GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

शिशु के साथ घर वापसी में हो सकती है घबराहट

गृहलक्ष्मी टीम

31st May 2019

शिशु के साथ घर वापसी में हो सकती है घबराहट

"अस्पताल में तो नर्सें मेरे बच्चे के डायपर बदलती थी, नहलाती थीं, मुझे बताती थीं कि शिशु के दूध पीने का समय हो गया है अब मैं काफी परेशान हूं "

यह सच है कि शिशु अपने साथ कोई निर्देश लिखकर नहीं लातें जब आप अस्पताल से घर लौटती हैं तो आपको शिशु को नहलाने , धुलने व खिलने से जुड़े निर्देश दिये जाते हैं ।अपने प्रश्नों के उत्तर लिख लें ताकि कुछ भूलें नहीं ।

हालाँकि एक समझदार माता पिता बनने में समय लगता है । उनका डायपर उल्टा लगा दें या नहलाते समय कान साफ करना भूल जाएं तो वे बुरा नहीं मानते। वे अपनी फीडबैक देने में भी नहीं शरमाते। भूख लगने पर चीख-चीख कर रोते हैं। नहाने का पानी ज्यादा ठंडा या गर्म हो तो चिल्लाने लगते हैं। शिशु के पास दूसरी माँ नहीं होती, जिससे वह आपकी तुलना कर सकें।आप उसके लिए दुनिया की सबसे बेहतरीन माँ हैं और रहेंगी।

आप अपनी थकान मिटाने के लिए आराम करें व ऊर्जा का स्तर बनाए रखने के लिए जम कर खाएँ। धीरे-धीरे बेबी केयर सहज व सरल होती जाएगी। तब बड़ी आसानी से शिशु को गोद में उठाकर घर के कपड़े भी धो सकेंगी और वैक्यूम क्लीनर भी चला पाएँगी। फिर आपको एक ही बार में कई काम करने का हुनर भी आ जाएगा।

 

ये भी पढ़े-

शिशु के जन्म के बाद कुछ ऐसा होता है पहला सप्ताह

मल्टीपल प्रेगनेंसी में हो सकते हैं शिशु से जुड़े कुछ खतरे

यहां पढ़े मल्टीपल शिशुओं के जन्म से जुड़ी सारी जानकारी

 

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription