GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

स्पेशल गिफ्ट...

स्पेशल गिफ्ट पापा को क्यों

  बात तब की है, जब मेरी बिटिया 3 साल की थी। एक दिन मैंने उसकी किसी बात पर खुश होकर उसे शाबाशी दी। 'तुम दुनिया की सबसे प्यारी बेटी...

एस्टीम कैसे ...

एस्टीम कैसे चलाऊंगा?

मेरा 6 वर्षीय बेटा शिवम बहुत नटखट है। एक बार उसे जुकाम हो गया था तो मैं उसे डॉक्टर के पास दिखाने ले गई। डाक्टर ने दवा देते हुए कहा...

सूरज का ट्रिप

सूरज का ट्रिप

मुझे याद है जब मैं स्कूल जाती थी। घर के हालात ठीक-ठाक थे, परंतु आसपास के दोस्त व सहेलियां अमीर घरों के थे। हम छुट्टियों में शिमला घूमने...

दादा जी के म...

दादा जी के मुंह में चैरी डाली

मेरे दादा और चाचू (दादाजी के भाई) पटना में रहते थे। जब कभी भी वो दिल्ली आते तो हमारे घर महीना भर तो रहते ही थे। वह टोका-टाकी बहुत करते...

खुजली वाला डांस

खुजली वाला डांस

बात तब की है जब मैं 12 वर्ष की थी। मेरी छोटी बहन 10 वर्ष की थी। हम गर्मी की छुट्टियां बिताने ननिहाल गए। वहां मेरे मामाजी का जड़ीबूटियों व...

दादी की मिली...

दादी की मिली सीख

तब मैं चौथी कक्षा में पढ़ती थी। गरमी की छुट्टियों में मेरी कॉलोनी की सहेलियां मेरे घर खेलने आया करती थी। मेरी दादी मां छुट्टियों में...

तेरे हाथ का ...

तेरे हाथ का पानी मीठा

घटना तब की है जब मेरी आयु लगभग 9-10 वर्ष की रही होगी। मेरे मामाजी छुट्टियों में आए हुए थे। वे हमेशा मेरे हाथ से ही पानी मंगवा कर पीते...

गोटा लेने की...

गोटा लेने की जिद

मैं तब लगभग तीन वर्ष की थी और शब्दों को स्पष्ट नहीं बोल पाती थी। मुझे बर्फ का गोला बहुत पसंद था। एक दिन मैं पापा से बोली, 'मुझे 'गोटा...

आइब्रो का मुंडन

आइब्रो का मुंडन

बात है पुरानी लेकिन मन की गहराई में उतर कर आज भी मुझे गुदगुदाती है। मेरी उम्र होगी आठ या नौ साल, बचपन में नानी-मामा के यहां अपरिहार्य कारणों...