GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

अनावा पर छाया इस बार 'गृहलक्ष्मी दोपहर सीजन-4' का जादू

गृहलक्ष्मी टीम

16th May 2018

हंसाती-गुनगुनाती, सीखती-सिखाती और छिपे हुए हुनर तक को सामने लाती 'गृहलक्ष्मी दोपहर सीजन-4' समर्पित है उन महिलाओं को, जो होती हैं हर परिवार की धुरी।

अनावा पर छाया इस बार 'गृहलक्ष्मी दोपहर सीजन-4' का जादू
'गृहलक्ष्मी दोपहर सीजन-4' के जरिये हम सम्मान करते हैं महिलाओं के उस जज्बे का, जिसमें वे अपने परिवार के सुख-दुख को ही अपना मानकर जीती हैं। इस इवेंट में हम जुटाते हैं उनके लिए कुछ ऐसे यादगार पल, जो सिर्फ और सिर्फ उन्हीं के लिए होते हैं। सो इस बार हमारी इस कोशिश का साझेदार होगा, ‘अनावा’, नोएडा। अनावा, नोएडा की सीनियर मैंबर सुश्री नीना जग्गी का कहना है कि अब तक हुए गृहलक्ष्मी दोपहर इवेंट्स के जरिये ये बात तो साबित हो चुकी है कि यह सिर्फ एक ऐसा मंच नहीं है, जिसमें शामिल होकर महिलाएं सिर्फ मौज-मस्ती ही करती हैं। ‘गृहलक्ष्मी दोपहर’ सामने लाता है महिलाओं की छिपी हुई प्रतिभाओं को, देता है उन्हें नया आत्मविश्वास। अपनी इन्हीं खूबियों के चलते आज ‘गृहलक्ष्मी दोपहर’  हर लेडिज क्लब को अपनी ओर आकर्षित करता है। किसी भी क्लब का इस इवेंट से जुड़ना गौरव की बात है।
 
 ना खुद गंदगी फैलाएंगे और न ही दूसरों को ऐसा करने देंगे
जहां सफाई वहां सेहत, इस बेस को ध्यान में रखते हुए ‘गृहलक्ष्मी दोपहर’ का पहला पड़ाव होता है, स्वच्छ भारत ओथ, यानी खुद से किया गया वह वायदा कि न तो हम खुद कहीं गंदगी फैलाएंगे और न ही दूसरों को ऐसा करने देंगे। इस तरह हम अपने देश के हर कोने को स्वच्छ बनाने में अपनी भूमिका निभाएंगे।
 सबसे पहले अपनी सेहत का ख्याल  
‘गृहलक्ष्मी दोपहर’ में महिलाओं को स्वास्थ्य संबंधी उपयोगी जानकारी फोर्टिस के डाॅक्टर राहुल गुप्ता दी। उन्होंने बताया कि महिलाएं घर और बाहर दोनों की जिम्मेदारी बाखूबी तरह से निभाती हैं। पर वो अपनी स्वास्थ्य को अनदेखा कर देती हैं, जिससे उन्हें कई तरह की परेशानियों से दोचार होना पड़ता है जैसे- सिरदर्द, माइग्रेन, बैकपेन और स्पाइनल की प्राॅब्लम। इससे बचने के लिए हर महिला को अपना फुल बाॅडी चेकअप करवाते रहना चाहिए। इसी तरह किस तरह छोटी-छोटी सावधानियां, राइट फूड हैबिट्स और रेग्युलर एक्सरसाइज से महिलाएं अपनी सेहत का ध्यान रख सकती हैं और बिमारियों से बच सकती हैं।
 वीएलसीसी के नेल आर्ट से निखरी हाथों की सुंदरता 
‘गृहलक्ष्मी दोपहर’ में वीएलसीसी के नेल आर्ट सेशन पर महिलाओं की उमड़ी भीड़ का उत्साह देखने लायक था। यहां महिलाओं ने अपनी पसंद का नेल आर्ट बनवाया। सिर्फ इतना ही नहीं वीएलसीसी की तरफ से एक्सपर्ट नीरज ने महिलाओं को नेल आर्ट से जुड़ी जानकारी भी दी। उन्होंने बताया कि नेल आर्ट को कैसे करें मेंटेंन। 
 ऑरा ज्वैलर्स का स्कीम्स और आॅफर्स
‘गृहलक्ष्मी दोपहर’ में ऑरा ज्वैलर्स को रीप्रेजेंट कर रहे संदीप कुमार शर्मा और सीमा शर्मा ने लेडिज को बताया कि वे ज्वैलरी के द्वारा इंवेस्टमेंट कैसे कर सकती हैं। उन्होंने आॅरा की स्कीम्स और आॅफर की जानकारी दी। इसके अतिरिक्त उन्होंने एक छोटा सा क्विज शो आॅरगनाईज करते हुए वहां मौजूद महिलााओं से आॅरा ज्वैलरी से जुड़े सवाल किए, जिसका सही जवाब देने वाली महिलाओं ने जीते आकर्षक डिस्काउंट कूपन। उन्होंने गोल्ड और डायमंड ज्वैलरी से जुड़ी कुछ ऐसी बाते भी बताई जिसके आदर ज्वैलरी की शुद्वता को मापा जाता है। 
 बेहतरीन टाइटल्स और शानदार गिफ्ट्स
'गृहलक्ष्मी दोपहर सीजन-4' के इन सभी सेशंस के साथ-साथ मस्ती-धमाल और कहकहों ने अपना ऐसा रंग जमाया, जिससे इस इवेंट में मौजूद कोई बच नहीं पाया। उस पर एक से बढ़कर एक टाइटल्स और गिफ्ट्स ने तो समां ही बांध दिया। जिसके अंतर्गत ओल्ड इज गोल्ड टाइटल की विजेता रहीं 93 वर्षीय श्रीमती कमला। अर्ली बर्ड टाइटल मिला श्रीमती नीलम कुमार को और बंपर प्राइज अपने नाम किया श्रीमती मीनाक्षी ने।    

 ये भी पढ़ें-

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription