GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

Bacteria से फैलनी वाली ये 5 बीमारियां बदलते मौसम में हो जाती है और भी सक्रिय, जरूरी है सावधानी

प्रीती कुशवाहा

20th July 2019

मौसम कोई भी हो उसके बदलावा के साथ ही कई बीमारियां होना का खतरा बढ़ जाता है। वहीं बदलते मौसम में Bacteria भी का सक्रीय हो जाते हैं। जरा सी लापरवाही आपके लिए बड़ी मुसीबत बन सकती हैं। इस मौसम एक नहीं बल्कि बई बड़ी बीमारियों का Bacteria से होने की संभावना बढ़ जाती हैं। इन बीमारियों का सबसे ज्यादा असर बुर्जुग और बच्चों पर होता है। क्योंकि उनके शरीर में अंदर बीमारियों से लड़ने की क्षमता कम होती है।

Bacteria से फैलनी वाली ये 5 बीमारियां बदलते मौसम में हो जाती है और भी सक्रिय, जरूरी है सावधानी
आज हम आपको ऐसी ही 5 बीमारियों के बारे में बताने जा हैं जो खतरनाक Bacteria की वजह से फैलती हैं। हम आपको न सिर्फ इन बीमारियों बल्कि उनके कैसे बचा जाए ये भी बताएंगे। तो चलिए जानते हैं उनके बारे में... 
 
टिटनेस
हम सबसे पहले बात करने जा रहे हैं टिटनेस की। बता दें कि टिटनेस एक तरह की संक्रमित बीमारी है जो बारिश के मौसम में ज्यादा तेजी से फैलती है। टिटनेस के बैक्टीरिया को क्लोस्ट्रीडियम टिटैनी के नाम से जान जाता हैं। ज्यादातर से चोट लगने और लोहे के जंग लगे चीजों के कटने आदि से फैलती है। इसलिए ध्यान रहे कि जैसे ही आपको चोट लगे उसके 24 घंटे के अंदर ही टिटनेस का टीका लगवा लेना चाहिए।
 
टाइफाइड
टाइफाइड को मियादी बुखार के नाम से भी जाना जाता हैं। इसके होने का खतरा बारिश के मौसम में अधिक होता है। बता दें कि टाइफाइड साल्मोनेला नाम के Bacteria की वजह से होता है। ये Bacteria दूषित खाने और पानी के जरिए हमारे शरीर में जाते हैं। इसलिए कोशिश करें कि बाहर का खाना खाने से बचें।
 
प्लेग 
प्लेग बहुत की खतरनाक बीमारियों में से एक है। ये बीमारी यरसिनिया पेस्टिस नाम के Bacteria की वजह से फैलता है। ये बीमारी खासतौर पर चूहों की वजह से फैलता है। बता दें कि अगर ये जानवर किसी भी इंसान को काट ले तो इनके पिस्सु उनके शरीर में चला जाता है। इसलिए कोशिश करें कि समय पर अपने घर की सफाई करते रहें। 
लाल बुखार
लाल बुखार एक संक्रामक रोग है जो स्ट्रेप्टोकॉकस नाम के बैक्टीरिया से फैलती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये बीमारी एक नहीं बल्कि दो तरह से फैलती है। पहली गले और दूसरी स्कीन पर फैलती है। ये बैक्टीरिया जब गले पर फैलती है तो इसे ग्रसनीशोथ कहते हैं और जब ये त्वचा में फैलता है तो इसे सपूयचर्मस्फोट कहते हैं। इसकी सबसे बड़ी पहचान ये है कि इसके होने पर आपके शरीर में लाल रंग के दाने निकल आते हैं। इस बीमारी से बचने के लिए आपको लाल बुखार से संक्रमित व्यक्ति से दूर रहना चाहिए। 
 
ट्यूबरक्यूलोसिस या टीबी
टीबी रोग फेफड़ों को प्रभावित करने वाला रोग है। टीबी मुख्यरूप से Bacteria से फैलने वाला रोग है। ये रोग माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरकुलोसिस से संक्रमित होता है। इस बीमारी से बचना है तो संक्रमित व्यक्ति से दूर रहें। 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription