GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जानें क्यों होती हैं गर्भावस्था के समय हाथों की उंगलियां सुन्न

गृहलक्ष्मी टीम

21st November 2017

जानें क्यों होती हैं गर्भावस्था के समय हाथों की उंगलियां सुन्न

‘‘आधी रात को अक्सर आंख खुलती है तो मुझे अपने हाथ की अंगुलियाँ सुन्न महसूस होती हैं। क्या यह भी गर्भावस्था की वजह से है?’’

जब सूजे हुए ऊतकों की वजह से नसों पर दबाव पड़ता है तो अक्सर गर्भवती महिलाएँ हाथों-पैरों की अंगुलियों में सुन्नपन महसूस करती हैं। यह एक सामान्य लक्षण है यदि यह दर्द और सुन्नपन आपके दाएं हाथ में है तो आप कार्पल टनल सिंड्रोम से भी ग्रस्त हो सकती हैं। एक ही हाथ से काफी काम करनेवाले लोगों को अक्सर यह तकलीफ हो जाती है। कई गर्भवती महिलाओं में कार्पल टनल सिंड्रोम  है तो इससे अंगुलियां भी प्रभावित होकर सुन्न हो सकती हैं। इसी वजह से सुन्न होना, जलन व दर्द का एहसास भी हो सकता है। यही लक्षण हाथ व कलाई पर असर डालते हुए बाजुओं पर भी जा सकते हैं।

हालांकि सी.टी.एस का दर्द दिन में कभी भी हो सकता है लेकिन यह अक्सर रात को ज्यादा महसूस होता है। अपने हाथों के बल सोने से हालत और बिगड़ सकती है। सोते समय हाथों को ऊंचे तकिए पर अलग से रखकर सोएं। सुन्नपन महसूस हो तो हाथ झटकें। यदि इनसे नींद में रुकावट आ रही हो तो डॉक्टर की राय लें। कलाई स्पिंल्ट पहनने या एक्यूपंचर कराने से राहत मिलती है। सीटीएस के लिए दी जाने वाली नॉनस्टीरॉयडल व एंटी इंकजामेट्र दवाएँ गर्भावस्था के दौरान नहीं दी जा सकतीं। अपने डॉक्टर से पता कर लें। वैसे डिलीवरी के बाद जब शरीर की सूजन उतर जाएगी तो सीटीएस में भी अपने-आप आराम आ जाएगा।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

क्या महिलाओं को अपनी सेक्स डिजायर पर खुल कर बात करनी चाहिए ?

गृहलक्ष्मी गपशप

अपने इस ऐप के जरिए डॉ. अंजली हूडा सांगवान लोगों को रखती हैं फिट

अपने इस ऐप के जरिए डॉ....

"गृहलक्ष्मी ऑफ द डे"- डॉ. अंजली हूडा सांगवान

रिंग सेरेमनी से दें रिश्ते को पहचान

रिंग सेरेमनी से...

रिंग सेरेमनी, ये एकमात्रा रस्म नहीं बल्कि एक ऐसा मौका...

संपादक की पसंद

आओ, हम ही श्रीगणेश करें

आओ, हम ही श्रीगणेश...

“मम्मी गर्मी से मैं जला जा रहा हूं, मुझे बचा लो” मां...

रिदम और रूद्राक्ष की प्रेम कहानी

रिदम और रूद्राक्ष...

अक्सर जब किताबों में कोई प्रेम कहानी पढ़ती थी, तब मन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription