि द्वारा ज्यादा प्रभावी एवं सफल है। यहां हम आपको कुछ ऐसे ही घरेलू उपाय बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप फोड़े-फुंसी की समस्या से बच सकते हैं -

 

  • सहजन की जड़ का लेप और सेक करें।
  • जौं, गेहूं और मूंग को घी में पीसकर लेप करें।
  • खस, चन्दन और मुलहठी को दूध में पीसकर लेप करें।
  • चने का क्षार फोड़े फुंसियों पर लगाने से वे पक जाते हैं। इससे दूषित रक्त निकल जाता है व फोड़े-फुंसियां ठीक हो जाती हैं।
  • अरबी के पत्तों को जलाकर उसकी राख तेल में मिलाकर लगाने से फोड़े ठीक हो जाते हैं।
  • गाजर को उबालकर उसकी पोटली बनाकर बांधने से जख्म अच्छे होते हैं।
  • पीपल की छाल पीसकर लगाने अथवा उसके दूध का फाहा लगाने से फोड़े-फुंसियों से राहत मिलती है।
  • मेथी की पोटली बांधने से फोड़े की सूजन कम होती है और दर्द भी कम होता है।
  • नीम की छाल को पीसकर बनाया गया लेप दिन में दो-तीन बार लगाने से फोड़े-फुंसी ठीक हो जाते हैं, लाभ न होने तक प्रयोग जारी रखें।
  • बड़ की जटाएं, नीम की छाल, गेंदा की पत्ती, तुलसी के बीज पीसकर लेप करें।
  • बबूल की छाल और कत्था इनका काढ़ा बनाकर उसके पानी में कपड़ा भिगोकर बांधें।
  • मूली के बीज, शलजम के बीज, अलसी, तिल, राई, अरंडी के बीज, बिनौले, सरसों,सन के बीज इन्हें पीसकर गुनगना लेप करें।
  • आक की जड़, तम्बाकू के पत्ते, लहसुन, इन्हें पीस लें व गुनगना कर लेप करें।
  • नीम विषैले फोड़ों, पुरानी त्वचा की व्याधि, कोढ़ तथा किसी भी प्रकार के रोगाणु के आक्रमण में फायदा करता है।
  • नीम के तेल की मालिश समस्त प्रकार के फुंसी-फोड़े, खुजली आदि में लाभदायक होती है। इसकी छाल, फूल, पत्ते, बीज व तेल का प्रयोग अधिक किया जाता है। 
  • पुनर्नवा के मूल का काढ़ा पीने से कच्चा फोड़ा और मूढ़ फोड़ा भी मिट जाता है।
  • फुंसी को जल्दी पकाने के लिए अस्थि श्रृंखला के पत्ते को कूटकर तेल में गर्म कर पोटली बांध देने से फुंसी जल्दी पक जाती है।
  • इसकी पत्तियों को पीसकर लुगदी बनाकर और पोटली तैयार कर फोड़े पर बांधने से फोड़ा पककर फूट जाता है, चीरा लगाने की जरूरत नहीं पड़ती।
  • बरगद के दूध को फोड़े पर लगायें, फोड़ा फूट जायेगा और फूटने पर भी यही दूध लगाते रहें तो घाव भर जाएगा।

 

ये भी पढ़ें -

 

नकसीर से हैं परेशान तो आजमाएं ये टिप्स

जब चक्कर आए ट्राई करें ये 7 टिप्स

 

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription