GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

 ईयरफोन का ज़्यादा इस्तेमाल बन सकता है इन बीमारियों का कारण 

संविदा मिश्रा

18th July 2019

घर में ,सफर में या ऑफिस में हमारी सुविधा के लिए बनाया गया ईयरफोन हमारी सेहत के लिए हानिकारक हो जाता है। इसका ज़्यादा इस्तेमाल बहुत सी बीमारियों को न्योता देने के साथ- साथ कई बार दुर्घटना का कारण भी बन जाता है।

 ईयरफोन का ज़्यादा इस्तेमाल बन सकता है इन बीमारियों का कारण 
 
मनोरंजन के लिए गाने सुनना हो या देर रात लैपटॉप में मूवी देखना ईयरफोन का प्रयोग करना एक आम बात है। हम बस ,मेट्रो या कैब में ट्रेवल करते हैं तब भी  ईयरफोन लगा लेते हैं।  टाइमपास कहा जाए या फिर बाहर के परिवेश से अलग अपने में ही बिजी दिखाने का तरीका ईयरफोन हमारा सबसे अच्छा साथी होता है। हम मोबाइल,टैब या लैपटॉप में क्या देख या सुन रहे हैं ये बाहर वाले को पता भी नहीं चलता क्योंकि ईयरफोन लगाने से आवाज़ सिर्फ हमारे कानों तक ही पहुंच पाती है। यही नहीं कुछ जॉब्स जैसे कॉल सेंटर आदि में भी ईयरफोन लगाकर बात करना ज़रूरी होता है। जैसे कि हर एक चीज़ के दो पहलू हैं सकारात्मक और नकारात्मक वैसे ही ईयरफोन भी इससे अछूता नहीं है।  ईयरफोन जो हमारी सुविधा का एक मुख्य साधन है वो जाने-अंजाने कई बीमारियों को न्योता देता है। आइए आपको बताते हैं ऐसी कौन सी बीमारियां हैं जो  ईयरफोन के ज़्यादा इस्तेमाल से हो सकती हैं। 
 
श्रवणशक्ति कम होना 
ईयरफोन के लगातार प्रयोग से सुनने की क्षमता कम होने लगती है।  यदि कोई व्यक्ति दिन में दो घंटे से ज़्यादा 90 डेसिबल से अधिक आवाज में गाने सुनता है तो वो बहरेपन का शिकार होने लगता है। हमे चाहिए कि ईयरफोन की वॉल्यूम को नार्मल रखें और बहुत देर तक लगातार इसका इस्तेमाल न करें।  
 
हार्ट प्रॉबलम्स 
 
ज़्यादा तेज़ आवाज़ आपके कान के साथ- साथ आपके हार्ट को भी नुकसान  पहुंचा सकती है। जब हम तेज़ आवाज़ में गाने सुनते हैं तो हमारी हार्ट बीट भी बढ़ जाती है और इससे हार्ट को नुकसान पहुंच सकता है।  
 
 
सिर दर्द और माइग्रेन की समस्या 
ईयरफोन का अधिक इस्तेमाल हमारे मस्तिष्क पर प्रभाव डालता है इससे निकलने वाली विद्युत् चुंबकीय तरंगों के प्रभाव से  तेज़ सिर दर्द और 
माइग्रेन तक हो जाता है। 
 
ईयर इंफेक्शन 
बहुत बार हम किसी अन्य व्यक्ति जैसे दोस्तों या साथ में काम करने वाले लोगों का ईयरफ़ोन शेयर कर लेते हैं जिससे कान में इंफेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है। कोशिश करनी चाहिए की किसी और का ईयरफ़ोन इस्तेमाल न करें।  
 
कान सुन्न होने की समस्या 
 
ईयरफोन से ज़्यादा समय तक गाने सुनने पर व्यक्ति के सुनने की शक्ति कम होने के साथ कान सुन्न होने लगते हैं।  ईयरफोन का ज्यादा प्रयोग  करने से कानों में अलग-अलग सी आवाज़ें सुनाई देने लगती हैं।  चक्कर आने और अनिद्रा की समस्या हो जाती है। 
 
दुर्घटना की आशंका 
जब हम ईयरफोन लगाते हैं तो बाहरी दुनिया से डिस्कनेक्टेड हो जाते हैं।  कई बार हम सड़क पर चलते समय या गाडी चलते समय भी ईयरफोन में गाने सुन रहे होते हैं जिससे दुर्घटना की आशंका बढ़ जाती है। 
 
ये भी पढ़े-

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription