GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

गोवा का प्लान नहीं बन पा रहा है तो आप जा सकते हैं यहां

शालू अवस्थी

28th August 2018

गोवा का प्लान नहीं बन पा रहा है तो आप जा सकते हैं यहां

गोवा का तो प्लान ही कैंसिल होने के लिए बनता है, जाहिर है हर साल आप भी गोवा जाने का प्लान बनाते ही होंगे लेकिन आखिरी वक्त में प्लान कैंसिल भी हो जाता होगा, ऐसा अगर आपके साथ भी होता है तो आप गोवा की जगह एक अलीबाग का प्लान बना सकते हैं अलीबाग को महाराष्ट्र का गोवा कहा जाता है।15 अगस्त वाले हफ्ते में लंबी छुट्टी मिली, तो मैंने भी मिनी गोवा का प्लान बना ही लिया। तो चलिए करते हैं अलीबाग की सैर और आइए, जानते हैं क्या है आपके लिए खास।

अलीबाग दक्षिणी मुंबई से लगभग 35 किलोमीटर दूर पड़ता है, पहले मैंने गेटवे ऑफ इंडिया से फेयरी से जाने का प्लान बनाया था, लेकिन बरसात के कारण फेयरी नहीं चल रही थी, तो मैंने दादर से पनवेल की लोकल पकड़ी और पनवेल से सिर्फ 100 रुपए की शेयरिंग टैक्सी ली, क्योंकि मैंने होटल नगांव बीच पर लिया था तो मुझे अलीबाग से अॉटो करनी पड़ी। होटल में सुस्ताने के बाद जब नगांव बीच पहुंची तो नजारा देखकर सफर की थकान दूर हो गई।  दूर दूर तक फहला समुद्र और किनारे लंबे खजूर के पेड़ और दूर दूर तक फैली शांति। किनारे पड़े बेंच पर बैठकर बीच का आनंद लेने का अपना अलग ही मजा था। नगांव बीच घूमने के बाद मैं निकली अलीबाग बीच, जिसके बीच में कोलाबा किला है, जिसे 1652 वीं शताब्दी में शिवाजी ने बनवाया था। यहां समुद्र की सैर करने के लिए तांगे भी मिलते हैं, जो 100-150 रुपए में पूरे बीच के चक्कर लगाते हैं। 

अलीबाग बीच, नगांव बीच के अलावा वरसोली बीच भी काफी मशहूर है। अब बात आती है खाने की, यहां पर कोंकण थाल काफी पसंद की जाती है, तो अलीबाग आइए तो कोंकण थाल जरूर खाएं, इसमें आपको वेज और नॉन वेज दोनों के ऑप्शन मिल जाएंगे, सोलकढ़ी जरूर खाइएगा, ये कोकम और नारियल से बनती हैं जो शरीर के लिए भी बहुत फायदेमंद है। वहीं नॉनवेज कोंकण थाल में फिश का भी मजा ले सकते हैं।

खाने पीने के बाद अब बात आती है शॉपिंग की। तो शॉपिंग के लिए अलीबाग में कुछ खास है नहीं लेकिन रायगढ़ बाजार से कुछ देसी मसालें और अचार खरीद सकते हैं, वहीं कोंकण बाजार से भी अचार और पापड़ या फिर कोकम का जूस खरीद सकते हैं। मेरे लिए ये ट्रिप बहुत यादगार रही, क्योंकि इस वक्त यहां का मौसम सुहावना था।

ये भी पढ़ें

अमरनाथ यात्रा: प्राकृतिक नजारों से सजा है बाबा बर्फानी का दरबार

जानिए 14 साल के वनवास के दौरान कहाँ-कहाँ रहे थे श्रीराम 

पहाड़ों में है मां वैष्णो का धाम, जानिए कब, कैसे करें यात्रा

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription