GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

न्यू ब्राइड के लिए शादी के बाद ये काम होते हैं बेहद चैलेंजिंग

गरिमा अनुराग

3rd October 2019

न्यू ब्राइड के लिए शादी के बाद ये काम होते हैं बेहद चैलेंजिंग

एक लड़की शादी के पहले भले ही कई तरह से खुद को नए घर में बसाने के लिए अपने मन को मजबूत कर ले, लेकिन शादी के बाद कुछ ऐसे काम होते हैं ,जिनका सामना नई नवेली दुल्हन बनने के बाद हमेशा ही मुश्किल भरा और उलझाने वाला होता है। हम यहां कुछ ऐसे ही मौकों का जिक्र कर रहे हैं ,जिनके बारे में शादी के पहले आपकी सोच बेपरवाह हो सकती है, लेकिन शादी के बाद ये बहुत झेंप पैदा करने वाले बन जाते हैं-

1. लाइफस्टाइल को मैच करना
नई दुल्हन पर सबकी नज़र होती है, सभी शादी के तुरंत बाद इस बात का ख्याल रखते हैं कि उसे कुछ चाहिए या नहीं, लेकिन इस वजह से अकसर ही नई दुल्हन को हर वक्त बहुत अलर्ट रहना पड़ता है। वो शादी के पहले जैसे कभी भी सोना, इधर- उधर करती रहना बेफिक्री से एंजॉय नहीं कर पाती है। अपनी सालों की आदत को अचानक बदलकर नए घरवालों के तौर तरीकों को अपनाना (भले ही दो-चार दिनों के लिए ही करना पड़े) काफी दिक्कत भरा हो सकता है।

2. सेक्स
शादी के बाद संबंध बनाना भी इतना आसान नहीं होता जितना कि इसे फिल्मों में देखकर लगता है। भले ही शादी के पहले आपने कई घंटों तक आपस में बात की हो, एक-दूसरे को अपनी अपेक्षाएं बताई हों, फिर भी शादी के बाद संबंध बनाने में नई दुल्हन झिझक, असहजता महसूस कर सकती है। 

3.पहली बार खाना बनाना
नए घर में नए लोगों के लिए कुछ ऐसा बनाना जिसे सभी लोग खाना पसंद करें अपने आप में बड़े से बड़े कुक के लिए भी चैलेंज ही होता है, फिर नई दुल्हन के लिए ये मौका मुश्किल भरा जरूर होता है। हर लड़की ससुराल वालों को शुरू में खुश करने की कोशिश में रहती है, लेकिन जरूरी नहीं कि जो उसका स्वाद हो वही ससुराल में सबको खाने की आदत हो, इसलिए किचन में  कुछ बनाना  काफी  उसझन महसूस कराने वाला हो सकता है। 

4. ठीक से  खाना न खा पाना 
नए घर में जहां नई दुल्हन पर सबकी नज़र हो, ऐसी स्थिति में अकसर नई दुल्हन ठीक से, भरपेच खाना नहीं खा पाती है। कई बार तो वो लोगों को ये बता ही नहीं पाती है कि उसे भूख लगी है। फिर खुलकर डकार लेना या गैस पास करना तो कोई भी समझ सकता है कि कितना अजीब महसूस कराने वाला हो सकता है। 

5. लॉन्ज़री के लिए जगह तलाशना
अकसर लड़कियां माता-पिता के घर में भी अपनी लॉन्ज़री के लिए बचपन से ही किसी खास कोने को चुन कर रखती हैं, लेकिन शादी के बाद नई दुल्हन अपने कपड़े लेकर सीधे छत या बालकनी में नहीं जा पाती। अपने लॉन्ज़रीज़ को किसी और को देकर बाहर पसरवाना भी काफी शर्मिंदा करने वाला ए हसास होता है। तभी तो अकसर नई दुल्हन अपने लॉन्ज़रीज़ कमरे के किसी कोने में सुखाने लगती हैं। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

default

ससुराल वालों को अपना बनाने के 10 कदम

default

एक अनोखा बंधन

default

प्री ब्राइडल मेकओवर

default

बच्चा होने के बाद भी इंजॉय करने के 7 तरीके...