GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

पहने या ना पहने

पहने या ना पहने

जब मेरी शादी हुई तो मुझे ठीक से साड़ी बांधनी आती नहीं थी। ससुराल आई तो वहां साड़ी शादी के बाद साड़ी ही पहनने का रिवाज़ था। ऐसे में...

मिठास अंदर ह...

मिठास अंदर ही घुटती रहती है

मेरी जेठानी बहुत ज्यादा और बहुत कड़वा बोलती हैं। जेठ जी बेचारे जब उनको समझा-समझा कर हार गए तो अंत में उन्होंने, उन्हें कुछ भी कहना...

स्पेशल गिफ्ट...

स्पेशल गिफ्ट पापा को क्यों

  बात तब की है, जब मेरी बिटिया 3 साल की थी। एक दिन मैंने उसकी किसी बात पर खुश होकर उसे शाबाशी दी। 'तुम दुनिया की सबसे प्यारी बेटी...

मैंने सारे क...

मैंने सारे कपड़े उतार लिए

बात मेरी शादी के कुछ समय बाद की है। उन दिनों बारिश का मौसम था। बारिश की वजह से सीढिय़ों में बहुत फिसलन हो गई थी। मैं छत पर सूखे कपड़े...

एस्टीम कैसे ...

एस्टीम कैसे चलाऊंगा?

मेरा 6 वर्षीय बेटा शिवम बहुत नटखट है। एक बार उसे जुकाम हो गया था तो मैं उसे डॉक्टर के पास दिखाने ले गई। डाक्टर ने दवा देते हुए कहा...

उसे हॉट एंड ...

उसे हॉट एंड सॉर सूप समझकर पी गई...

मैं बिहार की एक साधारण सी लड़की हूं। मेरी शादी को 6 महीने हुए हैं। शादी के बाद पहली बार मैं अपने पति व परिवार वालों के साथ होटल गई...

सूरज का ट्रिप

सूरज का ट्रिप

मुझे याद है जब मैं स्कूल जाती थी। घर के हालात ठीक-ठाक थे, परंतु आसपास के दोस्त व सहेलियां अमीर घरों के थे। हम छुट्टियों में शिमला घूमने...

दादा जी के म...

दादा जी के मुंह में चैरी डाली

मेरे दादा और चाचू (दादाजी के भाई) पटना में रहते थे। जब कभी भी वो दिल्ली आते तो हमारे घर महीना भर तो रहते ही थे। वह टोका-टाकी बहुत करते...

शादी पर भी ह...

शादी पर भी हाथ जोड़े थे

मेरे पति भगवान को बहुत मानते हैं, ऐसे ही मैं भी भगवान को बहुत मानती हूं। मैं रोज सुबह नहा- धोकर पूजा करती हूं, और पति भी भगवान जी को...