GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

महिलाएं प्रसव के दौरान वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियों की मदद लें सकती हैं

गृहलक्ष्मी टीम

24th February 2018

कोई भी महिला प्रसव के दौरान दवाएँ नहीं लेना चाहती लेकिन उस अवस्था को आरामदायक तो बनाना चाहती है। इनके लिए वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियों की मदद ले सकते हैं।

 महिलाएं प्रसव के दौरान वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियों की मदद लें सकती हैं

आजकल कई पारंपरिक डॉक्टर भी इन तकनीकों की मदद लेने लगे हैं। चाहे आपने एपीड्यूरल ही क्यों न लेना हो, प्रसव से पहले ही इन तकनीकों का अभ्यास शुरू कर दें व किसी लाइसेंसशुदा विशेषज्ञ से ही प्रशिक्षण लें,  उसे गर्भावस्था प्रसव व डिलीवरी का अनुभव होना चाहिए।

एक्यूपंचर व एक्यूप्रेशर :-  वैज्ञानिक अध्ययनों ने माना है कि चीनी हजारों वर्षों से एक्यूपंचर व एक्यूप्रेशर की दर्द निवारक तकनीक जानते थे। एक्यूपंचर की मदद से शरीर के कुछ खास बिंदुओं में सुई चुभो कर प्रसव का दर्द घटाया जा सकता है। एक्यूप्रेशर में सिर्फ अंगुलियों से बिंदुओं पर दबाव दिया जाता है। यदि आप प्रसव के समय इनमें से किसी एक विशेषता को साथ रखना चाहती हैं। तो अपने डॉक्टर को पहले ही बता दें।

रिफ्लैक्सोलॉजी :-  वे मानते हैं कि घाव के कुछ बिंदुओं पर मालिश करने से प्रसव का दर्द घटाया जा सकता है। इससे प्रसव काल की अवधि भी घटती है। कुछ बिंदु तो इतने शक्तिशाली हैं कि आपको प्रसव में जाने से पहले, उन्हें नहीं दबाना चाहिए या उत्तेजित नहीं करना चाहिए।

फिजिकल थैरेपी :-  मालिश व गर्म-ठंडे सेंक से भी प्रसव का दर्द घटाया जा सकता है।किसी अनुभवी हाथों से मालिश होने पर दर्द घटने में मदद मिलती है।

अगले पेज पर पढ़ें हाइड्रोथैरेपी 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription