GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

पहले से ही ग...

पहले से ही गिरी हुई हुं

  मौका था मेरी सहेली के विवाह का। जयमाल रस्म के बाद खाने वगैरह की व्यवस्था होने लगी, क्योंकि मुझे दूर जाना था । अत: दूर जाने वाले...

आई हैव थर्टी...

आई हैव थर्टीफोर चिल्ड्रन

यह मजेदार घटना उस समय की है जब हम स्कूल के बच्चों को पिकनिक पर ले जा रहे थे। मेरे साथ कक्षा पांचवी के चौंतीस बच्चे थे। बच्चों को गिन-गिन...

तुम तो लिपस्...

तुम तो लिपस्टिक खाती हो

मैं सजने-संवरने के मामले में बहुत ही शौकीन हूं। शादी को छ: माह ही हुए थे। पति से जब कुछ मांगती तो वह मना नहीं करते। उस दिन परिवार के...

क्या खूब दिख...

क्या खूब दिखती हो

मुझे अक्सर गाना गाने की आदत है, सुबह स्कूल बस में जो गाना लगा होता है वह गाना तो मेरी जुबान पर पूरा दिन रहता है, कई बार है मैं आदतानुसार...

मैं वही पागल...

मैं वही पागलखाने की हूं

  बात उस समय की है जब मेरी शादी हुई थी घर में बेठे सभी रिश्तेदारों में हंसी मजाक चल रहा था। मेरा मायका बरेली उत्तर प्रदेश में है।...

हम तो रोज पी...

हम तो रोज पीते हैं

बात कुछ दिन पहले की है, मेरी ननद के देवर की शादी थी। शॉपिंग की वजह से दीदी के देवर भी हमारे घर आए थे, उनके साथ उनके दोस्त भी थे। रात...

पहने या ना पहने

पहने या ना पहने

जब मेरी शादी हुई तो मुझे ठीक से साड़ी बांधनी आती नहीं थी। ससुराल आई तो वहां साड़ी शादी के बाद साड़ी ही पहनने का रिवाज़ था। ऐसे में...

जब मुंह फूल गया

जब मुंह फूल गया

मेरी शादी को 2 महीने ही हुए थे। मुझे मीठा खाने का बहुत शौक है, पर मेरे पति को मीठा बिल्कुल भी पसंद नहीं है। खाना खाने के बाद बिना मीठा...

चादर की सिलवटें

चादर की सिलवटें

भतीजी की शादी थी। हम सब लोग शादी में गए हुए थे। मेरे दूसरे नंबर वाले जीजाजी बहुत ही बातूनी हैं। भाभी शादी के काम में व्यस्त थी। मैंने...