GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

साईं भक्तों के लिए शिरडी जाने के लिए बेहतर है यह समय 

शिखा पटेल

7th March 2019

शिरडी में हर साल लाखों की संख्या में भक्त दर्शन के लिए आते हैं। शिरडी जाने से पहले हर इंसान के दिमाग में एक ही सवाल आता है कि शिरडी जाने का सबसे अच्छा समय क्या है?

साईं भक्तों के लिए शिरडी जाने के लिए बेहतर है यह समय 
महाराष्ट्र के अहमदनगर में मौजूद पवित्र धार्मिक स्थान शिरडी काफी दूर-दूर तक फेमस है। कहते हैं कि 50 से अधिक साल यही बिताऐ थे। इसी के चलते इस जगह को अब एक बड़े तीर्थस्‍थल में परिवर्तित कर दिया गया, जहाँ जगह-जगह से साईं भक्‍त आकर उनके दर्शन करते है। ऐसे साल के बारो महीने यहां भक्तों का तातां लगा रहता है, लेकिन कुछ महीने ऐसे भी हैं जिनमें आपको साईं दर्शन आसानी से मिल सकेंगे। आइए जानते है शिरडी जाने का सही समय-
 
 
इन दिनों होती है भीड़ कम 
 
सितंबर-दिसंबर के महीने शिरडी में सबसे ज्यादा भीड़ रहती हैं। वहीं दशहरा और दिवाली के दौरान भी यहां काफी भीड़ देखने को मिलती है। सप्ताह के सबसे कम भीड़ वाले दिनों में सोमवार, मंगलवार और बुधवार आते हैं। आमतौर पर बुधवार की रात को भीड़ मंदिर पहुंचने लगती है क्योकि गुरुवार का दिन साईं बाबा के लिए शुभ माना जाता है और अगर आप शांति से शिरडी के साईं बाबा के दर्शन करना चाहते हैं, तो वीकडेज़ दोपहर 12 बजे से शाम के बीच का समय चुनें। मौसम के अनुसार, दिसंबर से मार्च का समय शिरडी घूमने का सबसे अच्छा माना गया है।
 
आरती का बनें हिस्सा 
 
दिन में पांच बार साईं आरती होती है सुबह 4.15 बजे सबसे पहले भूपाली आरती इसके बाद 4.30 बजे काकड़ आरती, दोपहर 12 बजे आरती, सूर्यास्त के समय धूप आरती और रात 10.30 बजे सेज आरती होती है। 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription