GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

फ्रेंडशिप डे, एक ख़ास दिन दोस्ती के नाम

संविदा मिश्रा

2nd August 2019

यारों की यारी को खूबसूरत रंगों में सजाने के लिए मनाया जाता है ये बेहद खूबसूरत दिन फ्रेंडशिप डे। ये दिन हमें याद दिलाता है कि दुनिया में एक ऐसा भी रिश्ता है जो हमने अपनी मर्ज़ी से चुना है।

फ्रेंडशिप डे, एक ख़ास दिन दोस्ती के नाम
दुनिया के सबसे खूबसूरत रिश्तों में से एक है दोस्ती का रिश्ता जो न तो खून का रिश्ता है और न ही ईश्वर का बनाया हुआ कोई बंधन। फिर भी इसकी खुशबू गुलशन -गुलशन को महका देती है।  ऐसा देखा जाता है कि  जब कोई और  काम नहीं आता तब एक दोस्त ही काम आता है। एक सच्चा  दोस्त अपने दोस्त पर जान तक न्योछावर करने को तैयार रहता है।  वैसे तो ये रिश्ता अपनी अहमियत दिखाने  के लिए किसी ख़ास दिन का मोहताज नहीं होता लेकिन आजकल की बिजी लाइफस्टाइल में इस खूबसूरत रिश्ते को प्यार के रंग से भरने के लिए मनाया जाता है फ्रेंडशिप डे का ख़ास दिन। 

 

 
अगस्त आते ही हमें अपने दोस्तों की याद आने लगती है क्योंकि अगस्त के पहले संडे को फ्रेंडशिप डे के रूप में मनाया जाता है। इस बार फ्रेंडशिप डे 4 अगस्त को है।  
 
साल 1935 में फ्रेंडशिप डे की शुरुआत अमेरिका से हुई थी। फ्रेंडशिप डे की शुरुआत  कब हुई इसके बारे में कई बातें कही जाती हैं उनमे से एक है कि यहां पर अगस्त के पहले रविवार को अमेरिकी सरकार ने एक व्यक्ति को मार दिया था और उसकी याद में उसके दोस्त ने भी आत्महत्या कर ली।  दो लोगों के बीच दोस्ती की इस गहराई को देखकर अमेरिकी सरकार ने अगस्त के पहले रविवार को फ्रेंडशिप डे मनाने का फैसला किया था।  इसके बाद से ही फ्रेंडशिप डे का चलन शुरू हुआ और पूरी दुनिया में ये दोस्तों को याद करने के लिए एक ख़ास दिन के रूप में मनाया जाने लगा। 
 
ऐसा माना जाता है एक सच्चा दोस्त ईश्वर का वरदान होता है। सच्चा दोस्त हमेशा आगे बढ़ के उन्नति करने की प्रेरणा देता है। दोस्त की दोस्ती मुसीबत के समय पता चलती है जब हर रिश्ते को पीछे छोड़कर एक दोस्त ही सामने आकर हमारा हाथ थाम लेता है और मुसीबत के जाल से बाहर निकालता है। दोस्ती एक ऐसी किताब जिसके हर पन्ने में लिखा होता है इंसपिरेशन,  मोटिवेशन और बहुत सारा डेडिकेशन........हर इंसान को अपनी बातें , अपनी   प्रॉब्लम्स और अपने  सीक्रेटस  शेयर करने के लिए किसी की ज़रुरत होती है जो एक सच्चा दोस्त ही पूरा कर सकता है। किसी व्यक्ति विशेष से अपने हर ख़ुशी और ग़म को शेयर करना, उसके  लिए कुछ भी कर गुजरने का जज़्बा रखना और उसे किसी भी गलत रास्ते पर जाने से रोकने का नाम ही दोस्ती है। तो आप भी अपने दोस्तों को याद करिए।  कुछ ऐसे दोस्त जिनसे कनेक्शन टूट गया है और कांटेक्ट  छूट गया है उनको भी ढूढ़ लीजिये। क्योंकि सच्चा दोस्त बड़ी ही किस्मत से मिलता है।  4 अगस्त को फ्रेंडशिप डे  के दिन दोस्ती के रंग में डूब जाइए और अपने दोस्तों को भी इस दोस्ती के खूबसूरत रंगों में सराबोर कर लीजिए। 
 
 
 
 
 
 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription