GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

परदों से घर का रूप बदलने के 9 टिप्स

ऋचा कुलश्रेष्ठ

13th September 2017

परदों में तुरंत एक कमरे को अधिक ब्राइट या सॉफ्ट बनाने की ताकत होती है और ड्रामा एवं पैटर्न के साथ इनका इस्तेमाल बहुत अच्छा लगता है। परदे का चुनाव करते समय स्टाइल से पहले फंक्शन के बारे में सोचें।

परदों से घर का रूप बदलने के 9 टिप्स
 
किसी कमरे के रंगरूप या सजावट को बदलने या उभारने का सबसे आसान तरीका है कमरे के परदे बदल देना। पीकॉक लाइफ और द ऑरेंज लेन की संस्थापक शबनम गुप्ता का कहना है कि परदों में तुरंत एक कमरे को अधिक ब्राइट या सॉफ्ट बनाने की ताकत होती है और ड्रामा एवं पैटर्न के साथ इनका इस्तेमाल बहुत अच्छा लगता है। परदे या ड्रैप का चुनाव करते समय स्टाइल से पहले फंक्शन के बारे में सोचें। इसे आप रौशनी को फिल्टर करने, थोड़ी प्राइवेसी बनाने या फिर रंगों का समावेश करने के लिये इस्तेमाल कर रही हों, परदों का चुनाव करते समय कुछ खास बातों को ध्यान में रखना जरूरी होता है।
 
1 रंगों का फैसला करते समय सॉलिड या पैटन्र्ड विंडो ट्रीटमेंट के साथ अपना एक अलग कलर पैलेट बनायें।
 
2 यदि आप स्टेटमेंट बनाना चाहती हैं, तो ब्राइट कर्टेन्स का चुनाव करें, जो कमरे के अन्य सामान के रंगों के साथ अच्छा लगे।
 
3 यदि आप परदों को होम डेकोर के साथ मिलाना चाहती हैं, तो ऐसे परदों को चुनें, जिनका रंग दीवार के रंग से थोड़ा गहरा हो या कमरे में एक नॉन-डॉमिनेंट सब्टल कलर को चुनें। रंगों से तालमेल बिठाने वाले परदे एक सॉफ्ट, हॉर्मोनियस लुक उत्पन्न करते हैं।4 आमतौर पर पैटन्र्ड कर्टेन्स हर जगह नहीं चलते, लेकिन यदि आपके कमरे की सजावट सादगीपूर्ण है, तो सॉफ्ट पैटन्र्स का इस्तेमाल कर कमरे को और खूबसूरत बनाया जा सकता है।
 
5 टेक्सचर्ड पैलेट बहुत अच्छे लगते हैं। स्पेस को लिफ्ट करने के लिये लिनेन या जूट के परदों का इस्तेमाल भी किया जा सकता है।
 
6 आजकल दो लेयर वाले पर्दों का फैशन है। आप चाहें तो एक लेयर टिश्यू की और दूसरी लेयर किसी भारी फैब्रिक की लेकर दो लेयर वाले पर्दे बनवा सकती हैं। टिश्यू की जगह आप नेट, जॉर्जेट या वॉयल प्रयोग कर सकती हैं।
 
7 प्लीटेड कर्टेन हालांकि पुराना स्टाइल है, लेकिन आज भी अच्छा लगता है। इसके लिए आपको हल्के कपड़े का इस्तेमाल करना चाहिए। यदि आप हैवी फैब्रिक लेते हैं तो पर्दे की प्लीटस ठीक नहीं बनेंगी। ऐसे पर्दों के लिए लाइट वेट फैब्रिक जैसे, वॉयल, कॉटन, सिल्क या वुल मटीरियल का चयन करें।
 
8 आप अपने घर पर स्वयं भी खूबसूरत और डिजाइनर पर्दे बना सकती हैं। इसके लिए आप अपने घर में रखी पुरानी खूबसूरत साडिय़ां, पुराने चादरों या दुपट्टों को जोड़कर घर के लिए खूबसूरत पर्दे बना सकती हैं।
 
9 राजस्थानी या गुजराती हैंडवर्क वाले सजे हाथी, घोड़े, चिडिय़ा, कांच, गुडिय़ा, कठपुतली आदि के डिजाइन वाले पर्दे भी कमरे को एक नया रूप देते हैं।
 
(पीकॉक लाइफ और द ऑरेंज लेन की संस्थापक शबनम गुप्ता से हुई बातचीत पर आधारित)

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

क्या महिलाओं को अपनी सेक्स डिजायर पर खुल कर बात करनी चाहिए ?

गृहलक्ष्मी गपशप

अपने इस ऐप के जरिए डॉ. अंजली हूडा सांगवान लोगों को रखती हैं फिट

अपने इस ऐप के जरिए डॉ....

"गृहलक्ष्मी ऑफ द डे"- डॉ. अंजली हूडा सांगवान

रिंग सेरेमनी से दें रिश्ते को पहचान

रिंग सेरेमनी से...

रिंग सेरेमनी, ये एकमात्रा रस्म नहीं बल्कि एक ऐसा मौका...

संपादक की पसंद

आओ, हम ही श्रीगणेश करें

आओ, हम ही श्रीगणेश...

“मम्मी गर्मी से मैं जला जा रहा हूं, मुझे बचा लो” मां...

रिदम और रूद्राक्ष की प्रेम कहानी

रिदम और रूद्राक्ष...

अक्सर जब किताबों में कोई प्रेम कहानी पढ़ती थी, तब मन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription