GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

रक्षाबंधन में मायके को दें महत्त्व लेकिन ससुराल को न करें अनदेखा , ऐसे बनाएं रिश्तों में संतुलन 

संविदा मिश्रा

14th August 2019

कहा जाता है कि एक लड़की जब मायके की दहलीज़ को पार करके ससुराल में कदम रखती है तब उसकी ज़िंदगी में भी बहुत से बदलाव आते हैं।  उसके साथ जुड़ते हैं बहुत सारे  नए रिश्ते जो उसे एक बेटी से बहू बनाते हैं। नए घर यानि कि ससुराल में एक लड़की का पत्नी होने के अलावा भी ससुराल में कई रिश्तों से सामना होता है जैसे एक रिश्ता बनता है सास-ससुर के साथ तो वहीँ भाई की तरह एक रिश्ता होता है देवर का और एक सबसे अहम् रिश्ता होता है नन्द- भाभी का रिश्ता। जिसमे शामिल होती हैं कुछ छोटी-मोटी  नोककझोंक, कुछ हंसी ठिठोली, थोड़ी सी मस्ती तो कभी छोटे-छोटे कमेंट्स जो इस रिश्ते को और भी ज्यादा खूबसूरत बनाते हैं। शादी के बाद लड़की के ऊपर एक नहीं बल्कि दो परिवारों की ज़िम्मेदारी होती है और वो लड़की दोनों परिवारों के बीच एक पुल  का काम करती है।  ऐसा माना जाता है कि एक कुशल बहू या बेटी वही होती है जो दोनों परिवारों की डोर को मजबूती से संभाले रहती है और सभी रिश्तों में सामंजस्य बना के रखती है। 

रक्षाबंधन में मायके को दें महत्त्व लेकिन ससुराल को न करें अनदेखा , ऐसे बनाएं रिश्तों में संतुलन 
रक्षाबंधन का त्योहार यानि कि भाई बहन के रिश्ते को प्यार की डोर से बांधने का त्योहार। यह त्योहार मुख्य रूप से भाई और बहन के लिए होता है इसलिए इस दिन लड़कियां अपने मायके के रंग में रंग जाती हैं। बहनें अपने भाई को राखी बांधने मायके जाती हैं या फिर भाई अपनी बहन के पास आता है।  ऐसे में कई बार रक्षाबंधन के दिन लड़कियां ये भूल जाती हैं कि वो किसी घर की बहू और किसी की भाभी भी हैं और जाने-अंजाने वो ससुराल और उससे जुड़े रिश्तों को अनदेखा कर देती हैं जिसका सीधा असर उनकी शादीशुदा ज़िन्दगी पर भी पड़ता है। ये बात सच है कि रक्षाबंधन का त्योहार मायके के लिए ख़ास होता है इसलिए लड़कियों का माइके को अहमियत देना भी तय है लेकिन अपने -साथ उन्हें अपने ससुराल को भी याद रखना चाहिए क्योंकि ससुराल ही एक विवाहित लड़की की पहचान होती है। आइए आपको बताते हैं कुछ ऐसे तरीके जिनसे आप मायके और ससुराल दोनों के बीच संतुलन बनाने के साथ-साथ रिश्तों के बीच सामंजस्य भी बना सकती हैं। 
 
सास-ससुर का आशीर्वाद लें 
किसी भी त्योहार की शुरुआत बड़ों के आशीर्वाद से होनी चाहिए इसलिए सबसे पहले अपने सास-ससुर का आशीर्वाद लें और उनसे अपने मायके जाने के लिए अनुमति ले लें उनको ये भी बता दें कि आप घर जल्दी आने की कोशिश करेंगी जिससे आप अपनी नन्द और उनकी फैमिली के साथ भी टाइम स्पेंड
कर पाएंगी। 
 
मायके जाने का समय निर्धारित कर लें 
याद रखें कि जिस तरह आप अपने मायके अपने भाई को राखी बांधने जा रही हैं उसी तरह आपकी नन्द भी अपने मायके आएगी और अपने भाई को राखी बांधेगी  ऐसे में आपको चाहिए कि आप सभी लोगों से परामर्श करके माइके जाने का एक टाइम निर्धारित कर लें जिससे कि जब आपकी नन्द घर आए  तब आप उसको और पूरी फैमिली  को समय दे पाएं।     
 
नन्द के बच्चों के लिए गिफ्ट लाएं 
अक्सर ऐसा देखा गया है कि लड़कियां रक्षाबंधन में अपने मायके  वालों जैसे कि अपने भाई के बच्चों के लिए गिफ्ट्स लाती हैं जबकि वो अपनी नन्द को भूल जाती हैं और उनके लिए और उनके बच्चों के  लिए कोई तोहफा नहीं लेती हैं जो कि बिल्कुल गलत होता है। लड़कियों को अपनी नन्द के लिए और उनके बच्चों के लिए भी खूबसूरत तोहफा लेना चाहिए क्योंकि आपकी नन्द आपके पति की बहन है। जब आप उनको अहमियत देंगी तब आपके पति भी आपसे खुश हो जाएंगे और उनका प्यार आपके लिए और ज्यादा बढ़ जाएगा।  
 
रिश्तों में बनाएं सामंजस्य 
 
यदि आपके भाई और आपकी नन्द की फैमिली एक साथ घर आ जाए  तो आप सिर्फ अपने भाई और उसकी फैमिली को इम्पोर्टेंस न दें बल्कि अपनी नन्द की फैमिली को भी संतुलित ढंग से महत्त्व दें। ऐसा करने से आपके मायके और ससुराल दोनों के रिश्तों के बीच संतुलन बना रहेगा और आपका रक्षाबंधन का त्योहार आपकी खुशियों में चार चांद लगा देगा। 
 
 
 
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

पोल

अगर पेपर लीक हो जाए तो क्या फिर से एग्ज़ाम होना चाहिए?

गृहलक्ष्मी गपशप

इनडोर प्लांटिंग : सुंदरता भी, फायदे भी

इनडोर प्लांटिंग...

अपने घर में पौधे लगाना जहां घर के सौंदर्य में चार...

स्मार्ट करियर गोल्स बनाने की सलाह देती हैं गृहलक्ष्मी ऑफ द डे दीपशिखा वर्मा

स्मार्ट करियर गोल्स...

गृहलक्ष्मी ऑफ द डे

संपादक की पसंद

फिक्स्ड डिपॉजिट करने के पहले जान लें ये जरूरी बातें

फिक्स्ड डिपॉजिट...

वर्तमान में कम निवेश में अधिक रिटर्न के लिए वर्तमान...

तेजाब खोखला नहीं कर पाया मेरे हौसलों को

तेजाब खोखला नहीं...

लड़कियों के चेहरे पर तेजाब डालने वालों के लिए ये कविता...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription