GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

कहीं आपके बढ़ते वज़न के कारण नींद से तो नहीं जुड़े

सुचि बंसल

15th May 2019

अगर आप कम आहार के बावजूद अपने बढ़ते वज़न से परेशान हैं तो जानिए नींद से जुड़े कारणों के बारे में भी-

कहीं आपके बढ़ते वज़न के कारण नींद से तो नहीं जुड़े
जिस तरह अच्छी सेहत के लिए अच्छा खानपान और व्यायाम जरूरी है, उसी तरह एक अच्छी नींद भी आपके अच्छे स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। अच्छी सेहत के लिए कम से कम 7-8 घंटे की नींद जरूरी है। यदि आप पर्याप्त और अच्छी नींद नहीं ले पा रहे हैं तो उसका असर आपकी सेहत पर दिखाई देने लगता है। कभी-कभी सिरदर्द, चिड़चिड़ापन, ब्लड प्रैशर, थकावट और सुस्ती महसूस होने लगती है। यहां तक कि शरीर में मोटापा और अन्य कई सारी बीमारियां जन्म लेने लगती हैं। ये हो सकते हैं साइड इफैक्ट-
 
मोटापा बढऩा
 
शरीर के वजन का बढऩा अच्छी नींद न लेने का सबसे बड़ा दुष्प्रभाव है। दरअसल कम नींद से भूख को कंट्रोल करने वाले हार्मोन्स पर इफैक्ट पड़ता है, जिस कारण भूख ज्यादा लगती है। भूख ज्यादा लगने से कैलोरी ज्यादा मात्रा में लेने लगते हैं, जो वजन के बढऩे का कारण बनता है।
 
मैमोरी कमजोर हो जाना
 
नींद कम लेने से मस्तिष्क की क्रियाविधि पर भी विपरीत इफैक्ट पड़ता है। लंबे समय तक यही स्थिति रहने पर याददाश्त धीरे-धीरे कमजोर होने लगती है। साथ ही समस्याओं के समाधान करने की क्षमता भी कम हो जाती है।
 
हार्ट संबंधी बीमारियां बढऩा
 
7-8 घंटे से कम नींद लेने वाले लोगों में स्ट्रोक और हार्ट संबंधी समस्याएं ज्यादा होती हैं। अच्छी नींद न लेने से तनाव और चिंता उत्पन्न होती है, जो इस समस्या को और भी ज्यादा घातक बना देती है।
 
ये उपाय करेंगे काम
 
नींद कम लेना कई बीमारियों को न्योता देता है, बल्कि कहा जाए तो यह अपने-आप में ही एक बहुत बड़ी समस्या है, लेकिन अपनी जीवनशैली और खान-पान में थोड़ा परिवर्तन लाकर इस समस्या से निपटा जा सकता है।
 
नियमित व्यायाम करें
 
दिन में थोड़ा सा व्यायाम या योग का अभ्यास हमारी नींद की प्रक्रिया में सुधार लाता है। दिन में आधे से एक घंटे योगा या एक्सरसाइज़ करने से ही तनाव का स्तर कम होने लगता है। साथ ही ये शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को भी बढ़ाते हैं।
 
रात का भोजन हल्का लें
 
डिनर हमेशा सोने के दो से तीन घंटे पहले ले लेना चाहिए और रात का भोजन हल्का हो, इस बात का विशेष ध्यान रखें। ऐसा करने से खाना आसानी से पच जाता है और एसिडिटी, गैस जैसी समस्या भी नहीं होती, जिससे नींद भी अच्छी आती है। इसके विपरीत यदि आप रात में भारी भोजन करते हैं तो उसे पचने में समय लगेगा। चूंकि रात में हमारा मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है, खाना न पचने के कारण वजन भी बढऩा शुरू हो जाता है।
 
मोबाइल से दूरी बनाएं
 
रात में सोते समय खासकर अंधेरे में मोबाइल पर काम न करें। इससे आंखों पर स्ट्रेन पड़ता है और नींद में खलल भी पड़ता है।
 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription