GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

कभी सोचा है आखिर क्यों हर अनुष्ठान में पति के बाएं ओर ही आखिर क्यों​ बैठती है पत्नी? जाने इसकी खास वजह

शिखा पटेल

19th April 2019

हिन्दू धर्म में कोई पूजा-पाठ, शादी-विवाह और धार्मिक अनुष्ठान में पत्नी हमेशा पति के बाई ओर बैठती है। यह परंपरा काफी समय से ही चली आ रही है।

कभी सोचा है आखिर क्यों हर अनुष्ठान में पति के बाएं ओर ही आखिर क्यों​ बैठती है पत्नी? जाने इसकी खास वजह
 
दरअसल, हिंदू धर्म शास्त्रों के मुताबिक पत्नी को वामंगी कहा गया हैं मतलब पुरुष के बाएं अंग की अधिकारी। ऐसा माना जाता हैं कि भगवान शिव के बाएं अंग से स्त्री की उत्पत्ति हुई है। जिसका प्रतीक है शिव का अर्धनारीश्वर शरीर। तो आइए जानते हैं कि शास्त्रों में पत्नी को वामंगी आखिर क्यों कहा गया हैं और इसके पीछे का क्या कारण है-
 
क्या कहता है धर्म 
 
आपको बता दें कि शास्त्रों में यह कहा गया हैं कि स्त्री पुरुष की वामंगी होती हैं इसलिए सोते वक्त और सभा में सिंदूरदान, आशीर्वाद ग्रहण करते वक्त और भोजन के वक्त भी स्त्री पति के बायीं तरफ ही रहनी चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति को जीवन में शुभ फल मिलते हैं। वही वामांगी होने के बाद भी कुछ कार्यों में स्त्री को दायीं ओर रहने की बात शास्त्रों में कही गई है। कन्यादान, यज्ञकर्म, नामकरण और अन्न-प्राशन के वक्त पत्नी को पति के दाएं तरफ ही बैठना चाहिए। यह शुभ माना जाता हैं। पत्नी के पति की दाएं या फिर बाएं ओर बैठने संबंधी इस मान्यता के पीछे कई सारे तर्क शामिल हैं कि जो कर्म संसारिक होते हैं उसमें पत्नी पति के बाई ओर ही बैठती हैं क्योंकि ये कर्म स्त्री प्रधान ही माने जाते हैं।
 
 
क्या कहता है शरीर विज्ञान 
 
शरीर विज्ञान के अनुसार मनुष्य के शरीर का बायां हिस्सा दिमाग की रचनात्मकता और दायां हिस्सा उसके कर्म का प्रतीक है। आमतौर, देखा जाता है कि स्त्री का नेचर ममता से भरा होता है और यह तभी संभव है जब उसके भीतर रचनात्मकता हो। स्त्री का बाईं ओर होना प्रेम और रचनात्मकता की निशानी है वहीं दाईं ओर होने का मतलब है कि पूजा कर्म या शुभ कर्म में वह दृढ़ता से उपस्थित है। जब भी कोई शुभ कार्य दृढ़ता और रचनात्मकता के मेल के साथ संपन्न किया जाता है तो यह निश्चित है कि उसमें सफलता जरूर मिलेगी। यही कारण है कि विवाह समेत किसी भी शुभ अवसर या धार्मिक कार्यक्रम में पत्नी को पुरुष के बाईं ओर ही बैठाया जाता है।
 

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription