GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

मानव गोहिल मानते हैं कि बच्चों को समझानी चाहिए मनी की वैल्यू

गरिमा अनुराग

5th September 2017

मानव गोहिल मानते हैं कि बच्चों को समझानी चाहिए मनी की वैल्यू

टीवी के सबसे लोकप्रिय कपल में से एक मानव और श्वेता की बेटी जाहरा का जब साल 2012 में जन्म हुआ था तो उस वक्त मानव भी वही मौजूद थे। वो बताते हैं कि वो पहले इंसान थे जिसकी गोद में ज़ाहरा को सबसे पहले दिया गया था। मानव ज़ाहरा का जन्म अपनी लाइफ की सबसे अच्छी बातों में से एक मानते हैं।

कुछ पाने के लिए पहले कमाएं

सब टीवी के शो तेनाली रामा में राजा कृष्णदेवराय की भूमिका निभा रहे मानव अपनी पैरेंटिंग मंत्रा बताते हुए वो कहते हैं कि जब मैं छोटा था तो मेरे पैरेन्ट्स हमेशा यही बताया करते थे कि कुछ पाने के लिए पहले कमाना पड़ता है और रुपयों की कीमत होती है। मैं भी चाहता हूं कि ज़ाहरा ये बात सीखे।

 

A post shared by Manav Gohil (@manavgohil) on

वो अभी पांच साल की ही है, फिर भी जब भी वो किसी चीज़ को खरीदने की जिद्द करती है, तो मैं और श्वेता (क्वात्रा) हमेशा यही कोशिश करते हैं कि हम उसे यूं ही पूरा न करें। अगर वो कुछ ऐसा खरीदना चाहती है जो हमें फिजूलखर्ची लगे तो हम उसे समझाते हैं कि वो चीज़ अपने दाम के हिसाब से सही नहीं है। 

आज का एजुकेशन सिस्टम
जब मैं ज़ाहरा की स्कूल में फीस भरता हूं तो मुझे अपना बचपन याद आता है कि कैसे हमारे जेनरेशन के लोग भी पढ़ते थे और हमारी पढ़ाई में कितना कम खर्च किया जाता था। अभी के बच्चों की फीस देखिए तो आप पाएंगे कि जितना हम एक साल में अपने बच्चों की फीस भरते हैं, उतने में हमने पूरी पढ़ाई कर ली थी। लेकिन मैं मानता हूं कि आज बच्चों की पढ़ाई ऐसी होती है कि उनका पूरा व्यक्तित्व ही निखर जाता है और ये मुझे बहुत पसंद है।
 
 
ये भी पढ़े-
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

क्या महिलाओं को अपनी सेक्स डिजायर पर खुल कर बात करनी चाहिए ?

गृहलक्ष्मी गपशप

अपने इस ऐप के जरिए डॉ. अंजली हूडा सांगवान लोगों को रखती हैं फिट

अपने इस ऐप के जरिए डॉ....

"गृहलक्ष्मी ऑफ द डे"- डॉ. अंजली हूडा सांगवान

रिंग सेरेमनी से दें रिश्ते को पहचान

रिंग सेरेमनी से...

रिंग सेरेमनी, ये एकमात्रा रस्म नहीं बल्कि एक ऐसा मौका...

संपादक की पसंद

आओ, हम ही श्रीगणेश करें

आओ, हम ही श्रीगणेश...

“मम्मी गर्मी से मैं जला जा रहा हूं, मुझे बचा लो” मां...

रिदम और रूद्राक्ष की प्रेम कहानी

रिदम और रूद्राक्ष...

अक्सर जब किताबों में कोई प्रेम कहानी पढ़ती थी, तब मन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription