GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

तीन माह के गर्भ में मुझे चक्कर महसूस होते हैं, क्या यह चिंताजनक है?

डॉ. गायत्री कामत

13th July 2017

डॉ. गायत्री कामत, कंसल्टेंट ऑब्स्टेट्रिक्स एंड गाइनेकोलॉजिस्ट, फोर्टिस हॉस्पिटल, बेंगलुरू

तीन माह के गर्भ में मुझे चक्कर महसूस होते हैं, क्या यह चिंताजनक है?
मैं 25 वर्षीय महिला हूं और मुझे तीन माह का गर्भ है। हाल में मुझे अक्सर चक्कर महसूस होते हैं। क्या मुझे इसे लेकर चिंतित होने की जरूरत है?

- कीर्ति शेखर, गाजियाबाद

गर्भावस्था के दौरान शरीर में व्यापक बदलाव आते हैं। गर्भावस्था के पहले 6 महीनों के दौरान गर्भवती महिलाओं को चक्कर आना सामान्य बात है। इसमें ऐसा लगता है कि मानों व्यक्ति बेहोश ही हो जाएगा। इसके साथ कभी-कभी उलटी या उबकाई भी महसूस हो सकती है। अक्सर ऐसा भी होता है कि गर्भवती महिलाओं को ऐसा कुछ भी महसूस नहीं हो और यह भी संभव है कि पूरी गर्भावस्था के दौरान उन्हें सिर चकराना महसूस होता रहे। गर्भावस्था के पहले तीन महीनों में स्वभाव में काफी बदलाव आता है, स्तन ज्यादा कोमल हो जाते हैं और निप्पल भी बेहद संवेदनशील हो जाता है, पेट के निचले हिस्से में मासिक धर्म जैसा अहसास होता है, ज्यादा पेशाब आता है, लार भी ज्यादा बनती है, उबकाई आती है, जीभ का स्वाद बदल जाता है और बुखार जैसा भी महसूस होता है। ये गर्भावस्था के दौरान आने वाले सामान्य बदलाव हैं और इन्हें लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है। दरअसल भूख नहीं लगने, नियमित अंतराल के बाद भोजन नहीं करने और डिहाइड्रेशन के कारण चक्कर जैसा महसूस हो सकता है। सुनिश्चित करें कि आप थोड़े-थोड़े समय पर कुछ न कुछ खाती रहें और पेय पदार्थों का सेवन भी बढ़ा दें। इस समय पानी का स्वाद भी बहुत अच्छा नहीं लगता है। थोड़ा-थोड़ा करके पानी पीएं क्योंकि एक साथ बहुत ज्यादा पानी पीने से उलटी आ सकती है। पेय पदार्थों का सेवन दूध, मिल्क शेक, छाछ, जूस या लस्सी के तौर पर भी किया जा सकता है।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

क्या महिलाओं को अपनी सेक्स डिजायर पर खुल कर बात करनी चाहिए ?

गृहलक्ष्मी गपशप

अपने इस ऐप के जरिए डॉ. अंजली हूडा सांगवान लोगों को रखती हैं फिट

अपने इस ऐप के जरिए डॉ....

"गृहलक्ष्मी ऑफ द डे"- डॉ. अंजली हूडा सांगवान

रिंग सेरेमनी से दें रिश्ते को पहचान

रिंग सेरेमनी से...

रिंग सेरेमनी, ये एकमात्रा रस्म नहीं बल्कि एक ऐसा मौका...

संपादक की पसंद

आओ, हम ही श्रीगणेश करें

आओ, हम ही श्रीगणेश...

“मम्मी गर्मी से मैं जला जा रहा हूं, मुझे बचा लो” मां...

रिदम और रूद्राक्ष की प्रेम कहानी

रिदम और रूद्राक्ष...

अक्सर जब किताबों में कोई प्रेम कहानी पढ़ती थी, तब मन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription