मैनेजमेंट के गुण, बनाएं जिंदगी खुश

चयनिका निगम

15th September 2020

हर कोई चाहता है कि लाइफ की गाड़ी का हर पहिया सरपट दौड़ता रहे। अगर कुछ हिस्सों में मैनेजमेंट पर्फेक्ट कर लिया जाए तो ये काम आसान हो जाएगा।

मैनेजमेंट के गुण, बनाएं जिंदगी खुश
जिंदगी बहुत आसानी से कटेगी अगर इसके कई जरूरी हिस्सों में मैनेजमेंट का तड़का लगा दिया जाए। जब जिंदगी के किसी हिस्से में दिक्कत होगी ही नहीं तो आप तनाव नहीं लेंगी, बीमार नहीं होंगी और दूसरी कई परेशानियां भी नहीं होंगी। इसलिए जरूरी है कि कई सारे कामों में मैनेजमेंट किया जाता रहे। ये मैनेजमेंट यकीन मानिए आपको खुशहाल और स्वस्थ्य जिंदगी जीने का नजरिया दे देगा। 
फाइनेंस में नहीं आएगी गड़बड़ी-
लेट फीस, जी हां, अगर आप अपने बिल समय पर जमा करेंगी, उनकी ड्यू डेट याद रखेंगी तो इस लेट फीस का मुंह कभी नहीं देखना पड़ेगा। और जब ऐसा नहीं होगा तो बचेंगे पैसे और 'हाय रे इतना पैसा खर्च हो रहा है' सोच सोचकर तनाव नहीं होगा वो अलग। ऐसा करने का अच्छा तरीका यह है कि सारे बिल्स के लिए एक जगह बनाइए और महीने का एक दिन तय करिए जिस दिन बिल निपटाने की ही योजना बनाएं।
रिश्ता भी होगा मजबूत-
टेलीविजन का रिमोट आधे घंटे से ढूंढ रहे थे मिला कुशन के नीचे। रुमाल के लिए पूरी अलमारी खंगाल डाली मिला छत की डोरी पर। जरूरी पेपर सम्भाल कर नहीं रखे अब मिल नहीं रहे। अब इन सबके पीछे हमेशा की तरह लड़ाई होगी। भई, सामान सुव्यवस्थित न रखना लड़ाई का कारण है तो इनको व्यवस्थित करिए न। फिर जब लड़ाई नहीं होगी तो प्यार तो बढ़ेगा ही।
अपने लिए समय निकालें-
मी टाइम यानी वो समय जो बस आपका हो। वो करिए जो आपको पसंद हो। पर अगर एक और काम नहीं जोड़ना चाहती तो अपने मौजूदा काम को व्यवस्थित तो कर ही सकती हैं। इससे होगा यह कि आप अपने लिए ज्यादा समय निकाल पाएंगी। मतलब गाड़ी की चाबियां जगह पर रखिए, सुकून से चाय पीने का 5 मिनट और मिल जाएगा। इस तरह से बचाया गया सारा समय आप ऐसे काम में भी लगा सकती हैं जो आपका तनाव कम करे और आपको मानसिक तौर पर मजबूत बनाए।  
दवाएं भी रखनी होंगी याद-
हाल ही में थायराॅइड की दवा लेना शुरू किया है लेकिन सुबह उठते ही भूल जाती हैं। रूटीन चेकअप के लिए जाना है पर समय ही नहीं मिल रहा। कई दिन से ऐसा हो रहा तो मैडम अब अपने फोन पर अलार्म पर दवा और एपाॅइंमेंट का रिमांइडर भी लगा सकती हैं। बाकी दवाओं और हेल्थ से जुड़े मुद्दों के लिए भी यही कीजिए, बस स्वस्थ्य बने रहने के लिए मान लीजिए सबसे बड़ा काम आपने कर लिया। पर यह बड़ा कर लेना ही काफी नहीं है इसे सुनकर काम करना भी जरूरी है। 
नियम से करें व्यायाम-
एक महीने में 5 किलो वेट बढ़ गया पर टेडमिल पर खड़े होने की नौबत ही नहीं आ पा रही। अब जरा आलस छोड़ दीजिए और नियमित व्यायाम करिए। अगर जिम जाने का आलस नहीं छोड़ पा रहीं तो उसका बैग हमेशा तैयार रखिए ताकि आप खुद को बैग न तैयार होने का बहाना भी न दे पाएं। व्यायाम समय पर करेंगी तो हेल्थ तो मेनटेन हो ही जाएगी और व्यवस्थित होने का सबसे बड़ा फायदा आपको होगा। 
भागदौड़ में पौष्टिकता का रखिए ध्यान -
कभी बर्गर खाकर काम चलाती हैं तो कभी जो कुछ भी मिल जाए उसी में पेट भरने की कोशिश करती हैं। जब खाना खाना और बनाना दोनों अव्यवस्थित हो तो स्वास्थ्य बनना तो बड़ी ही मुश्किल बात है। इसलिए जरा अपने खाने पर ध्यान दीजिए। जब अच्छा खाएंगी तो अच्छी रहेंगी और दिखेंगी भी। और यही काम प्लानिंग के साथ करेंगी तो कहने ही क्या। जरा सुबह के नाश्ते की पौष्टिकता बढ़ाने और पौष्टिक लंच पैक करने का नियम बनाइए। हफ्ते के आखिर में कुछ स्वादिष्ट और हेल्थी डिनर बनाने की प्लानिंग कीजिए। 
घर की साफ-सफाई भी बनाएगी स्वस्थ्य-
नियम से घर की सफाई करेंगी तो स्वच्छ घर आपको स्वस्थ्य रहने का भरपूर मौका देगा। पर शर्त यह है कि साफ सफाई हर कुछ दिन में करें क्योंकि गंदगी तो वैसे भी बीमारियों का घर होती है। गंदगी को घर से दूर रखेंगी तो आपका स्वस्थ्य रहना तो निश्चित है। डस्टिंग तो रोज के रोज हो ही जाती है। अलमारियों, कोनों और ऐसी ही दूसरी जगहों की सफाई हर दूसरे रविवार कर लेंगी तो एक्टिव भी महसूस करेंगी और घर साफ होगा वो अलग।
यथार्थवादी बनिए-
व्यवस्थित बने रहने के लिए यह जरूरी है कि आप अपने काम को लेकर यर्थाथवादी रहें। मतलब आप यह समझें कि क्या आप कर सकती हैं और क्या नहीं। क्योंकि ऐसा काम करने लगेंगी जो आपको पता है कि आपका काम है ही नहीं तो आप उसी में उलझी रहेंगी। फिर व्यवसस्थित होने के फलसफा तो रह ही जाएगा। इसेिलए काम को कर लेने के पूरे विश्वास के बाद ही काम करने की शुरुआत करें मतलब यथार्थवादी बनें।
इन बातों का रखें ध्यान-
• रोज की टू डू लिस्ट जरूर बनाएं
• खुद की चीजें इस्तेमाल करने के बाद जगह पर जरूर रखें
• प्राथमिकताएं तय करें, कहीं आप बेकार के कामों को व्यवस्थित करने में न लगे हों
• जो करना है अभी करना है को अपने जीवन का फलसफा बनाइए
• हर काम के लिए अलग दिन बनाइए और उन्हें उस दिन करिए भी
• अपने समय को काम के हिसाब से बांट कर तय करना बेहद जरूरी है
• एक टेबल कैलेंडर को रूटीन का हस्सा बनाएं। आज के आने वाले दिनों के जरूरी काम तारीख के नीचे लिख दीजिए
• एक काम के साथ दूसरे काम का तालमेल मिलाएं। जैसे वाशिंग मशीन में कपड़े डालकर जरूरी ई-मेल भेजने का काम निपटा लें। जब तक कपड़े धुलेंगे आपका काम हो जाएगा।
• ज्यादा से ज्यादा निर्णय लेने की आदत डालें। सही निर्णय व्यवस्थित रहने में मदद करते हैं
• कोशिश करें अपने साथ एक छोटा नोट पैड और पेन साथ रखें।
• अगर आप कभी भी व्यवस्थित व्यक्ति नहीं रही हैं पर होना चाहती हैं तो घर के एक हिस्से से इसकी शुरुआत कीजिए
• जिन चीजों का इस्तेमाल नहीं करते उन्हें अलग पैक करके रखें। ताकि वो वहां भी मैनेज रहें।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

कमाओ, बचाओ फ...

कमाओ, बचाओ फिर खर्चो...याद रखो

मेकअप टूल भी...

मेकअप टूल भी मांगे हाइजीन का डोज

मेकअप होगा ब...

मेकअप होगा बेस्ट अगर कॉन्ट्यूरिंग होगी पर्फेक्ट...

किचन छोटा है...

किचन छोटा है तो उदास मत होइए, ये टिप्स काम...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

टमाटर से फेस...

टमाटर से फेस पैक...

 अगर आपको भी त्वचा से संबंधी कई तरह की परेशानी है तो...

पतले और हल्क...

पतले और हल्के बालों...

 तो सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए आज हम आपको कुछ ऐसा बता...

संपादक की पसंद

टीवी की आदर्...

टीवी की आदर्श सास,...

हर शादीशुदा महिला के लिए करवा चौथ का त्योहार बेहद ख़ास...

मैं एक बदमाश...

मैं एक बदमाश (नॉटी)...

आप लॉकडाउन कितना एन्जॉय कर रही है... मेरे लिए लॉकडाउन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription