GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

आर्यन, सुहाना हो या अबराम, बच्चों को बेहतर सिटिज़न बनाने की कोई कोशिश नहीं छोड़ते शाहरुख 

गरिमा अनुराग

29th August 2018

आर्यन, सुहाना हो या अबराम, बच्चों को बेहतर सिटिज़न बनाने की कोई कोशिश नहीं छोड़ते शाहरुख 
शाहरुख खान इंडस्ट्री के उन एक्टर्स में शामिल हैं जो कितना भी बिज़ी क्यों न हो अपने बच्चों को हमेशा टाइम देते हैं। शाहरुख को एक नहीं बल्कि कई बार आर्यन और सुहाना को कभी एयरपोर्ट पर रिसीव करते तो कभी उनके कॉलेज का फंक्शन अटेंड करते देखा गया है। छोटे बेटे अबराम को तो शाहरुख हर आउटडोर शूट पर अपने साथ ले जाते हैँ।
शाहरुख ने अपने इंटरव्यू में कई बार कहा है कि सुहाना, अबराम या आर्यन के साथ टाइम व्यतीत करने पर उन्हें कई नई चीज़े सीखने का मौका मिलता है। लेकिन, अगर आप शाहरुख के सोशल पोस्ट देखें तो आप भी ये मान जाएंगे कि जितना शाहरुख बच्चों के साथ सीखते हैं, उतना ही वो समय समय पर उन्हें कुछ ऐसा सीखाने की कोशिश भी करते हैं जो उन्हें अच्छा नागरिक बनने में मदद करें। 
हाल ही में राखी के त्योहार ने जो पोस्ट शेयर किया उसमें लिखा, राखी पूरा हुआ और हमारे यहां सबने ये प्रॉमिस लिया कि हम हमेशा महिलाओं की इज्ज़त करेंगे। 
 

इसके पहले शाहरुख ने 15 अगस्त के मौके पर भी अबराम के साथ जो पोस्ट डाला था उसमें उन्होंने बच्चों को ये समझाया था कि ये देश उनके जैसे नौजवानों को ही संभालना है। 
 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription