GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

WHAT IS CRANBERRY CRANBERRY KE FAYDE AUR NUKSAN IN HINDI

सुचि बंसल, डायटीशियन एंड योगा एक्सपर्ट

6th September 2018

क्रैनबेरी को हिन्दी में करौंदे के नाम से जाना जाता है। इसके फल साइज में छोटे और डार्क पिंक होते हैं और स्वाद में खट्टे- मीठे होते हैं। इन्हे ज़्यादातर क्रैनबेरी सौस, जैम और जूस बनाने में उपयोग किया जाता है।

WHAT IS CRANBERRY CRANBERRY KE FAYDE AUR NUKSAN IN HINDI

ये एंटि ओक्सीडेंट्स और पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, इसलिए इन्हें सुपर फूड की श्रेणी में भी शामिल किया गया है। आइये जानते हैं इसके फायदों और नुकसान के बारे में –

क्रैनबेरी के फायदे 

यूरीन इन्फेक्शन के लिए :

करौंदे का जूस मूत्र मार्ग के संक्रमण को रोकने के लिए बहुत ही अच्छा है। इसमें मौजूद प्रोऐन्थोसायनेडिंस यूरीनरी ट्रैक्ट की दीवारों से बैक्टीरिया को कम करने में मदद करता है।

दांतों को रखे स्वस्थ :

इसमें पाये जाने वाले तत्व मसूड़ों की समस्या को दूर करते हैं। दांतों को सड़न से दूर रखने के साथ- साथ यह साँसों की दुर्गंध को भी मिटाता है।

वजन कम करने में है मददगार :

क्रैनबेरी में फाइबर की भरपूर मात्रा पायी जाती है, इसलिए इसके सेवन से पेट लंबे समय तक भरा रहता है जिससे जल्दी भूख नहीं लगती। इस तरह यह शरीर में जमा फैट को दूर करने में मदद करता है।

हार्ट को रखे स्वस्थ :

इसका जूस दिल के रोगों से दूर रखता है। रोज एक गिलास क्रैनबेरी का जूस पीने से दिल के रोगों का खतरा 10% तक कम हो जाता है। यह बुरे कोलेस्टेरोल के स्तर को कम करके अच्छे कोलेस्टेरोल के स्तर को बढाता है।

कैंसर से बचाता है :

इसमें पोलीफिनोल नामक कम्पाउण्ड पाया जाता है जो ट्यूमर के बढ़ने को धीमा कर देता है। नियमित इस जूस को पीने से लंग्स, ब्रेस्ट, कोलोन, प्रोस्टेट कैंसर के बढ़ने और उसके फैलने की संभावना कम हो जाती है।

इन्फेक्शन से बचाव करता है :

क्रैनबेरी में एंटिओक्सीडेंट्स और फाइटोकेमिकल्स भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं। जिस कारण यह शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाता है और कई तरह के इन्फेक्शन से बचाता है। सर्दी, जुखाम और गले के रोगों से बचाव में यह बहुत फायदेमंद है।

 क्रैनबेरी के नुकसान :

  • क्रैनबेरी यूरिन डिसीज से निपटने का एक उपाय तो है, पर इसको पूरी तरह से खत्म करने का समाधान नहीं।
  • अधिक मात्रा में इस जूस को पीने से दांतों की इनेमल को क्षति पहुँचती है।
  • इस जूस की ज्यादा मात्रा पेट खराब, डायरिया और ब्लड शुगर लेवल में उतार- चढ़ाव ला सकती है।
  • यदि आप हार्ट संबंधी मेडिसिन लेते हैं तो इसका जूस लेना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। इनके कोंबिनेशन से आंतरिक ब्लीडिंग भी हो सकती है।
  • इसमें सलिसीलिक एसिड की बहुत अधिक मात्रा होती है, जो एस्परीन के समान होता है। यदि आपको इससे एलर्जी है तो क्रैनबेरी के रस के सेवन से बचें।
  • गर्भवती और स्तनपान करने वाली महिलाएं क्रैनबेरी के रस को लेने से बचें। 

 

ये भी पढ़ें -

कैसे बनाएं घर पर हेयर प्रोडक्ट

8 हेयर एक्सटेंशन्स केयर टिप्स

अगर चाहिए स्वस्थ बाल तो अपनाएं ये 4 टिप्स

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकती हैं।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription