जब रिश्ते आपस में होने लगे खट्टे

मोनिका अग्रवाल

1st October 2020

परिवार वालों की गाइडेंस आप के रिश्ते को सम्भाल सकती है तो उनका हस्तक्षेप आप के रिश्ते को बिगाड़ भी सकता है। हस्तक्षेप व गाइडेंस में एक बहुत ही पतली रेखा होती है जो सभी को समझनी चाहिए। ऐसे में आप को क्या करना चाहिए? आइए जानते हैं।

जब रिश्ते आपस में होने लगे खट्टे

क्या आप भी अपने ससुराल वालों के ताने सुन सुन कर एक दम थक चुके हैं और आप को अब बहुत इरिटेट व थकावट महसूस होती है। तो अब समय है कुछ करने का। ऐसे में हो सकता है आप के पार्टनर के पास भी उतना कॉन्फिडेंस न हो कि वह अपने घर वालों को आप के बारे में समझा सके या फिर ऐसा भी सम्भव है कि वह आप से ज्यादा अपने परिवार वालों की तरफदारी करते हो। परिवार वालों की गाइडेंस आप के रिश्ते को सम्भाल सकती है तो उनका हस्तक्षेप आप के रिश्ते को बिगाड़ भी सकता है। हस्तक्षेप व गाइडेंस में एक बहुत ही पतली रेखा होती है जो सभी को समझनी चाहिए। ऐसे में आप को क्या करना चाहिए? आइए जानते हैं। 

थोड़ा सहन करें : आजकल वाली पीढ़ी बहुत ही उतावली है और वह किसी भी बात को सहन नहीं करती है। ऐसे में यदि आप थोड़े से सहनीय बन जाएंगे तो हो सकता है आप की लड़ाई खत्म हो जाए क्योंकि किसी एक को तो सहन करना ही पड़ेगा। स्वयं के दिमाग को शांत रखें न की गुस्से में भरपूर होकर सभी को बूरा भला सुनाएं। 

चीजें भूल जाएं : यदि आप से पास्ट में कोई गलती हो गई है जिस की वजह से आप की घर वालो के साथ कहा सुनी हो चुकी है तो उन बातों को ज्यादा न याद करें। उन्हें भूल जाएं और उन्हें दोबारा न करने का प्रण लें। ऐसा ही परिवार वालों को भी करना चाहिए। 

जेनरेशन गैप को समझें : आप में व आप के ससुराल वालों में एक पीढ़ी का अंतर होता है। इसलिए आप को यह जेनरेशन गैप समझना चाहिए और इसकी इज्जत भी करनी चाहिए। यदि आप के माता पिता आप आप से कुछ अपने जमाने के बारे में कहते भी हैं तो उनकी बातों को दिल पर न ले। यदि आप को अपने घर में शांति चाहिए है तो उनकी स्थिति को समझना ही होगा। 

शांत रहें : लड़ाई झगडे व आपस में मत भेद होना बहुत आम है और हर घर में होता है। इसलिए हर बात पर गुस्सा न हों और शांत दिमाग से सोचें। अपने परिवार वालों की राय को भी सुने और उन्हें अपनी राय के बारे में भी समझाएं। यदि आप ऐसे शांत थके रह कर काम करेंगे तो अच्छे से सभी बातें निमट जाएंगी। 

 एक अच्छा कनेक्शन बनाएं : यदि आप के ससुराल वाले हर सम्भव कोशिश करने के बाद भी आप को नहीं समझ पाते हैं तो आप के हस्बैंड ही उन्हें आप के बारे में समझाने में मदद कर सकते हैं। इसलिए आप को अपने पार्टनर के साथ एक मजबूत रिश्ता बनाना होगा। यदि आप दोनों में अच्छी बॉन्डिंग होगी तो निश्चित ही आप के ससुराल वालों और आप के बीच भी एक मजबूत रिश्ता बनेगा। 

माता पिता को भूल जाए-इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपने नए घर में आने के बाद अपने माता पिता को भूल जाएगी बल्कि आप को नए लोगों के साथ एडजस्ट होने में व उनको समझने के लिए थोड़ा समय लगेगा जोकि आप को देना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें-

कैसे पता लगाएं की आप अपने एक्स के साथ फिर से जाना चाहते हैं या आप केवल उन्हें याद करते हैं

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

क्या आप एक प...

क्या आप एक पैरेंट के रूप में भावनात्मक रूप...

कैसे पता करे...

कैसे पता करें कि आप का बच्चा बुलिंग का शिकार...

जिंदगी की एक...

जिंदगी की एक नई शुरुआत-तलाक के बाद

कैसे पहचानें...

कैसे पहचानें असली गुरु को?

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

टमाटर से फेस...

टमाटर से फेस पैक...

 अगर आपको भी त्वचा से संबंधी कई तरह की परेशानी है तो...

पतले और हल्क...

पतले और हल्के बालों...

 तो सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए आज हम आपको कुछ ऐसा बता...

संपादक की पसंद

टीवी की आदर्...

टीवी की आदर्श सास,...

हर शादीशुदा महिला के लिए करवा चौथ का त्योहार बेहद ख़ास...

मैं एक बदमाश...

मैं एक बदमाश (नॉटी)...

आप लॉकडाउन कितना एन्जॉय कर रही है... मेरे लिए लॉकडाउन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription