कोरोना से बचने के लिए घर में कैसे बनाएं मेडिकल किट

मोनिका अग्रवाल

11th June 2020

यदि आपको हल्के फुल्के कोरोना के लक्षण महसूस होते हैं जो कि बहुत मामूली हैं और आप घर पर ही उसे ठीक कर सकते हो तो आप घर पर ही कोरोना मैडिकल किट बना सकते हैं।

कोरोना से बचने के लिए घर में कैसे बनाएं मेडिकल किट

covid medi kit required at home

यदि आपको हल्के फुल्के कोरोना के लक्षण महसूस होते हैं जो कि बहुत मामूली हैं और आप घर पर ही उसे ठीक कर सकते हो तो आप घर पर ही कोरोना मेडिकल किट बना सकते हैं। इस में निम्न चीजें शामिल कर सकते हैं।

  • Paracetamol 
  • Batadine (गरारे करने व गले को साफ करने के लिए) 
  • B complex
  • Vapour और भांप के कैप्सूल्स 
  • Vitamin-C और Vitamin-D3
  • Oximeter
  • Oxigen cylinder (केवल आपातकाल के लिए)
  • आरोग्य सेतू ऐप
  • सांस सही से आने के लिए कुछ व्यायाम 

 

कोरोना की 3 स्टेजें

कोरोना के मरीज को मुख्यतः 3 स्टेजों से गुज़रना पडता है। 

1.केवल नाक में:

जब किसी व्यक्ति के शरीर में कोरोना की बस शुरूआत होती है तो उस के केवल नाक में कोरोना होता है। इसके ज्यादा कुछ लक्षण सामने नहीं आते हैं। यह अलाक्षणिक होता है। मरीज यदि समय रहते इसका इलाज कराले तो यह आधे दिन में ठीक हो जाता है। मरीज को भाप व विटामिन- सी की डोज़ देनी चाहिए जिस से वह जल्दी से जल्दी ठीक हो जाए। आम तौर पर इस स्टेज पर आपको हस्पताल जाने की ज्यादा जरुरत नही होती। आप घर पर इलाज कर के भी ठीक हो सकते हैं। 

2.गले में

 जब किसी व्यक्ति को कोरोना वायरस के लक्षण नाक से नीचे गले में महसूस होने लगें तो समझ लेना चाहिए कि वह कोरोना की दूसरी स्टेज में पहुंच चुका है। इसके कुछ लक्षण भी हैं जैसे गले का बार बार सूखना। इसमें आप गरम पानी के गरारे कर सकते हैं। ठंडे पानी की जगह गरम पानी पीजिए। यदि आपको बुखार है तो paracetamol लीजिए। आप Vitamin-C और B complex भी ले सकते हैं। यदि आप सेहत का ध्यान रखते हैं तो 1 दिन में ठीक हो सकते हैं।

3.फेफडो में

 फेफडों में कोरोना की तीसरी स्टेज होती है। इसके लक्षण सांस लेने में तकलीफ व खांसी है। इस को ठीक करने के लिए आप गरम पानी के गरारे कर सकते हैं। इसके अलावा vitamin-c, oximeter, B complex व  paracetamol ले सकते हैं। यदि ज्यादा गंभीर है तो oxigen cylender का प्रयोग भी कर सकते हैं। 

हास्पिटल कौन सी स्टेज में जाना चाहिए 

आपको हास्पिटल जाने की जरूरत तब होती है जब आक्सीजन लेवल पहले से बहुत कम हो जाता है। सामान्यतः आक्सीजन लेवल 98-100 होता है। जब आपकी आक्सीजन 90 या इस से भी कम आ जाए तो आपको हस्पताल जाकर एडमिट हो जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें-

  1. कोरोना से बचने के लिए कुछ बेसिक सावधानी

  2. 5 आसान स्टेपस में नापे अपनी कमर का साइज

  3. फ़्रूट  कॉकटेल ,जो वास्तव में आपको फील करायेगा कि आप 5-स्टार रिसॉर्ट में हैं

  4. 15 मिनट बट एक्सरसाइज

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

कोरोना की न्...

कोरोना की न्यूस्ट्रेन वायरस से जुड़ी खास...

प्री-डाएबिटि...

प्री-डाएबिटिज क्या है?

कैसे पता करे...

कैसे पता करें कि आप का बच्चा बुलिंग का शिकार...

बगलों में हो...

बगलों में होने वाली खुजली से कैसे पाएं छुटकारा...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

क्या है वॉटर...

क्या है वॉटर वेट?...

आपने कुछ खाया और खाते ही अचानक आपको महसूस होने लगा...

विजडम टीथ या...

विजडम टीथ यानी अकल...

पिछले कुछ दिनों से शिल्पा के मुंह में बहुत दर्द हो...

संपादक की पसंद

नारदजी के कि...

नारदजी के किस श्राप...

कहते हैं कि मां लक्ष्मी की पूजा करने से पैसों की कमी...

पहली बार खुद...

पहली बार खुद अपने...

मेहंदी लगाना एक कला है और इस कला को आजमाने की कोशिश...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription