GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

इन 5 तरीकों से बचें बारिश में होने वाले खतरनाक बीमारियों से

प्रीती कुशवाहा

15th July 2019

बारिश का मौसम जहां हर किसी के दिल में एक नई उमंग लेकर आता है। वहीं बीमारियां भी इस मौसम में अपना पैर पसारने में कोई कमी नहीं छोड़ती। इस मौसम में बीमारियां भयंकर रूप लेने में देरी नहीं लगाते हैं। वहीं बीमारियां तेजी से एक—दूसरे में फैलती भी हैं।

इन 5 तरीकों से बचें बारिश में होने वाले खतरनाक बीमारियों से
ऐसे में जरूरी है खुद को और अपने परिवार को मानसून में होने वाली भयंकर बीमारी से बचाने की। आइए जानते हैं कि इस मौसम में आपको किन बीमारियों से सतर्क रहने की जरूरत है और इनसे दूर रहने के लिए आप क्या कर सकते हैं। 
 
 
1: चिकनगुनिया-
चिकनगुनिया एक तरह का बुखार होता हैं जो मच्छरों के काटने से फैलता है। बुखार ज्यादातर बारिश के मौसम में होता हैं। क्योंकि में अधिकतर बारिश का पानी जगह-जगह जमा हो जाता हैं। इसी पानी में मच्छर पनपते हैं। इनके काटने से मरीज को तेज बुखार होने के साथ ही उनके शरीर के जोड़ों में काफी दर्द होता है। इसलिए कोशिश कीजिए कि अपने आसपास पानी इकठ्ठा न होने दें। साथ ही साथ अपने कूलर का पानी भी बदलते रहें। ताकि उसमें पनपने वाले मच्छर बीमारी न फैलाएं।
 

rain diseases, monsoon health tips in hindi, these 5 diseases spread in rain season

2: डायरिया-
बरसात के मौसम में डायरिया समस्या सबसे आम मानी जाती है। इसी सबसे बड़ी वजह जीवाणुओं के कारण होना वाला संक्रमण है। इसमें दस्त होने के साथ पेट में जोरों की मरोड़ होती है। वहीं कई बार उसे बार—बार उल्टी की समस्या भी होती है। बता दें कि ये यह खास तौर से बरसात में प्रदूषित पानी और खाद्य पदार्थों के सेवन के कारण होता है। इसलिए कोशिश करें कि बरसात में बाहर का खाना न ही खाएं तो बेहतर होगा। घर में भी अपना खाने की चीजों को ढक कर ही रखें। वहीं पानी को उबालकर और छानकर ही पिएं। कुछ भी खाने और बनाने से पहले अपने हाथों को धोना न भूलें। 
 
3: मलेरिया-
चिकनगुनिया की तरह ही मलेरिया भी बारिश के पानी में पनपने वाले मच्छरों के काटने की वजह से फैलता है। मलेरिया मादा ऐनाफिलिज मच्छर के काटने से फैलता है। इसलिए ध्यान रखें कि पानी का जमाव न होने दें।
 
4: हैजा-
आपको बता दें कि हैजा जैसी भयानक बीमारी विब्रियो कोलेरा नाम के जीवाणु के कारण फैलमा है। ये बीमारी दूषित खाना और पानी पीने की वजह से होता है। हैजा में पेट में ऐंठन के साथ ही लगातार उल्टी—दस्त होता हैं। इसके कारण से शारीर में पानी और मिनरल्स की कमी जाती है और मरीज बेहद कमजोर हो जाता है। अगर आप इस बीमारी से बचना चाहते हैं तो साफ—सफाई का विशेष ध्यान रखें।  
 
डेंगू-
बारिश में डेंगू बुखार का प्रकोप भी काफी देखने को मिलता है। ये बीमारी भी मच्छरों के काटने से ही फैलता है। डेंगू एडिज मच्छर के काटने से फैलता है। लेकिन ये मच्छर मलेरिया और चिकनगुनिया फैलाने वाले मच्छरों की तरह बारिश के पानी में नहीं बल्कि साफ पानी में पैदा होते हैं। इसलिए इस मौसम में अपने शरीर को पूरी तरह से ढककर रखें ताकि मच्छरों का डंक आपकी स्किन को छू न सके। 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription