GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

मैं एयरपोर्ट लुक्स के चक्कर में नहीं पड़ती, मुझे सिर्फ कंफर्टेबल रहना पसंद है- सोनाक्षी सिन्हा

गरिमा अनुराग

10th August 2019

मैं एयरपोर्ट लुक्स के चक्कर में नहीं पड़ती,  मुझे सिर्फ कंफर्टेबल रहना पसंद है- सोनाक्षी सिन्हा

फिल्म मिशन मंगल में सोनाक्षी सिन्हा एका गांधी नाम की साइंटिस्ट बनी हैं जो बहुत मॉ़डर्न और महत्वकांक्षी है। अक्षय कुमार और जगन शक्ती के साथ पहले भी पहले भी काम कर चुकी सोनाक्षी से ये पूछना था कि सेट पर इतनी सारी फीमेल एक्टर्स के बीच कैसा लगा और उनका चहकना सुनिए। वो कहती है, हम सबने आपस में खूब मजे किए, हम एक दूसरे की खिल्ली उड़ाते थे और खूब हंसते थे जबकि ऑनस्क्रीन ये फिल्म बहुत सीरियस है। बहुत फन से भरा हुआ अनुभव रहा इस फिल्म में काम करना।

इस फिल्म को करने के लिए आपने हां क्यों की?

जितना अच्छा इस फिल्म का सब्जेक्ट है उतना ही अच्छी इसकी स्क्रिप्ट थी। देश की इतनी बड़ी उपलब्धी पर बन रही फिल्म का हिस्सा बनना ही गर्व की बात है। बहुत कम लोग ये जानते हैं कि हमारे वैज्ञानिक कैसे काम करते हैं, इतने बड़े मिशन में किस तरह की परेशानियां होती हैं। फिल्म के निर्देशक जगन शक्ति के साथ मैं पहले दो फिल्मों में काम कर चुकी हूं। उस वक्त मैं उनसे हमेशा कहती थी कि जब भी आप पहली फिल्म करना मुझे बताना, तो वो मेरे पास आए और इस कहानी को ना कहने की मुझे कोई वजह नहीं दिखी।

इस फिल्म में आपके लिए सबसे यादगार पल क्या था? 

बहुत कुछ सीखने को मिला। मेरे लिए ये पूरा मंगल मिशन ही अपने आप में लर्निंग एक्सपीरियंस है। फिल्म में एक सीन है जहां रॉकेट लॉन्च होता है और मिशन सफल होता है, वो सीन मैं भूल नहीं सकती। इतना देशभक्ति से भरा पल था वो, हमारे रोंगटे खड़े हो गए थे। 

किसी भी फिल्म के लिए आप किस तरह की तैयारी करती हैं?

नहीं, मेरी तैयारी ज्यादातर निर्देशक के अनुसार होती है। मैं उनसे ये समझ लेती हूं कि उन्होंने मेरे किरदार के लिए क्या सोचा है। और मैं वैसा ही करने की कोशिश करती हूं जैसा मेरे निर्देशक चाहते हैं। 

आजकल आप बहुत फिट दिख रही हैं। फिटनेस के प्रति कब से जागरुक हुई?

दरअसल ये होते होते हुआ है। शुरू में मैं वर्कहोलिक की तरह काम कर रही थी। सिर्फ काम, अपने ऊपर ध्यान नहीं देती थी। लेकिन एक्टर्स की लाइफ बहुत टफ होती है, हंम सिर्फ शरीर से नहीं दिमाग से भी थकावट महसूस करते हैं। मुझे लगा कि मुझे अपने ऊपर ज्यादा ध्यान देना चाहिए। इसलिए मैंने नियम बना लिया कि एक समय में मैं ज्यादा फिल्में नहीं करूंगी। हालांकि आजकल मैं वर्कआउट नही कर पा रही हूं क्योंकि मैं दो फिल्मों के प्रमोशन और दो फिल्मों ( बुर्ज और दबंग 3) की शूटिंग कर रही हूं, तो मुझे डायट का ज्यादा ख्याल रखना पड़ रहा है। 

हिन्दी फिल्मों में डेब्यू करने के लिए इस फिल्म से बेहतर कुछ नहीं- नित्या मेनन

खाने की वो कौन सी डिश है जिसे देखकर आप खुद को रोक नहीं पाती हैं?

मुझे खाना पसंद है। मैं बहुत बड़ी फूडी हूं। मेरी मम्मी सिंधी कढ़ी बहुत अच्छा बनाती हैं और भरवां भिंडी और दाल भी अच्छा बनाती हैं। ये सब खाना मुझे बहुत पसंद है। 

जब आप काम नहीं करती तब आपका दिन कैसे बीतता है?

जब मैं काम नहीं कर रही होती हूं तो मुझे कुछ भी न करना पसंद है। मैं देर तक सोना पसंद करती हूं, फिर जिम जाती हूं। फिर थोड़ा फिल्में देख लेती हूं। दोस्तों औऱ फ्रेंड्स के साथ समय बिताना पसंद करती हूं।

कोई ऐसी हॉबि जिसके लिए अब समय नहीं मिलता हो?

हां, मैं बहुत पेंटिंग करती थी और अब बिलकुल समय नहीं मिलता। काफी समय बीत गए मैंने पेंटिंग नहीं की है, लेकिन मैं हमेशा पेंटिंग करना चाहती हूं। अब समय मिलता भी है तो मैं सोती रह जाती हूं।

क्या पहनना सबसे ज्यादा पसंद करती हैं?

मेरे लिए मेरा कंफर्ट सबसे पहले है। (हंसते हुए) ट्रैक पैंट और टीशर्ट मेरा फेवरेट है।

पैपराज़ी, एयरपोर्ट लुक, जिम लुक पर आपकी क्या राय है?

मैं तो बिलकुल बोर हो चुकी हूं, मेरा मतलब है कि क्यों एयरपोर्ट लुक देखना। एयरपोर्ट पर इतने डॉक्यूमेंट्स का ध्यान रखना होता है, इतना चलना होता है, सामान की भी टेंशन होती है, ऐसे में कोई भी इंसान कंफर्टेबल रहना पसंद करेगा। मैं इस बात पर बिलकुल ध्यान नहीं देती कि एयरपोर्ट पर फोटोग्राफर हैं। 

अपने फैन्स को क्या मेसेज देना चाहेंगी?

यहीं कि खुद पर भरोसा रखें, अपने आत्मविश्वास को बनाए रखें और याद रखें कि लड़कियां किसी से भी कम नहीं है।

 

 

ये भी पढ़े-

 

मिशन मंगल देश की उपलब्धि को बड़े पर्दे पर सेलिब्रेट करती है- तापसी पन्नु

ये कहानी देश पर गर्व करना सिखाती है- अक्षय कुमार

मिशन मंगल के लिए विद्या बालन ने बिना सोचे कहा था हां

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription