GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

ये हैं यू-ट्यूब की फेमस टीचर जी रोशनी मुखर्जी

अर्चना चतुर्वेदी

18th December 2017

लाखों बच्चों को देंती हैं वीडियो के जरिए ऑनलाइन ट्यूशन

ये हैं यू-ट्यूब की फेमस टीचर जी रोशनी मुखर्जी
 
 
 
झारखंड की रोशनी मुखर्जी आज के दौर की ऐसी गुरू हैं जिन्होंने बच्चों के पढ़ाई के डर को खत्म करने का ऐसा नायाब तरीका निकाला कि आज हर जगह उनके ही चर्चे हैं। रोशनी ने साल 2011 में यू-ट्यूब पर 'एक्ज़ाम फ़ीवर' के नाम से चैनल बनाया जिसमें मैथ्स, बायो, फिजिक्स, कैमेस्ट्री की हर थ्योरी को रोचक तरीके से वीडियो के जरिए समझाया जाता है। इंग्लिश और हिंदी में नि:शुल्क उपलब्ध इस चैनल के साढें 3 लाख से भी ज्यादा सब्सक्राइबर हैं। उनका ये अनोखा प्रयास आज स्टूडेंट्स के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। रोशनी महिला और बाल विकास मंत्रालय द्वारा दिए गए 100 महिला अचीवर्स अवॉर्ड की लिस्ट में भी शामिल हैं। वो चाहतीं तो अपने पिता की मृत्यु के बाद उनकी जगह पर नौकरी कर सकती थीं परन्तु उन्होंने दूसरा ही रास्ता तय किया और निश्चय किया कि वे ज़रूरतमंद बच्चों को मुफ्त में पढ़ायेंगी।
 
टीचर बनने का था पैशन
 
मुझे टीचर बनने का शौक शुरू से ही था। लगता था कि मुझमें वो स्किल्स हैं जो एक बेहतर टीचर में होने चाहिए। कॉलेज में ग्रुप स्टडी हो या फिर अपनी भतीजी को पढ़ाना, सभी मेरे पढ़ाने के स्टाइल की तारीफ करते थे। वहीं दूसरी तरफ ये भी महसूस होता था कि बच्चे सिर्फ एग्जाम के डर से पढ़ाई करते हैं उनकी सेल्फ लर्निंग हो ही नहीं पाती है। पढ़ाना मेरा पैशन है और आईटी सेक्टर में रहने के कारण मुझे पता था की इंटरनेट ही वो जरिया है जहां में 100-200 नहीं बल्कि लाखों बच्चों को ऑनलाइन ट्यूशन दे सकती हूँ।
 
संघर्ष कम नहीं थे इस सफर में
 
मैं बेंगलूरु में एक आईटी कंपनी में विश्लेषक के तौर पर काम कर रही थी। और साथ ही इस मुहिम में भी एक्टिव थी। लेकिन दो काम एक साथ मैनेज नहीं हो पाने की वजह मैंने कुछ समय के बाद वीडियो लेसन पर ध्यान देने के लिए अपनी नौकरी तक छोड़ दी। इस फैसले काफी लोग नाखुश थे। लोगों ने मुझे ताने भी दिए कि कौन-सा नया फितूर है जिसके लिए तुमने अच्छी-खासी नौकरी छोड़ दी। लेकिन मैंने उन्हें बताया कि ये मेरा जुनून है बिज़नेस नहीं पर इसे चलाने के लिए भी लागत लगती है इसलिए मैंने आर्थिक मदद के लिए एक नया ऑप्शन बनाया है। 
 
एजुकेशन के लिए 24x7 सेवाएं क्यों नहीं ?
 
हमारे देश में जब हेल्थ,ट्रेवल,शॉपिंग और मोबाइल सेवाओं के लिए 24 घंटे सेवाएं उपलब्ध है तो एजुकेशन के लिए क्यों नहीं। मैं चाहती थी कि कुछ ऐसा करूं जिससे बच्चें जब समय मिले तब पढ़ें। रोशनी ने बताया कि यह मेरा जुनून था जो मैंने इस ऑनलाइन चैनल की शुरूआत की। जब मैंने देखा कि भारत में बहुत से स्कूल क्वालिटी एजुकेशन के बदले मोटी फीस वसूल रहे थे, वहीं जहां फीस कम थी वहां क्वालिटी एजुकेशन नहीं मिल रहा था। तब मैंने सोच किया कि एक ऐसा प्लेटफॉर्म तैयार करना है जिसमें उन छात्रों को पढ़ा सकूं जो क्वालिटी एजुकेशन के लिए फीस नहीं भर सकते। इंसान शिक्षा के बिना उतना ही अधूरा है जितना कि पंख के बिना पंक्षी। मेरा उद्देश्य है कि मेरी वीडियोज के माध्यम से बच्चों को क्वालिटी, ऑनलाइन, फ्री और 24x7 एजुकेशन मिलें। ताकि बच्चे बिना ट्रेवल टाइम खराब करें अन्य चीजों पर भी समय बिता सकें।
 
 
 
क्या है एग्जामफियर डाट कॉम
 
एग्जामफियर डाट कॉम एक ऐसी एजुकेशनल वेबसाइट हैं जिसके यू ट्यूब चैनल में बच्चों को पढ़ाने से संबंधित करीब साढ़े चार हजार वीडियो अपलोड किये हैं। जिसमें क्लास 6 से 12 तक के सभी मैथ्स, बॉयो, कैमेस्ट्री और फिजिक्स के सवालों को बड़ी ही मनोरंजक तरीके से सीखाया जाता है। 
 
इस काम को जारी रखने की इनसे मिली प्रेरणा -
 
मुझे इस काम को आगे जारी रखने कि प्रेरणा तब मिली जब मुझे टॉप 100  वुमन एचीवर की लिस्ट में रखा गया और राष्ट्रपति के हाथों सम्मानित होने का मौका मिला। साथ ही वीडियो पर आए फीडबैक पर इन तीन कमेंट ने मुझे और भी प्रेरित किया  - 
 
एक स्टूडेंट ने लिखा था कि ''मैं एक छोटे कस्बे का रहने वाला हूँ, इस बार मुझे 96% अंक मिले हैं सिर्फ और सिर्फ आपकी वीडियो की वजह से।''
एक बॉयो की टीचर ने लिखा कि " आपकी वीडियोज से सीखकर जब मैं बच्चों को पढ़ाती हूँ तो उन्हें मेरी क्लास बहुत अच्छी लगती है उन्हें पढ़ने में बहुत मजा आता है।''
एक पिता ने लिखा कि " मैं आपका बहुत धन्यवाद करना चाहता हूँ कि मैथ्य, फिजिक्स, कैमस्ट्री जैसे कठिन विषयों को भी समझना आपने आसान बना दिया है अब मेरी बेटी जोकि क्लास 12 में है ये उसके पंसदीदा सब्जेक्ट बन गए हैं।'' 
 
"अपने जुनून के प्रति समर्पण और दृढ़ संकल्प है तो आप चमत्कार ही करेंगे"
 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription