GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

लाइफस्टाइल की ऐसी कौन सी आदतें हैं, जो मस्तिष्क के लिए नुकसानदेह हैं ?

संविदा मिश्रा

3rd September 2019

मस्तिष्क शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। ऐसा मकान जाता है की इस दुनिया में कदम रखने से पहले मां के गर्भ में ही मस्तिष्क अपना काम करना शुरू कर देता है। यह हमारे पूरे शरीर को नियंत्रित करने के साथ-साथ दूसरे लोगों की बातें समझने और उनसे बात करने में भी हमारी मदद करता है। ऐसा कहा जाता है कि शरीर को सक्रिय बनाए रखने और सोचने की क्षमता को बढ़ाने के लिए एक स्वस्थ मस्तिष्क का होना अति आवश्यक है।

लाइफस्टाइल की ऐसी कौन सी आदतें हैं, जो मस्तिष्क के लिए नुकसानदेह हैं ?
लेट नाईट पार्टियां,खराब जीवनशैली ,अनुचित खानपान , काम के लिए व्यस्तता ,जंक फूड्स का अति सेवन और अन्य अस्वास्थ्यकर आदतें ये सभी आपके मस्तिष्क के लिए खतरा पैदा करते हैं।  भागदौड़ भरी जीवनशैली में  हम सभी ऐसे काम करते हैं जो कई बार स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को जन्म देते हैं। आइए  आपको बताते हैं हमारे लाइफस्टाइल से जुड़ी कुछ ऐसी आदतें जो मस्तिष्क को नुकसान पहुंचा सकती हैं -

धूम्रपान

" धूम्रपान स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है " अक्सर आपने ये चेतावनी बहुत से मादक पदार्थों की पैकिंग के ऊपर लिखी या फिर रास्ते में किसी बैनर या होर्डिंग में ज़रूर पढ़ी होगी और निश्चय ही यह तथ्य किसी से भी छिपा नहीं है, लेकिन हम इसके दुष्प्रभाव जानते हुए भी इसे अपनी लाइफस्टाइल का एक हिस्सा समझते हैं।  धूम्रपान रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर और वसा के स्टार को बढ़ा देता  है, जिससे मस्तिष्क में  स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह वसा का संचय हो जाता  है। यह  धमनियों को संकीर्ण करता है और मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को प्रतिबंधित कर देता  है। यह अवरुद्ध रक्त प्रवाह मस्तिष्क स्ट्रोक का कारण भी बन सकता है।

अधिक  शर्करा का सेवन 

बहुत अधिक चीनी का सेवन आपके मस्तिष्क के लिए हानिकारक हो सकता है। एक अध्ययन से पता चला है कि रक्तप्रवाह में थोड़ी सी भी चीनी मस्तिष्क को नुकसान पहुंचा सकती है, जिसके परिणामस्वरूप स्मृति संबंधी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। इसके अलावा, अधिक चीनी का सेवन  डिप्रेशन और चिंता को जन्म देती है। 

आवश्यकता से अधिक भोजन

ऐसा माना जाता है कि आवश्यकता से अधिक भोजन करने से स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। एक शोध में पाया गया है कि  ओवरईटिंग सामान्य रूप से अच्छा नहीं है; यह अन्य बीमारियों जैसे हृदय रोगों, मोटापा आदि के विकास के जोखिम को बढ़ाता है।

अपने मस्तिष्क का ज्यादा इस्तेमाल करना  

आमतौर पर आप जिस भी जगह पर काम करते हैं उसके लिए आपका पूरा डेडिकेशन और हार्ड वर्क जरूरी होता है। लेकिन अपने मस्तिष्क पर अधिक दबाव डालना या फिर बिना आराम के इसका ज्यादा लम्बे समय तक इस्तेमाल करना मस्तिष्क के लिए अच्छा नहीं होता है। शोध के अनुसार, आपके मस्तिष्क का अधिक काम आपके सोचने के कौशल की वजह से होता है। यदि आप बीमार हैं तो भी आपको अधिक मेहनत नहीं करनी चाहिए क्योंकि यह आपके मस्तिष्क के सामान्य कामकाज को भी नुकसान पहुंचा सकता है।

सिर को ढक कर सोना 

बहुत से लोगों को सोते समय अपने सिर को तकिये से ढकने की आदत होती है, खासतौर पर सर्दियों के मौसम में । यदि आप उन लोगों में से एक हैं, तो आपको अपनी ये आदत तुरंत बदल लेनी चाहिए। यह ऑक्सीजन के प्रवाह को बाधित करता है, जिससे आसानी से मस्तिष्क को क्षति हो सकती है। सिर को ढकने से चेहरे के चारों तरफ कार्बन डाइऑक्साइड का संचय हो सकता है, जिससे तंत्रिकातंत्र को क्षति हो सकती है। आपको मस्तिष्क क्षति को रोकने के लिए ऐसा करने से बचना चाहिए।

ये भी  पढ़ें -

आप हमें फेसबुक , ट्विटर और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

कुछ ऐसे आहार जो आपकी स्किन को हेल्दी और ग्लोइंग...

default

जानिए क्या है मायोपिया , बच्चों को कैसे करता...

default

जानिए क्या है सेकेंड हैंड स्मोकिंग, जिसका...

default

सिर्फ आप ही नहीं सेलिब्रिटीज़ भी हैं अपने...