600 साल पुराना है, ये ग्रैंड ब़ाजार

Jyoti Sohi

24th April 2021

सन् 1455 में बने इस बाज़ार में खरीददारी के लिए राज़ाना तीन लाख से ज्यादा लोग पहुंचते हैं। हांलाकि कोविड के चलते इन दिनों बाज़ार आशिंक रूप से ही खुला है। इसमें 64 गलियां, चार हज़ार दुकानें और 25 हज़ार से भी ज्यादा लोग काम करते हैं।

600 साल पुराना है, ये ग्रैंड ब़ाजार
तुर्की में वास्तुकला की दृष्टि से कई विख्यात पर्यटन स्थल है। लेकिन तुर्की के इस्तांबुल में इस ग्रैंड बाज़ार की बात निराली है। सन् 1455 में बने इस बाज़ार में खरीददारी के लिए राज़ाना तीन लाख से ज्यादा लोग पहुंचते हैं। हांलाकि कोविड के चलते इन दिनों बाज़ार आशिंक रूप से ही खुला है। इसमें 64 गलियां, चार हज़ार दुकानें और 25 हज़ार से भी ज्यादा लोग काम करते हैं।  

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

इनफर्टिलिटी-...

इनफर्टिलिटी- कारण और निवारण

सर्जिकल मास्...

सर्जिकल मास्क कैसे बने डिज़ाईनर मास्क

भारतीय संस्क...

भारतीय संस्कृति का महापर्व -'कुम्भ'

एटोमियम म्यू...

एटोमियम म्यूज़ियम लोगों की मांग पर बना स्थाई...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

जन-जन के प्र...

जन-जन के प्रिय तुलसीदास...

भगवान राम के नाम का ऐसा प्रताप है कि जिस व्यक्ति को...

भक्ति एवं शक...

भक्ति एवं शक्ति...

शास्त्रों में नागों के दो खास रूपों का उल्लेख मिलता...

संपादक की पसंद

अभूतपूर्व दा...

अभूतपूर्व दार्शनिक...

श्री अरविन्द एक महान दार्शनिक थे। उनका साहित्य, उनकी...

जब मॉनसून मे...

जब मॉनसून में सताए...

मॉनसून आते ही हमें डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, जैसी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription