GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

जब प्रेगनेंसी में भ्रूण गर्भाशय की जगह फैलोपियन ट्यूब में पनपने लगे

गृहलक्ष्मी टीम

4th September 2019

प्रेसनेंसी में हो सकती हैं कई तरह की जटिलताएं, पढ़िए

जब प्रेगनेंसी में भ्रूण गर्भाशय की जगह फैलोपियन ट्यूब में पनपने लगे

इक्टोपिक प्रेगनेंसी

यह क्या है? इसे ट्यूवल प्रेगनेंसी भी कहते हैं।इसमें भ्रूण गर्भाशय में पनपने की बजाय फैलोपियन ट्यूब में पनपने लगता है या सर्विक्स, ओवरी या पेट में भी पनप सकता है। बदकिस्मती से इसे सामान्य बनाने का कोई तरीका नहीं है। पहले पांच सप्ताह में ही अल्ट्रासांउड से इसका पता लगा सकते हैं लेकिन पहले पता न चलने पर फर्टीलाइज्ड एग फैलोपियन ट्यूब में ही पनपता रहता है व गर्भाशय को नष्ट कर देता है। यदि इसकी चिकित्सा न हो तो भीतरी रक्तस्राव व सदमा काफी जानलेवा हो सकता है। हालांकि सर्जरी दवा से तत्काल आराम आ जाता है व महिला दोबारा माँ बनने की स्थिति में भी रहती है।

यह कितना सामान्य है? करीब 2 प्रतिशतगर्भावस्थाएँ ऐसी ही होती हैं। इन मामलों मेंऐसी महिलाओं को शामिल कर सकते हैं, जिन्हें एंडोमैट्रओसिस, पेल्विक इन्कलामेट्री रोगया ट्यूबल सर्जरी का खतरा हो। ‘जो महिलाएँ आई यू डी लगे होने के बावजूद गर्भवती हो जाती हैं, एसटीडी रोग से ग्रस्त होती हैं या धूम्रपान करती हैं। हालांकि आजकल लगने वाले आईयूडी में ऐसा कोई खतरा नहीं होता।

इक्टोपिक प्रेगनेंसी 

इस प्रेगनेंसी में फर्टीलाइज्ड एग गर्भाशय की बजाए कहीं और इम्पलांट हो जाता है यहाँ एग फैलोपियन ट्यूब में इम्पलांट हुआ है।

संकेत लक्षण क्या हैं? इसके संकेत व लक्षण निम्नलिखित हैं‒

  •   पेट के निचले हिस्से में तीखा दर्द व ऐंठन,खांसने या छींकने से दर्द बढ़ सकता है।
  •   असामान्य रक्त स्राव
  •   यदि यह पता न लग सके और फैलोपियन ट्यूब फट जाए तो‒
  •   जी चकराना व उल्टी
  •   कमजोरी
  •   नींद आना या बेहोशी
  •   पेट के निचले हिस्से में तेज दर्द
  •   गुदा पर दबाव
  •   कंधों में दर्द
  •   योनि से भारी रक्तस्राव

 आप आपके डॉक्टर क्या कर सकते हैं? गर्भावस्था की शुरूआत में हल्की ऐंठन या स्राव से कोई खतरा नहीं है लेकिन आप डॉक्टर को जरूर बताएँ। यदि इक्टोपिक प्रेगनेंसी का कोई लक्षण दिखे तो डॉक्टर को बताने में देर न करें। यदि यह आरंभ हो चुका हो तो रोकने का कोई तरीका नहीं है। आपको दवा लेनी होगी या सर्जरी करवानी पड़ सकती है। कई बार ऐसे मामले भी सामने आते हैं जब सर्जरी की जरूरत नहीं रहती। ट्यूब में गर्म का कोई कतरा न रह जाए इसलिए एचसीजी का स्तर जांचने के लिए एक टेस्ट होता है। इससे पता चलता है कि ट्यूबल प्रेगनेंसी खत्म हो गई या नहीं।

आप जानना चाहेंगी....पेट के निचले हिस्से में हल्की ऐंठन इम्पलांटेशन की वजह से होती है। लिगामेंट के खिंचाव का मतलब यह नहीं कि आपको इक्टोपिक प्रेगनेंसी है।

 

ये भी पढ़े-

कितना सामान्य है लेट मिसकैरिज

प्रेगनेंसी में मिसकैरिज से जुड़े इन फैक्ट्स की जानकारी होनी चाहिए

प्रेगनेंसी में अगर सामना करना पड़े अर्ली मिसकैरिज का

 

 

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

प्रेगनेंसी में मिसकैरिज से जुड़े इन फैक्ट्स...

default

प्रेगनेंसी में अगर सामना करना पड़े अर्ली...

default

कितना सामान्य है लेट मिसकैरिज

default

पीआईडी भी हो सकती है गर्भधारण न कर पाने की...