GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जानिए कैसा रहेगा मकर राशि के लिए साल 2018

-पं. रमेश द्विवेदी

11th January 2018

नववर्ष सभी के जीवन में एक रंग, तरंग एवं उमंग लेकर आता है और सभी चाहते हैं कि हमारा नववर्ष हमारे लिए अच्छा रहे, इसी आशा में सभी लोग अपना आने वाला समय कैसा होगा यह जानने की इच्छा करते हैं और अपने ग्रह-नक्षत्रों को अपने पक्ष में करने की बात सोचते हैं। कैसा रहेगा नववर्ष में आपका भाग्य जानिए नए वार्षिक भविष्यफल 2018 में।

जानिए कैसा रहेगा मकर राशि के लिए साल 2018
 
मकर राशि वाले जातकों के लिए यह साल चुनौतियों व संघर्षों से परिपूर्ण रहेगा। स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव दिखाई दे रहे हैं। आपकी राशि के अधिपति शनि महाराज इस वर्ष बारहवें स्थान में गतिशील रहेंगे। अत: कामकाज में आपको अनुकूल परिणाम व प्रतिफल नहीं मिल पाएंगे। इस वर्ष दीर्घकालिक बिमारियों, जैसे-मधुमेह, रक्तचाप, हृदय संबंधी जैसी बिमारियों में परेशानी रह सकती है। खान-पान का ध्यान रखें, गरिष्ठ व भारी खाने से परहेज करें। अपनी दवाइयों की दिनचर्या का विशेष ध्यान रखें। 18 अप्रैल से 6 सितम्बर के मध्य शनि के वक्रत्व काल में मौसमी बिमारियां, सर्दी, सिर दर्द, जुकाम, खांसी, बदन दर्द जैसी अल्पकालिक बिमारियों से परेशानी रह सकती है। व्यापार व व्यवसाय को पटरी पर लाने के लिए आप भरसक प्रयास करेंगे। मार्केटिंग के लिए सही रणनीति बनाएंगे। अपने हुनर, काबिलियत, तकनीक आदि में वृद्धि कर सकते हैं। उत्पादन को बढ़ाने के लिए नई तकनीक या नई मशीनरी का उपयोग कर सकते हैं। इस वर्ष खास बात यह ध्यान रखने योग्य है कि आपको भागीदार या कर्मचारी की गतिविधि व कार्यकलाप पर नजर रखनी चाहिए।  में आपके साथविश्वासघात हो सकता है  कोई व्यावसायिक जानकारी लीक होने का भी भय है। नौकरी में बॉस व अधिकारी तो आपसे प्रसन्न रहेंगे, परंतु कहीं-न-कहीं आपकी परफॉर्मेंस (कार्यकुशलता व कार्यक्षमता) में कमी देखी  वेतनवृद्धि या पदोन्नति मिलते-मिलते रह जाएंगी। इस वर्ष आपको अपना काम पूरी ईमानदारी, कर्तव्यनिष्ठा व गम्भीरता से करना चाहिए। दो नम्बर के व अनुचित कार्यों को फिलहाल बंद रखें, अन्यथा आप ट्रेप भी हो सकते हैं। देवगुरु बृहस्पति दशम स्थान में स्थित है। अत: मकर राशि के विद्यार्थियों के लिए यह साल अच्छा अनुकूल फलों से युत है। विद्यार्थी पूरी लगन व मेहनत से अध्ययन पर ध्यान केन्द्रित करेंगे व उन्हें अपने उस समर्पण का प्रतिफल मिल भी जाएगा। परीक्षा का परिणाम पक्ष में आएगा। विभागीय परीक्षा, नौकरी के लिए दी गई परीक्षा, प्रतियोगी परीक्षा का परिणाम पक्ष में आएगा। मकर राशि के जातकों को लेन-देन व रुपयों-पैसों से सम्बन्धित मामलों में सावधानी रखनी चाहिए, किसी को रुपया उधार नहीं दें, अन्यथा आपका पैसा फंस सकता है। बुजुर्गों का आशीर्वाद, स्नेह आपको इस वर्ष प्राप्त होगा, जिससे सिंचित होकर आप आगे बढ़ेंगे। संतान की शिक्षा, अध्ययन, विवाह  को लेकर चिंता  असमंजस व्याप्त रहेगा। कोर्ट-केस  सरकारी मामले आगे-से-आगे  होंगे। व्यावसायिक प्रतिद्वन्द्वी व प्रतिस्पर्धी इस वर्ष आपके सामने बड़ा लक्ष्य रख देंगे।
 
 
 
अवसर इस वर्ष कई बार आपको मिलेंगे, परंतु सावधान व सतर्क रहें। प्रेम-सम्बन्धों के उजागर होने से घर की शांति खतरे में पड़ सकती है। शनि द्वादश स्थान में वर्ष पर्यन्त चलायमान रहेंगे। अत: झूठी गवाही या बयान से आप किसी मुसीबत या संकट में फंस सकते हैं। क्रोध व आवेश पर काबू रखें। बना-बनाया काम बिगड़ सकता है। व्यापार में उदारवादी दृष्टिकोण व लचीला रुख हानि का कारण बनेगा। आपकी बढ़ती हुई प्रतिष्ठा व लोकप्रियता आपके शत्रुओं को विचलित व डांवाडोल कर सकती है। ईष्र्या व द्वेष से वशीभूत होकर वे आपके विरुद्ध कोई गुप्त योजना या षड्यंत्र बना सकते हैं। भागीदार व कर्मचारी की गतिविधि, हरकत व व्यवहार पर नजर रखें, अन्यथा आपकी व्यावसायिक या विभागीय जानकारी लीक हो सकती है। इच्छा के विपरीत तबादले के योग राजकीय सेवा में बन रहे हैं। इस वर्ष के अंत में किसी शुभ व मांगलिक प्रसंग की स्थिति बन सकती है।
 
शारीरिक सुख एवं स्वास्थ्य
इस वर्ष शारीरिक स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव चलेंगे। शनि महाराज, जो कि आपकी राशि के स्वामी भी हैं, वे वर्ष पर्यन्त बारहवें स्थान में स्थित हैं, अत: दिनचर्या व  को व्यवस्थित रखें, अन्यथा गम्भीर व घातक बीमारी के योग बने हुए हैं। इस वर्ष दीर्घकालिक व गम्भीर बिमारियों की जांच समय- समय पर नियमित रूप से करते रहें। रक्तचाप, मधुमेह, हृदय संबंधी बिमारियों, पाचनतंत्र के रोगों के प्रति लापरवाही घातक रहेगी। नियमित रूप से योग, व्यायाम, शारीरिक श्रम, प्राणायाम, खान-पान व दवाइयों का ध्यान रखें। 18 अप्रैल से 6 सितम्बर के मध्य शनि वक्र गति में चलायमान  अत: इस दौरान मौसमी बीमारी खांसी-जुकाम, लू जैसी बिमारियां रह सकती हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी आएगी। रोग
निवृत्ति के लिए 'ऊं हौं जूं स:' इस मंत्र का नियमित जाप करें।
 
व्यापार, व्यवसाय व धन
इस वर्ष व्यापार व कारोबार की गाड़ी पटरी से उतरी हुई रहेगी। धन लाभ आपको उतना नहीं हो पाएगा, जितना व्यापार में आपने श्रम किया है। काम बनते-बनते रुक व अटक जाएंगे। व्यापार में विस्तार की जो योजना आप पिछले काफी समय से बना रहे थे, उस पर आंशिक रूप से काम शुरू होगा। मशीनरी व उत्पाद तो आपका बढ़ जाएगा, परंतु कहीं-न-कहीं उत्पादन को बढ़ाने के लिए आपको गुणवत्ता से समझौता करना पड़ेगा, जो नीतिगत रूप से सही नहीं होगा। मकर राशि के जातक सैद्धांतिक होते हैं। यही सिद्धान्त इस वर्ष व्यापार में बाधक बनेंगे। भागीदार व पार्टनर की बात पर आंख मूंदकर भरोसा कतई नहीं करें, चीजों को अपने नजरिए और दृष्टिकोण से देखें। आपका बहुत बड़ा हिस्सा टैक्स के रूप में देना पड़ सकता है, अन्यथा टैक्स से सम्बन्धित अड़चन खड़ी हो सकती है। इस वर्ष शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव है, अत: व्यापार में किसी को भी माल उधार नहीं दें, आवश्यक परिस्थिति में देना पड़े तो पोस्ट डेटेड चैक या अन्य मद से पैसे को आश्वस्त कर दें। अपने काम को पूरी गम्भीरता व ईमानदारी से अंजाम तक पहुंचाएं, किसी भी प्रकार की लापरवाही घातक साबित हो सकती है। भागीदार, पार्टनर या कर्मचारी के खिलाफ लोग आपको बरगला सकते हैं, बहकावे में नहीं आएं, तथ्यों के बारे में पड़ताल करने के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचें। इस वर्ष चुनौतियां तो आएंगी, चुनौतियों से आप बिलकुल भी नहीं घबराएंगे। चुनौतियां आपको आगे बढऩे की प्रेरणा देंगी। व्यापार में आप नए-नए अनुबंधन करेंगे, कागजों व दस्तावेजों को अच्छी तरह से पढ़कर ही हस्ताक्षर करें। इस वर्ष चल या अचल सम्पत्ति के रख-रखाव पर खर्चा होगा। धन का, रुपयों का संचय नहीं हो पाएगा। पैसा जितनी तीव्रता या तेजी से आएगा, उतनी तीव्रता से खर्च भी हो जाएगा। भूमि, भवन, वाहन, चल-अचल सम्पत्ति में निवेश की संभावना इस वर्ष नहीं है।
 
घर-परिवार, संतान व रिश्तेदार
इस वर्ष विवाह योग्य जातकों के विवाह की बात आगे बढ़ेगी। हालांकि बात किसी मुकाम तक पहुंच नहीं पाएगी, परंतु बातचीत का एक सिलसिला जरूर आरम्भ होगा। परिवार में सुख-शांति का वातावरण बना रहेगा। हर मुश्किल परिस्थिति में आप अपने परिवार को अपने साथ खड़ा पाएंगे। पति-पत्नी में आपसी तालमेल व सामंजस्य इस वर्ष अच्छी बनी रहेगी। यदा-कदा हल्की-फुल्की नोंक-झोंक हो सकती है। रिश्तेदारों से कोई खास मदद की उम्मीद नहीं की जा सकती, उल्टा रिश्तेदार तो ईर्षा व द्वेष से वशीभूत होकर आपकी निंदा या आलोचना करेंगे। संतान की शिक्षा, कॉलेज का चयन, विषय का चयन, कैरियर आदि  को लेकर असमंजस बना रहेगा। घर के बड़े-बुजुर्गों का स्वास्थ्य बार-बार गड़बड़ होगा, उनकी बीमारी पर खर्च की भी संभावना है। वर्ष के मध्य में, अप्रैल से सितम्बर के मध्य किसी रिश्तेदार से सम्बन्धित कोई अप्रिय या अशुभ समाचार प्राप्त हो सकता है।
 
विद्याध्ययन, पढ़ाई व कॅरियर
11 अक्टूबर तक देवगुरु दशम स्थान में गतिशील रहेंगे, अत: विद्यार्थियों के लिए शानदार व उपलब्धियों से परिपूर्ण वर्ष है। अगर आपकी शिक्षा पूर्ण हो गई है, तो इस वर्ष आपको नौकरी व प्लेंसमेंट के प्रस्ताव भी मिल सकते हैं। नए-नए विषयों, चीजों की खोज व अनुसंधान में आप लगे रहेंगे। प्रतियोगी परीक्षा, विभागीय परीक्षा व नौकरी से सम्बन्धित परीक्षा का परिणाम तो अनुकूल आएगा, बात इंटरव्यू व साक्षात्कार में जाकर रुक सकती है। कम्यूनिकेशन्स स्किल्स पर ध्यान देना चाहिए। ज्ञान के प्रस्तुतिकरण में कहीं-न-कहीं आप पिछड़ सकते हैं। उच्च शिक्षा के लिए प्रयासरत विद्यार्थियों को पासपोर्ट व वीजा के लिए प्रयास करने पड़ेंगे। सहकर्मी भावनात्मक रूप से आपसे जुड़ेंगे। कभी-कभार कार्य में आपका हाथ भी बटाएंगे।
 
प्रेम-प्रसंग व मित्र
इस वर्ष प्रेम-प्रसंगों व सम्बन्धों के अवसर आपको मिलेंगे। देवगुरु बृहस्पति की पंचम भाव में दृष्टि है। प्रेमी-प्रेमिका से मुलाकातों का दौर जारी रहेगा। कभी-कभार हल्कीफुल्की गलतफहमियां उत्पन्न हो सकती हैं। मित्रों से इस वर्ष भावनात्मक, आर्थिक व नैतिक सम्बल मिलेगा। प्रेम-सम्बन्धों के उजागर होने की भी इस वर्ष संभावना बनी हुई है। किसी पुराने मित्र से अचानक आपकी मुलाकात होगी, जिससे आपका मन प्रसन्न हो उठेगा। प्रेम-सम्बन्धों में मर्यादा का ध्यान रखें।
 
वाहन खर्च व शुभ कार्य
इस वर्ष नवीन वाहन की खरीददारी की संभावना कम ही है, परंतु वाहन पर बारबार खर्चा होगा। मरम्मत व रख-रखाव पर हो रहे बेतहाशा खर्च से आप परेशान हो जाएंगे। इस वर्ष अस्पताल व घर के किसी वरिष्ठ व बुजुर्ग सदस्य की बीमारी पर खर्च की संभावना है। फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखें। इस वर्ष सम्पत्ति अर्थात् भूमि, भवन आदि के रख-रखाव पर खर्चा होगा। व्यापार में मशीनरी या अन्य व्यापारिक उपकरण की खरीद पर खर्चा होगा। शुभ व मांगलिक कार्य की संभावना इस वर्ष कम ही है। संतान की शिक्षा, कैरियर पर खर्चा होगा। परंतु इसे आप खर्च की बजाए निवेश समझें, क्योंकि इसी निवेश पर संतान के भविष्य की मजबूत व बुलंद इमारत खड़ी होगी। 
 
हानि, कर्ज व अनहोनी
व्यापार में आपके कर्मचारी अपने काम को गम्भीरता से नहीं लेंगे, जिसका खामियाजा आपको भुगतना पड़ सकता है। वहीं दूसरी ओर भागीदार से भी सावधान रहें। शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव है। नौकरी में आप अपने काम को ईमानदारी व पूरी कर्तव्यनिष्ठा से अंजाम दें, आप पर कोई झूठा आरोप-प्रत्यारोप या कलंक लग सकता है। वाहन सावधानीपूर्वक चलाएं। सीट बेल्ट, हैलमेट जैसे सुरक्षा उपकरणों व यातायात नियमों का गम्भीरता से पालन करें। अप्रैल से सितम्बर के मध्य शनि के वक्रत्व काल में कोई अप्रिय या अशुभ घटना घटित हो सकती हैं।  खर्चों को नियन्त्रित करें अन्यथा आपको कर्ज भी लेना पड़ सकता है।
 
यात्राएं
यात्राएं तो इस वर्ष काफी होंगी, परंतु यात्राओं से लाभप्रद स्थितियां निकल  नहीं आएंगी। व्यर्थ की यात्राएं होंगी। यात्राओं में परेशानी के भी योग हैं, विशेषकर शारीरिक परेशानी के। खान-पान का ध्यान रखें।
 
उपाय
वर्ष की शुभता व अनुकूलता में वृद्धि करने के लिए कटैला रत्न मध्यमा अंगुली में या गले में धारण करें। चीटियों को खाना खिलाएं। शनिवार को तिल के तेल का दीपक पीपल के वृक्ष के नीचे जलाएं। सात प्रकार के अनाज व दालों को मिश्रित कर पक्षियों को डालें।
 
 
 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription