GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

प्रेग्नेंट महिलाओं को 'प्रीनेटल योग' से मिलेंगे हैरान कर देने वाले फायदे..

महिमा निगम

31st May 2019

प्रेग्नेंट लेडीज के लिए प्रीनेटल योग कितना फायदेमंद है ये शायद आप में से कई लोगो को ना पता हो लेकिन इसे जानना आपके लिए बेहद जरूरी है।

प्रेग्नेंट महिलाओं को 'प्रीनेटल योग' से मिलेंगे हैरान कर देने वाले फायदे..
 
प्रेग्नेंसी के दौरान कई चीजो़ं का ख्याल रखना पड़ता है। खान पान से लेकर पहनने ओड़ने तक, हर चीज को सोच समझकर करना पड़ता है। खासतौर से सेहत की तरफ सबसे ज्यादा ध्यान देना होता है। ऐसे में अगर प्रेग्नेंट महिलाएं योग को अपनाती हैं तो इससे ना केवल उनकी सेहत पर बल्कि शिशु की सेहत पर भी अच्छा असर पड़ता है। तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि प्रेग्नेंसी के दौरान
आप सबने ‘प्रीनेटल योगा’ के बारे में तो सुना ही होगा। गर्भवती महिलाओं के शारीरिक और मानसिक तनाव को दूर करने के लिये ‘प्रीनेटल योगा’ योग का एक बेहतरीन प्रकार है। 

 ‘प्रीनेटल योगा’ के फायदे--

इससे मितली, थकान, कमजोरी, मूड स्विंग, हॉर्मोन्स  का असंतुलन, सांस लेने में परेशानी, गैस की समस्या और पेट में भारीपन जैसी समस्याओं को कम करने में मदद मिलती है। अत्‍यधिक मरोड़, कमर दर्द और जोड़ों में सूजन जैसी जिन आम समस्याओं से प्रीनेटल योगा से छुटकारा दिलाता है।

जब आप अभ्यास शुरू करे हैं तो आपको यह बात दिमाग में रखनी चाहिये कि हमेशा प्रोफेशनल की सलाह लें। यहां कुछ आसन दिये गये हैं जिससे आपको बेहतर और सहज गर्भावस्था में मदद मिल सकती है।

 

मार्जरासन (कैट-काउ पोज)
मार्जरासन से होने वाली मांओं की बेहतर स्ट्रेचिंग होती है और इससे कमर दर्द में राहत मिलती है। और हां, इससे कमर के ऊपरी हिस्से और शरीर के निचले हिस्से में ब्‍लड सर्कुलेशन बेहतर करने में मदद मिलती है।

 

वीरभद्रासन (वारियर पोज)
 
वीरभद्रासन के आसन 1 और 2 से पैरों तथा जोड़ों को काफी मजबूती मिलती है, इससे आत्मविश्वा स और बढ़ता है और जैसा कि इस आसन का नाम है साहस और हिम्मत भी बढ़ती है।

 

विपरीत करणी आसन (लेग्स अप वॉल पोज)
यह आसन हमारे सबसे पसंदीदा आसनों में से एक है। इस आसन से टखनों के आस-पास के दर्द और सूजन में राहत मिलती है। यह आसन राहत पहुंचाता है और ब्‍लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाता है। आप दिन में कई बार इस आसन का सहारा लेती हुई दिखेंगी!
 
दृढ़ता देने वाला यह आसन कई लेवल पर आपको हील करता है और ताजगी प्रदान करता है। इस अवस्था में आप भ्रूण की स्थिति में होती हैं, जो आगे आपको बच्चे से जोड़ती है।

 

बद्ध कोणासन (बाउंड एंगल पोज)
प्रेग्‍नेंसी के दौरान यह सबसे आरामदायक अवस्था  होती है, क्योंकि इसमें आपको अपने पेट के लिये जगह मिलती है, लचीलापन बढ़ता है और आपकी मसल्‍स को आराम मिलता है और उनकी स्ट्रेचिंग होती है।

 

 
शवासन (कॉर्प्सं पोज)
इस मुद्रा का आप जितना चाहें उतना आनंद ले सकती हैं, प्रेग्‍नेंसी  में आगे आने वाले महीनों में आपको पीठ के बल लेटने में परेशानी आ सकती है। इस मुद्रा में जितना मानसिक और शारीरिक आराम मिलता है वह अद्भुत है। शवासन की मुद्रा आपको नई एनर्जी देती है और आपकी प्रेग्‍नेंसी  के दिन और ज्यादा सहज हो जायेंगे।
 
योग आपको अपने शरीर के साथ संपर्क बनाने और आपको नई सीमाओं तक स्ट्रेच करने में मदद करता है। आपका शरीर ऐसी स्थिति में है, जैसा पहले कभी नहीं था। हर दिन योग का अभ्यास करने से आप अपने शरीर की जरूरतों से तालमेल बिठा पायेंगी, आपकी प्रेग्‍नेंसी एक आरामदायक प्रक्रिया बन जायेगी। इससे डिलीवरी की प्रोसेस आसान हो जाती है, क्योंकि आप अपनी जरूरतों को समझ पाती हैं और उसे पूरा कर पाती हैं।
 
योग और ध्यान आपकी क्‍वालिटी ऑफ लाइफ को बहुत ज्यादा प्रभावित करते हैं, इसलिये जब प्रेग्‍नेंसी के दौरान इसका अभ्यास किया जाता है तो इससे मां को और ज्यादा सुकून और संतुष्टि का अहसास होता है। गर्भवती महिलाओं को बेचैनी और घबराहट महसूस होना आम है, खासतौर से जो पहली बार मां बन रही हैं।
कई ऐसे योग आसन और प्राणायाम हैं जिनका अभ्यास हर ट्राइमेस्टरर में किया जाना चाहिये। अगर आप लंबे समय से योगा का अभ्यास करती आ रही हैं तो गर्भावस्था के दौरान होने वाले प्राकृतिक बदलाव आसान और ज्यादा सहज हो जायेंगे। अगर आपने अभी-अभी योग करना शुरू किया है तो आपको इसे धीरे-धीरे करने की जरूरत है और आपको एक ट्रेनर चाहिए या फिर योगा क्लास में शामिल हो जायें तो यह आपके लिये आसान होगा और आप प्रीनेटल योगा के सफर को शुरू कर पायेंगी।

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription