जन्माष्टमी पर घर ले आएं ये सामान, हर मुश्किल होगी आसान

Jyoti sohi

11th August 2020

कहते है भगवान विष्णु ने पापियों से पृथ्वी का उद्धार करने के लिए श्रीकृष्ण रुप में भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मध्यरात्रि रोहिणी नक्षत्र में देवकी और वासुदेव के पुत्र रूप में अवतार लिया था। जन्माष्टमी पर भगवान श्रीकृष्ण की विशेष पूजा की जाती है।

जन्माष्टमी पर घर ले आएं ये सामान, हर मुश्किल होगी आसान
आज हर ओर जन्माष्टमी की धूम है। हर कोई राधेश्याम का गुणगान कर रहा है। क्यों की प्रभु के नाम में ही समस्त मानव जीवन का कल्याण निहित है। कहते है भगवान विष्णु ने पापियों से पृथ्वी का उद्धार करने के लिए श्रीकृष्ण रुप में भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मध्यरात्रि रोहिणी नक्षत्र में देवकी और वासुदेव के पुत्र रूप में अवतार लिया था। जन्माष्टमी पर भगवान श्रीकृष्ण की विशेष पूजा की जाती है। शास्त्रों के हिसाब से भगवान कृष्ण की पूजा सामग्री में एक खीरा, एक चौकी, पीला साफ कपड़ा, बाल कृष्ण की मूर्ति, एक सिंहासन, पंचामृत, गंगाजल, दीपक, दही, शहद, दूध,  घी, बाती, धूपबत्ती, गोकुलाष्ट चंदन, अक्षत साबुत चावल, तुलसी का पत्ता, माखन, मिश्री, भोग सामग्री। इसके अलावा इस त्योहार पर आपको ऐसी चीजें जरूर खरीदनी चाहिए जो घर में सुख-समृद्धि लेकर आती हैं। इन चीजों का जिक्र महाभारत में खुद श्रीकृष्ण ने युधिष्ठिर से किया था. आइए जानते हैं ये चीजें कौन सी हैं।
चंदन
घर में चंदन का होना काफी शुभ माना जात है। कहते हैं चंदन की सौंधी सौंधी खुशबू से आसपास के वातावरण में फैली नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है। सभी देवी देवताओं की पूजा में भी चंदन का विशेष महत्व है। चंदन का तिलक लगाने से मन को शांति मिलती है, क्योंकि माथे पर जिस जगह हम तिलक लगाते हैं वहां आज्ञा चक्र होता है।
परिजात के फूल
जन्माष्टमी के खास दिन भगवान कृष्ण को पारिजात या शैफाली के फूल अर्पित करें। आपकी हर मनोकामना जरूर पूरी होगी।
तुलसी
श्री कृष्ण को तुलसी जरूर अर्पित करनी चाहिए। इससे सभी तरह के रोगों से मुक्ति मिलती है।
 वीणा
घर के किसी शांत-एकांत स्थान पर वीणा का रखना शुभ माना गया है। वीणा घर में रखने से मां सरस्वती की कृपा बरसती रहती है और घर के सभी सदस्यों की बुद्धि का विकास होता है। इसे घर लाते ही आपकी हर परेशानी अपने आप हल होने लगती है। साथ ही घर में धन की कभी कमी भी नहीं आती है।
गाय के दूध से बना घी
भगवान श्री कृष्ण को गाय बहुत प्रिय थीं। उनके बहुत से ऐसे चित्र है, जिनमें हम गउ माता को उनके साथ देख सकते है। ऐसा कहा जाता है कि घर में गाय के दूध से बना शुद्ध देशी घी जरूर रखना चाहिए और नियमित रूप से इसका सेवन करते रहना चाहिए। घी एक ऐसी औषधि है, जिससे हमें शक्ति मिलती है और शरीर स्वस्थ रहता है। घर में शाम को घी की ज्योत भी प्रज्जवलित चाहिए, ताकि घर में हमेशा प्रकाश बना रहे। विशेषतौर पर पूजा-पाठ में घी का एक खास महत्व होता है।
शहद
अगर आपके घर की रसोई में शहद नहीं है तो इस जन्माष्टमी इसे जरूर खरीद लें। घर में शहद रखने से वास्तु के कई दोष शांत होते हैं। साथ ही पूजन में भी शहद जरूर इस्तेमाल करना चाहिए। शहद सभी देवी-देवताओं को अर्पित किया जाता है। इसे भोग प्रसाद के तौर पर रखा जाता है और जिन घरों में रोज पूजा की जाती है, उन घरों में देवी देवताओं की विशेष कृपा हमेशा बनी रहती है। पूजा में शहद ज़रूर इस्तेमाल करें।
शीतल जल
जल ही जीवन है और जीवन को शांतिपूर्ण बनाने में जल एक अहम भूमिका अदा करता है। शास़्त्रों में भी ये बात कही गई है कि घर में हमेशा साफ-सुथरे जल का ही इस्तेमाल करना चाहिए। घर में आए मेहमानों का स्वागत भी शीतल जल से ही करना चाहिए। ऐसा करने से कुंडली के कई सारे दोष दूर होते हैं और घर में सुख शांति का माहौल बना रहता है।
 बांसुरी
भगवान श्रीकृष्ण की प्रिय बांसुरी जिस घर में होती हैं, वहां धन और प्रेम की कभी कमी नहीं आती है। वास्तु के अनुसार भी इसे घर में रखना काफी शुभ बताया गया है। बांस की बांसुरी घर में रखने से गृह क्लेश की समस्या भी दूर होती है।
बाल गोपाल की तस्वीर
कान्हा का बाल रूप हर किसी के मन को माह लेता है।यदि आप संतान सुख को लेकर चिंतित हैं तो घर की दीवार पर बाल-गोपाल की तस्वीर लगा सकते हैं। घर की दीवारों पर कान्हा की तस्वीर लगाने से आपके मन की मुरादें जल्द पूर्ण हो सकती है।
मोर पंख
भगवान श्रीकृष्ण को मोर पंख बहुत प्रिय है। इस दिन दो मोर पंख लेकर एक मोर पंख कृष्ण जी को अर्पित करें और दूसरा मोर पंख तिजोरी में रख दें। धन प्राप्ति होगी।

यह भी पढ़ें -श्रीराम द्वारा स्थापित शिवधाम है रामेश्वरम्

धर्म -अध्यात्म सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा ?  अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही  धर्म -अध्यात्म से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

कृष्ण जन्माष...

कृष्ण जन्माष्टमी के व्रत भोग

द्वापर के बा...

द्वापर के बाद पहली बार इस जन्माष्टमी बना...

जानें क्यों ...

जानें क्यों मनाया जाता है बांके बिहारी का...

मथुरा में इस...

मथुरा में इस जन्माष्टमी होगा सामूहिक शंखनाद...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

मुझे माफ कर ...

मुझे माफ कर देना...

डाक में कुछ चिट्ठियां आई पड़ी हैं। निर्मल एकबार उन्हें...

6 न्यू मेकअप...

6 न्यू मेकअप लुक्स...

रेड लुक रेड लुक हर ओकेज़न पर कूल लगते हैं। इस लुक...

संपादक की पसंद

कहीं आपका बच...

कहीं आपका बच्चा...

सात वर्षीय विहान को अभी कुछ दिनों पहले ही स्कूल में...

Whatsapp Hel...

Whatsapp Help :...

मुझे किसी खास मौके पर अपने व्हाट्सप्प के संपर्कों को...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription