ओआरएस: पॉवरफुल हेल्थ सोल्यूशन

मोनिका अग्रवाल

29th July 2020

डीहाइड्रेशन का इलाज करने का सबसे अच्छा और आसान तरीका है कि किसी भी दवा को खिलाने के बजाय सबसे पहले अपने बच्चे को ओआरएस (ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन) पिलायें

ओआरएस:  पॉवरफुल हेल्थ सोल्यूशन

ओआरएस

बच्चों में, उल्टी और डायरिया होना काफी कॉमन होता है। मानसून के मौसम में पेट के इन्फेक्शन के केसेस में बहुत ज्यादा बढ़ोत्तरी हुई है। यह लूज मोशन, उल्टी और बुखार के रूप में हो सकता है या तीनो एक साथ भी हो सकते हैं। अचानक से पेट का दर्द करना और फिर ठीक हो जाना गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल इन्फेक्शन का भी संकेत हो सकता है। बच्चों के माता-पिता को इस तरह के लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और डीहाइड्रेशन होने से पहले मेडिकल हेल्प लेंनी चाहिए।

डीहाइड्रेशन का इलाज करने का सबसे अच्छा और आसान तरीका है कि किसी भी दवा को खिलाने के बजाय सबसे पहले अपने बच्चे को ओआरएस (ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन) पिलायें। यह साफ पानी में इलेक्ट्रोलाइट्स का कॉम्बिनेशन होता है। आम तौर पर, टमी टोरमेट (लूज स्टूल्स) वायरल इंफेक्शन की वजह से होता है। आमतौर यह पर एपिसोड हल्के और खुद ही बंद होने वाले होते हैं। कभी-कभी उल्टी भी होती है और अगर उल्टी में तकलीफ होती है तो डॉक्टर बच्चे की उम्र और वजन के आधार पर कुछ दवाओं की सलाह दे सकते हैं। हालांकि, ज्यादातर मामलों में उल्टी खुद ही बंद हो जाती है।

ओआरएस कैसे काम करता है?

जब एक बच्चे को डायरिया होता है, तो उसे लूज पानी जैसा और लगातार बोवेल मूवमेंट होता है। इससे बच्चे के शरीर से बहुत सारा पानी और नमक निकल जाता है। इसलिए, इस तरह की गंभीर कंडीशन से बचने के लिए एक बच्चे को नियमित रूप से ओआरएस  पिलाया जाना चाहिए। डब्ल्यूएचओ (विश्व स्वास्थ्य संगठन) द्वारा रिकमेंडेड ओआरएस आसानी से बाजार में उपलब्ध होता है और घर पर भी तैयार किया जा सकता है क्योंकि इसमें चीनी, पानी और नमक  होता हैं और इसलिए यह लगभग हर घर में मिल जाता है। इसे 1 लीटर स्वच्छ पानी (लगभग पाँच 8-औंस कप), 6 लेवल चम्मच चीनी और 1/2 लेवल टीस्पून नमक के साथ बनाया जा सकता है। इसे बनाते बहुत सावधान रहना चाहिए सब कुछ सही अनुपात में होना चाहिए। बहुत ज्यादा चीनी डायरिया को बदतर बना सकती है। बहुत ज्यादा नमक बच्चे के लिए बहुत हानिकारक हो सकता है। जब बच्चे में पानी जैसा मल आये तो उसे ओआरएस घोल पिलाना चाहिए।

इस घोल में ये चीज़ें जरूर शामिल होनी चाहिए। 

-चीनी होना चाहिए क्योंकि यह ग्लूकोज और एनर्जी का अच्छा स्त्रोत होता है। 

-कुछ सोडियम और 

-कुछ पोटेशियम

कमर्शियल और घर पे बना ओआरएस

कमर्शियल ओरल डीहाइड्रेशन सोल्यूशन (WHO द्वारा रिकमेंडेड) आमतौर पर एक पाउच के रूप में मिलता है  जहां पीने के पानी को साफ करने के लिए पाउडर या ग्रैनुअल्स को मिलाया जा सकता है। इसे और अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिए इसमें फ्लेवर जोड़ा जा सकता है।

घर पर ओआरएस  बनाना बहुत आसान है। यह कभी-कभी एक साधारण शोरबा के रूप में होता है और यहां तक कि चावल के पानी जैसे सोल्यूशन भी शामिल होता हैं जो कुछ क्षेत्रों के घर के एनवायरमेंट में आसानी से उपलब्ध होता हैं।  हालांकि, यह पाया गया है कि इन होममेड सोल्यूशन में से कुछ के ओस्प्रमोटिक इफेक्ट हो सकते हैं जो डायरिया को और बदतर बना सकते हैं विशेष रूप से इसमें अगर शामिल सामग्री सही अनुपात में न मिलायी जाय तो । इसलिए, कमर्शियल ओआरएस ओस्मोलेरिटी को कम करता है और  इस इफेक्ट को होने से रोकता है।

जब तक कि कर्मर्शियल ओआरएस उपलब्ध न हो जाए तब तक होममेड ओआरएस को एक अस्थायी विकल्प के रूप में लिया जाना चाहिए । मेडिकल पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए क्योंकि कुछ केसों में  ओआरएस  काम नहीं कर सकता है।

मदरहुड हॉस्पिटल,नोयडा के पैडिट्रिशियन & नॉनटोलॉजिस्ट कंसल्टेंट डॉ रमानी रंजनयह भी पढ़ें-

भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण के अनुसार फल और सब्जियों को धोने का सही तरीका आइए जानते हैं

शिशु की त्वचा की देखभाल

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

शिशु की त्वच...

शिशु की त्वचा की देखभाल

फोन के अत्यध...

फोन के अत्यधिक इस्तेमाल से हो सकती है फोन...

कैसा हो शिशु...

कैसा हो शिशु-आहार

ब्रेस्ट फीडि...

ब्रेस्ट फीडिंग कब से कब तक

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

वोट करने क लिए धन्यवाद

सारा अली खान

अनन्या पांडे

गृहलक्ष्मी गपशप

उफ ! यह मेकअ...

उफ ! यह मेकअप मिस्टेक्स...

सजने संवरने का शौक भला किसे नहीं होता ? अच्छे कपड़े,...

लाडली को गृह...

लाडली को गृहकार्य...

उस दिन मेरी दोस्त कुमुद का फोन आया। शाम के वक्त उसके...

संपादक की पसंद

प्रेग्नेंसी ...

प्रेग्नेंसी के दौरान...

प्रेगनेंसी में अक्सर हर कोई अपने क्या पहनने क्या नहीं...

क्रेश डाइट क...

क्रेश डाइट के क्या...

क्रैश डाइट क्या होता है और क्या ये इतना खतरनाक है कि...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription