GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

ट्रेन ट्रैवल में परेशानी तो हेल्पलाइन नम्बर है ना

शिखा जैन

4th September 2018

हमारा घूमने का प्रोग्राम तो बनता ही रहता है लेकिन यह जरूरी नहीं है हम घूमने के लिए हमेशा प्लेन से या फिर अपनी गाड़ी से ही जाएं कई बार ऐसा मौका आता है जब हम घूमने के लिए लंबी दूरी के लिए टेन से भी टैवल करते हैं वैसे तो टेन में यात्रा करना काफी सुविधाजनक होता है लेकिन कई बार हमें यात्रा के दौरान परेशानियों को सामना भी करना पड़ता है।

ट्रेन ट्रैवल में परेशानी तो हेल्पलाइन नम्बर है ना

ऐसे में अगर आपके पास रेलवे के हेल्पलाइन नम्बर हैं तो आपको इस मुश्किल समय में तुरंत मदद मिल सकती हैं इसलिए इन नम्बरों को हमेशा साथ रखें।

यह परेशानी कई तरह की होती है जैसे कि यात्री ट्रेनों में पानी की बोतल को अधिक दाम पर देना, खराब भोजन देना आदि की शिकायत बड़ी संख्या में आती हैं। इसके अलावा एसी खराब होना, सुविधाघर में पानी न होना की शिकायतें भी यात्री करते हैं। परेशान यात्री के लिए परेशानी अधिक यह होती हैं की जब समस्या हैं तब टीटी को किधर तलाशा जाए। एसे में यात्रा से पहले यह जरूरी हैं कि कुछ महत्वपूर्ण नंबर अगर मोबाइल में दर्ज कर ले तो यात्रा आसान हो जाएगी।

रेलवे ने यात्रियों की मदद के लिए अनेक प्रकार के हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। इनमे खाद्य प्रदार्थ की शिकायत से लेकर गंदगी होने पर शिकायत दर्ज की जा सकती हैं। अकेली महिला हो व कोई परेशान कर रहा हो तो एक मोबाइल घुमाते ही आरपीएफ मदद के लिए हाजीर हो रही हैं।

ऐसे में ट्रेन में रेगुलर सफर करने वाले यात्री इन नंबरों पर देश के किसी भी कोने में पैसेंजर, एक्सप्रेस या सुपरफास्ट ट्रेनों में सफर करते हुए या स्टेशन परिसर में रहते हुए किसी भी प्रकार की मदद मांग सकते हैं।

इन हालातों में करें फोन

स्टेशन परिसर या ट्रेन में कोई लूट होने पर। गाड़ी में किसी यात्री का सामान गुम हो जाने पर। महिला कोच में कोई पुरुष यात्री सवार होने पर। ट्रेन में किसी शरारती तत्व द्वारा झगड़ा किए जाने पर। महिला या युवती से छेड़छाड़ हो जाने पर। किसी ट्रेन में कोई आकस्मिक दुर्घटना हो जाने पर।

इन नंबरों पर करें शिकायत :

  • क्लीनलीनैस, फूड, कोच मैनटेनैंस, मैडीकल के लिए 138 नंबर
  • ट्रेन में कोई परेशान करे, संदेह हो तो सिक्योरिटी हैल्पलाइन 182 नंबर
  • पी.एन.आर., ट्रेन अराइवल/डिपार्चर, सीट उपलब्धता और किराए 139
  • कैटरिंग की शिकायत के लिए 1800 111 321 नंबर
  • वूमैन हैल्पलाइन के लिए 1091
  • चाइल्ड हैल्पलाइन के लिए 1098
  • ट्रेन हादसे के लिए 1072 नंबर
  • एस.एम.एस. द्वारा शिकायत और सुझाव देने के लिए 9717630982
  • कोच में गंदगी की शिकायत करने के लिए क्लीन के बाद स्पेस देकर अपना पी.एन.आर. नंबर लिख कर 58888 पर एस.एम.एस. करें।

यहां भी कर सकते हैं शिकायत

वेब पोर्टल

शिकायतकर्ता इंडियन रेलवे के पोर्टल www.coms.indianrailways.gov.in पर अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

 

इंडियन रेलवे के ऐप पर कर सकते हैं शिकायत

गूगल प्ले स्टोर से इंडियन रेलवे का ऐप 'इंडियन रेलवे सीओएमएस मोबाइल ऐप' डाउनलोड करके भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।                                                       

ये भी पढ़ें

अमरनाथ यात्रा: प्राकृतिक नजारों से सजा है बाबा बर्फानी का दरबार

जानिए 14 साल के वनवास के दौरान कहाँ-कहाँ रहे थे श्रीराम 

पहाड़ों में है मां वैष्णो का धाम, जानिए कब, कैसे करें यात्रा

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

 

 

 

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription