GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

टीन एजर्स और फ्रीडम

मोनिका अग्रवाल

22nd June 2020

जब हमारे बच्चों की उम्र 13 से 19 वर्ष के बीच की होती है तो वह उम्र किशोरावस्था कहलाती है। इस उम्र में बच्चे बड़े होने लगते हैं। बच्चों में कभी कभी बचपना तो कभी कभी मैच्योरिटी झलकती है। इस समय बच्चों में कई तरह के शारिरीक बदलाव भी होने लगते हैं।

टीन एजर्स और फ्रीडम

टीन एजर्स और फ्रीडम

जब हमारे बच्चों की उम्र 13 से 19 वर्ष के बीच की होती है तो वह उम्र किशोरावस्था कहलाती है। इस उम्र में बच्चे बड़े होने लगते हैं। बच्चों में कभी कभी बचपना तो कभी कभी मैच्योरिटी झलकती है। इस समय बच्चों में कई तरह के शारिरीक बदलाव भी होने लगते हैं। बच्चे बड़ी जल्दी उदास हो जाते हैं या  हर बात के लिए जिद करते हैं। इस उम्र में आप के बच्चे आप से स्वतंत्रता की भी डिमांड करते हैं। वह अपनी जिंदगी में किसी का हस्तक्षेप नहीं चाहते। परंतु क्या आप को उन्हें स्वतंत्रता देनी चाहिए। बहुत ज्यादा और बहुत कम दोनों तरह की स्वतंत्रता ही बच्चे के लिए अच्छी नहीं होतीं। क्योंकि कम स्वतंत्रता में बच्चे अपना ठीक से विकास नहीं कर पाते। और अधिक स्वतंत्रता का वे गलत प्रयोग कर लेते हैं। तो आप को उन के लिए कुछ नियम बना देने चाहिए जिस से उन को पता चले कि उन के पास कितनी स्वतंत्रता है व कितने बंधन। 

आप अपने बच्चों के लिए किस तरह नियम बना सकते हैं? 

  • सबसे पहले अपने बच्चों के साथ एक मित्रता पूर्ण व्यवहार बना कर रखें। ऐसा करने से आप के बच्चे आप को कोई भी बात बताते समय हिचकिचाएंगे नहीं व आप उन के मन में क्या चल रहा है यह जान पाएंगे।

  • आप अपने बच्चे की उम्र के व काम के शेड्यूल के हिसाब से उस का स्लीपिंग टाइम टेबल बनाएं। जैसे अगर आप का बच्चा 14 साल का है तो आप उसे 10 बजे सोने को बोलें अगर वह 16 या इस से अधिक आयु का है तो आप अपने हिसाब से उस में आधा या 1 घंटा एड कर सकते हैं।

  • 15 वर्ष से कम के बच्चों को फोन का प्रयोग बिलकुल न के बराबर करने दें। किसी छुट्टी के दिन उन को फोन दे सकते हैं। 18 वर्ष से पहले बच्चों को निजी फोन न ला कर दें। 

  • यदि आप के बच्चे बाहर अपने दोस्तों के साथ घूमना फिरना चाहते हैं तो आप उन को एक निश्चित समय के लिए अलाऊ कर सकते हैं।

  • यदि आप के बच्चे किसी को पसंद करते हैं तो आप उन को डेटिंग के लिए भी अलाऊड कर सकते हैं पर कुछ लीमिट्स सेट कर दें जैसे केवल दिन में और समय अवधि भी उन्हें बता दें। तथा उन के बारें में हर चीज पूछ लें। 

  • आप अपने बच्चों को गलत कामो में शामिल होने से रोकें जैसे ड्रग्स आदि।

यह भी पढ़ें-

 

  1. क्या महत्वाकांक्षाएँ तोड़ती हैं रिश्तों की डोर

  2. ये आदतें ऑफिस में आपकी इमेज बिगाड़ सकती हैं

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

क्या आप का ब...

क्या आप का बच्चा पूरी नींद नहीं सोता। जानिए...

बच्चों को  स...

बच्चों को सिखाएं,आर्थिक मदद करना

10 ऐसी चीजें...

10 ऐसी चीजें जिन को साफ करना आप भूल रहे हैं...

कुछ हैल्दी फ...

कुछ हैल्दी फूड जो केवल नाम के ही हैल्दी हैं...

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

गृहलक्ष्मी गपशप

पहली बार घर ...

पहली बार घर रहे...

लाॅकडाउन से पहले अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशी रीलीज़...

अनलाॅक 2 में...

अनलाॅक 2 में 31...

मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स ने कहा है कि जो डोमैस्टिक...

संपादक की पसंद

गुरु एक सेतु...

गुरु एक सेतु है,...

गुरु तो एक सेतु है, एक संभावना है। गुरु एक तरह की रिक्तता...

दिल जीत लेंग...

दिल जीत लेंगे जयपुर...

जयपुर को गुलाबी शहर कहा जाता है लेकिन ये महलों का शहर...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription