GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

World Blood Donor Day 2018:रक्तदान का भ्रम दूर करके किसी को दें नया जीवन  

गीता सिंह

13th June 2018

रक्त दान करने को महादान माना जाता है क्योंकि आप किसी को केवल अपना खून ही नहीं दे रहे होते हैं बल्कि किसी को एक नया जीवन दान दे रहे होते हैं। लेकिन फिर भी लोग रक्त दान करने के लिए स्वेच्छा से आगे नहीं आते हैं।

World Blood Donor Day 2018:रक्तदान का भ्रम दूर करके किसी को दें नया जीवन  
हमारे देश में सवा अरब जनसंख्या होने के बावजूद भी जरूरत के हिसाब से 20 से 25 प्रतिशत कम ही रक्त मिल पाता है। इसके पीछे एक बहुत बड़ा कारण है कि लोगों में रक्तदान के विषय में जागरूकता की कमी है। यदि कुछ लोग रक्त दान करने की सोचते भी हैं तो वो इस बात को लेकर शंका में रहते हैं कि वो रक्त दान देने योग्य है भी या नहीं। आपकी इस शंका को दूर करने व रक्तदान को बढ़ावा देने के लिए हम आपको को बता रहे हैं रक्तदान करने से जुड़ी कुछ ऐसी बातें, जिनसे अवगत होने के बाद आपका रक्त दान करने को लेकर सारा भ्रम दूर हो जायेंगे। 
 
जानें, कौन-कौन कर सकता है रक्तदान
 
  • रक्तदान करने से शरीर को कोई नुकसान नहीं होता है। एक बार में 350 मिलीग्राम रक्त ही दिया जा सकता है। सामान्यता वहीं व्यक्ति ब्लड डोनेट कर सकता है जोकि पूर्ण रूप स्वस्थ हो, जिसकी उम्र 18 से 60 साल के बीच हो और उसका वजन 50 किलोग्राम से कम ना हों। 
  • रक्तदान करने के लिए हीमोग्लोबिन का स्तर सामान्य यानी पुरूषों में 13.5 से 17.5  ग्राम प्रति डेसीलीटर और महिलाओ में 12.0 से 15.5 ग्राम प्रति डेसीलीटर होना चाहिए।
  • Blood donation के लिए व्यक्ति का ब्लड -प्रेशर पहला 180 और दूसरा 100 के बीच होना चाहिए। यानी ना तो ब्लड-प्रेशर हाई होना चाहिए और ना ही लो होना चाहिए। 
  • यदि किसी व्यक्ति ने अपने शरीर पर टैटू बनवाया है तो वह व्यक्ति टैटू बनवाने के एक साल बाद ही blood donate कर सकता है। 
  • यदि कोई  व्यक्ति  टीबी, डेंगू, मलेरिया, कार्डिएक अरेस्ट, किडनी रोगों और मिरगी, सिफलिस, गोनोरिया, एड्स, दमा व अन्य संक्रामक रोगों से पीड़ित हो तो उसे रक्दान नहीं करना चाहिए।
  • महिला यदि गर्भवती है, स्तनपान कराती है, एनीमिया से पीड़ित है, हैपेटाइटिस बी व सी, यौन रोग से पीड़ित है, तो वो रक्तदान करने योग्य नहीं मानी जाती है। इसके अलावा मासिक चक्र के दौर से गुजर रही महिला भी उस समय blood donate नहीं कर सकती है। 
  • किसी तरह का नशा करने वाले, शराब पीने के 48 घंटो से पहले या नाॅरकोटिक दवाओं का सेवन करने वाले लोग भी रक्तदान करने योग्य नहीं माने जाते हैं। 
  • जो लोग मधुमेह या सिजोफ्रेनियेा से पीड़ित हों या जिनका वजन तेजी से गिर रहा हो या फिर किसी की बड़ी सर्जरी हुई हो उन्हें 6 महीने तक रक्त देने से बचना चाहिए। 
  • यदि किसी व्यक्ति को रक्तदान किए हुए अभी 3 महीने से कम का समय बीता है, तो वह भी रक्तदान नहीं कर सकता है क्योंकि रक्तदान करने के 24 से 48 घंटो के अंदर हमारा शरीर रक्त तो बना देता है, लेकिन शरीर में जो रेड सेल्स होते हैं उन्हें बनने में सामान्यतः 3 महीने का समय लगता है। इसी कारण कोई भी महिला या पुरूष ब्लड डोनट करने के 3 महीने बाद ही दोबारा रक्त दान कर सकता है। 
  • यदि आप महिला है तो यह ना सोचें कि आप रक्तदान नहीं कर सकती हैं। महिलाएं भी रक्त दान कर सकती हैं यदि वे पूर्ण रूप से स्वस्थ हैं तो भी बिना हिचक अपना रक्तदान कर सकती हैं। और किसी को एक नया जीवन देने में अपना योगदान दे सकती हैं।  
       
 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription