GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जानिए कैसा रहेगा कुंभ राशि के लिए साल 2018

-पं. रमेश द्विवेदी

12th January 2018

नववर्ष सभी के जीवन में एक रंग, तरंग एवं उमंग लेकर आता है और सभी चाहते हैं कि हमारा नववर्ष हमारे लिए अच्छा रहे, इसी आशा में सभी लोग अपना आने वाला समय कैसा होगा यह जानने की इच्छा करते हैं और अपने ग्रह-नक्षत्रों को अपने पक्ष में करने की बात सोचते हैं। कैसा रहेगा नववर्ष में आपका भाग्य जानिए नए वार्षिक भविष्यफल 2018 में।

जानिए कैसा रहेगा कुंभ राशि के लिए साल 2018
कुंभ राशि के जातकों को नए वर्ष 2018 की शुभकामनाएं। यह वर्ष आपके लिए शानदार वर्ष र हेगा। शनि का लाभ स्थान में परिभ्रमण आपके लिए लाभ के मार्ग खोल देगा। शारीरिक स्वास्थ्य की दृष्टि से यह वर्ष शानदार रहेगा। नित नई उन्नतियों के पायदानों को आप स्पर्श करेंगे। पुराने रोगों से आपको इस साल छुटकारा मिल जाएगा। इस वर्ष वर्षारम्भ में देवगुरु नवम स्थान में गतिशील हैं, जो भाग्योदय व उन्नति के द्वार खोल देगा। राहु वर्ष पर्यन्त छठे स्थान में भ्रमणशील रहेंगे। अत: रोग व शत्रु से सावधान रहें। शत्रु आपके विरुद्ध कोई गुप्त योजना या षड्यंत्र की व्यूह रचना कर सकते हैं। कुंभ राशि के जातक संघर्षशील व रचनात्मक प्रतिभा के धनी होते हैं। आपकी रचनात्मकता ही आपकी उन्नति का सबसे बड़ा आधार होगी। इस वर्ष आप अपनी आय व आजीविका के स्रोत को बढ़ाने के लिए नए-नए प्रयोग करेंगे। काम-काज व दबाव तो रहेगा, परंतु स्वास्थ्य पर ध्यान जरूर दें। अपनी दिनचर्या, खान-पान, व्यायाम, योग आदि चीजों को नियमित रखें। छठे भाव में राहु की स्थिति है, अत: पार्टनर, भागीदार या किसी की भी बात पर आंख मूंद कर भरोसा नहीं करें, अन्यथा लेने के देने पड़ सकते हैं। आपके घनिष्ठ व्यक्ति आपके साथ विश्वासघात या धोखा कर सकते हैं। बिना पढ़े किसी भी कागज पर हस्ताक्षर नहीं करें। इस वर्ष वित्तीय व व्यावसायिक दोनों पक्ष पर उपलब्धियां हासिल होंगी।
 
इस वर्ष आपकी राशि के अधिपति शनि महाराज 18 अप्रैल से 6 सितम्बर के मध्य वक्र स्थिति में चलायमान रहेंगे। अत: इस दौरान शारीरिक व्याधि व मौसमी बीमारी के संकेत मिल रहे हैं। कार्यकुशलता व कार्यक्षमता में कुछ कमी दिखलाई देगी। मोटापा बढ़ सकता है। इस समय वाहन सावधानीपूर्वक चलाएं। यातायात नियमों की अनदेखी व लापरवाही के परिणाम घातक हो सकते हैं। इस समय व्यापार की स्थिति भी ढीली रहेगी। जितनी आप मेहनत व परिश्रम कर रहे हैं, उसका प्रतिफल उस मेहनत के अनुपात में नहीं आएगा। व्यापार व कारोबार में तयशुदा लक्ष्यों को हासिल नहीं कर पाएंगे, किसी निकट रिश्तेदार या सगेसम्बन्धी के स्वास्थ्य को लेकर अस्पताल के चक्कर काटने पड़ सकते हैं। 6 दिसम्बर के बाद परिस्थितियां एक बार फिर से सामान्य होंगी। इस वर्ष घर-परिवार का वातावरण सुख शांति से युक्त रहेगा। परिवार के सदस्यों से पूरा-पूरा सहयोग प्राप्त होगा। विद्यार्थी अपना पूरा-पूरा ध्यान पढ़ाई पर रखेंगे। तकनीकी शिक्षा, कानून, प्रशासन व आर्थिक क्षेत्र में अध्ययन कर रहे विद्यार्थियों के लिए यह साल अच्छा है। प्रेम-प्रसंगों व व्यर्थ के कार्यों में पड़कर अपने कैरियर के साथ समझौता नहीं करें। सरकारी व प्राइवेट नौकरी में प्रयासरत व्यक्तियों के लिए पदोन्नति या महत्त्वपूर्ण पोस्टिंग के आदेश मिल सकते हैं। बॉस व अधिकारी आपके काम से खुश रहेंगे। इस वर्ष खर्च पर विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है। फिजूलखर्ची को टालें। अपने खर्चों में कटौती करें। सम्पत्ति, भूमि, भवन आदि पर भी बड़ी राशि खर्च होगी। इस वर्ष चल अचल सम्पत्ति की खरीददारी की संभावनाएं बनी हुई हैं।
 
शारीरिक सुख एवं स्वास्थ्य
शाारीरिक स्वास्थ्य की दृष्टि से कुंभ राशि वाले जातकों के लिए यह साल अच्छा रहेगा। इस वर्ष किसी गम्भीर व घातक बीमारी की स्थिति नहीं रहेगी। छोटी-मोटी व मौसमी बिमारियां हावी रहेंगी। राशि स्वामी का एकादश स्थान में परिभ्रमण रक्तचाप, ब्लड शुगर, माइग्रेन, डायबिटीज जैसी बिमारियों का ध्यान रखें। यात्रा, विवाह आदि में खान-पान का विशेष ध्यान रखें। मौसमी बिमारियों सर्दी, खांसी, जुकाम आदि के प्रति सावचेत रहें। वाहन से हल्की फुल्की चोट लग सकती है। वाहन सावधानीपूर्वक चलाएं। योग, शारीरिक व्यायाम व दिनचर्या को व्यवस्थित रखें। घर के किसी बड़े-बुजुर्गों के स्वास्थ्य को लेकर चिंता रह सकती है। 18 अप्रैल से 6 सितम्बर के मध्य शनि के वक्रत्व काल में मानसिक तनाव रह सकता है।
 
व्यापार, व्यवसाय व धन
वर्ष आरम्भ में शनि एकादश स्थान में तथा बृहस्पति इस वर्ष नवम तथा दशम स्थान में चलायमान रहेंगे। व्यापार व कारोबार के विस्तार की, जो योजना आप पिछले काफी समय से बना रहे थे, वह इस वर्ष कार्यरूप में परिणित होगी। प्रतिस्पर्द्धा व प्रतिद्वन्द्वियों के सामने आप कड़ी चुनौती रख देंगे। कुछ ठोस और महत्त्वपूर्ण निर्णय आप व्यापार में लेंगे, जिसके परिणाम दीर्घकालिक रहेंगे। लागत कम करने पर ध्यान दें। व्यापार व व्यवसाय में किसी पर भी अधिक भरोसा नहीं करें। भागीदार व पार्टनर की गतिविधि पर नजर रखें। रुपयों-पैसों के मामले में सावधानी रखें, किसी को भी रुपया उधार नहीं दें अन्यथा निकलवाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ सकती है। व्यापार में नई कार्य योजना और नए कार्यक्रम आप करेंगे। प्रयोग काफी हद तक कामयाब रहेगा। तकनीक के साथ तारतम्य बिठाकर आप अपने व्यापार को चमकाएंगे। भावनाओं में बहकर कोई निर्णय नहीं लें। इस वर्ष किसी चल या अचल सम्पत्ति की खरीद की संभावना है। अप्रैल से सितम्बर के मध्य व्यापार की हालत कुछ पतली रह सकती है। आपका पैसा फंस सकता है। कोई बड़ा ऑर्डर या अनुबंध रद्द हो सकता है। संयम व धैर्य से काम करें। सितम्बर के बाद हालात वापस सामान्य हो जाएंगे। बचत भी होगी, जिससे आपके आत्मविश्वास में इजाफा होगा।
 
घर-परिवार, संतान व रिश्तेदार
बृहस्पति मंगल की युति है। वर्षारम्भ में पारिवारिक दृष्टि से समय अनुकूल है। परिवार में सुख-शांति का वातावरण रहेगा। यदा-कदा पति-पत्नी में आपसी तारतम्यता का अभाव रहेगा, हालांकि ऐसा कोई बड़ा विवाद नहीं होगा। समय रहते आपसी सामंजस्य भी अनुकूल हो जाएगा। संतान की गतिविधि व कार्यकलाप जरूर आपको चिंता में डालेंगे। संतान की शिक्षा, अध्ययन व विवाह आदि को लेकर चिंता रहेगी। माता-पिता व घर के बड़े-बुजुर्गों की सेवा में आप तल्लीन रहेंगे। सम्पत्ति का बंटवारा आदि को लेकर भाइयों से तनाव रहेगा, जो किसी वरिष्ठ व्यक्ति की मध्यस्थता से सुलझ जाएगा। रिश्तेदारों का जहां तक प्रश्न है, सहयोग की उम्मीद करना भी व्यर्थ है। संतान की शिक्षा व कैरियर पर बड़ा निवेश हो सकता है। हालांकि इस साल आप किसी जरूरतमंद रिश्तेदार की मदद के लिए हाथ बढ़ाएंगे।
 
विद्याध्ययन, पढ़ाई व कॅरियर
कुंभ राशि के विद्यार्थियों के लिए यह वर्ष अच्छा रहेगा। विद्यार्थी अपनी पढ़ाई पर ध्यान देंगे। देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि से नवम स्थान में चलायमान हैं, अत: मेडिकल, फार्मा, आयुर्वेद, योग व शिक्षा क्षेत्र से जुड़े जातकों के लिए समय एकदम उपयुक्त रहेगा। फेसबुक, व्हाट्सअप, ट्विटर आदि सोशल मीडिया से दूरी बनाए रखें, ध्यान को भटकने नहीं दें। नौकरी में कार्यरत जातक सही लक्ष्यों को प्राप्त कर लेंगे। बॉस व अधिकारी आपके काम से खुश रहेंगे। मार्च से सितम्बर के मध्य जरूर ध्यान कहीं पर भटक सकता है। मन को पूर्ण रूप से एकाग्र कर पढ़ाई में लग जाएं। फालतू कार्यों में प्रेम-प्रसंगों में पड़कर अपने कैरियर व पढ़ाई को चौपट नहीं करें। मंजिल व सफलता आपके कदम चूमेगी। नौकरी में पदोन्नति व वेतन वृद्धि का तोहफा मिल सकता है।
 
प्रेम-प्रसंग व मित्र
मित्रों की सहायता व मदद के लिए आप हाथ बढ़ाएंगे। मित्रों से कोई ज्यादा उम्मीद नहीं की जा सकती। प्रेम-प्रसंगों के जरूर आपको अवसर मिलेंगे। प्रेम-प्रसंगों में पड़कर अपने कैरियर के साथ समझौता नहीं करें। प्रेम-प्रसंगों के उजागर होने से परिवार में भी तनाव रह सकता है। प्रेम प्रसंग बदनामी व अपयश का कारण भी बन सकते हैं। मंगल के नवम भाव में परिभ्रमण वर्षारम्भ के समय के कारण मतलबी व स्वार्थी मित्रों से सावधान रहना चाहिए। वर्ष
के मध्य में प्रेमी अथवा प्रेमिका से हल्कीफुल्की तकरार व नोक-झोंक हो सकती है।
 
वाहन, खर्च व शुभ कार्य
इस साल वाहन पर खर्चा बेतहाशा होगा, जिससे आप परेशान भी हो सकते हैं। मन में नए वाहन खरीदने का विचार आएगा। पुराने वाहन पर अधिक खर्च न करें। संतान की शिक्षा, अध्ययन आदि पर खर्च होगा। घर में किसी इलेक्ट्रॉनिक वस्तु की खरीददारी संभव है। चल-अचल सम्पत्ति की खरीददारी व रख-रखाव पर खर्चा होगा। फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखें। घर में कोई शुभ व मांगलिक कार्य की स्थिति बन सकती है। वाहन सावधानीपूर्वक चलाएं और वाहन चलाते समय सुरक्षा उपकरणों का जरूर ध्यान रखें।
 
हानि, कर्ज व अनहोनी
इस वर्ष अप्रैल से सितम्बर के मध्य शनि के वक्रत्व काल में धन हानि हो सकती है। विश्वासघात हो सकता है। आंख मूंदकर किसी पर भी भरोसा ना करें। वाहन, भूमि, भवन आदि के लिए ऋण लेना पड़ सकता है, जो धीमे-धीमे आप अदा भी कर देंगे। व्यापार में निर्णय बड़े ही ठण्डे दिमाग से व धैर्य से लें। गलत निर्णय आपके लिए परेशानी का सबब बन सकता है।
 
यात्राएं
इस वर्ष एकादश स्थान में शनि के परिभ्रमण के कारण व्यापार व नौकरी को लेकर यात्राएं काफी करनी पड़ सकती हैं। घरपरिवार के साथ अप्रैल से सितम्बर के मध्य किसी तीर्थ स्थान या धार्मिक स्थान की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है।
 
उपाय
वर्ष की शुभता बढ़ाने के लिए कीड़ी नगरा सींचें। चींटियों को खाना खिलाएं। शनिवार को शनि मंदिर में तिल व तैल चढ़ाएं। 7 प्रकार के अनाज को मिश्रित करके पक्षियों को चुगाएं। फिरोजा रत्न धारण करें।
 
 
 
 
 
 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

क्यों फंसते हैं लोग नकली बाबाओं के चंगुल में, इसके पीछे कौन-सा कारण है जिम्मेदार?

गृहलक्ष्मी गपशप

अपने इस ऐप के जरिए डॉ. अंजली हूडा सांगवान लोगों को रखती हैं फिट

अपने इस ऐप के जरिए डॉ....

"गृहलक्ष्मी ऑफ द डे"- डॉ. अंजली हूडा सांगवान

रिंग सेरेमनी से दें रिश्ते को पहचान

रिंग सेरेमनी से...

रिंग सेरेमनी, ये एकमात्रा रस्म नहीं बल्कि एक ऐसा मौका...

संपादक की पसंद

आओ, हम ही श्रीगणेश करें

आओ, हम ही श्रीगणेश...

“मम्मी गर्मी से मैं जला जा रहा हूं, मुझे बचा लो” मां...

रिदम और रूद्राक्ष की प्रेम कहानी

रिदम और रूद्राक्ष...

अक्सर जब किताबों में कोई प्रेम कहानी पढ़ती थी, तब मन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription