लो ब्लड प्रेशर को तुरंत कंट्रोल करने के लिए इन जरूरी 12 बातों का रखें ख्याल

मोनिका अग्रवाल

2nd December 2020

ब्लडप्रेशर एक ऐसी बिमारी, जिससे लगभग हर दूसरा इंसान ग्रसित है। ब्लडप्रेशर को नियंत्रित रखना हमारे लिए बेहद जरूरी होता है। अगर ब्लडप्रेशर बढ़ जाए तो जान तक जा सकती है, वहीं अगर ब्लडप्रेशर लो हो जाए तो भी कई गम्भीर बिनारियों से जूझना पड़ सकता है

लो ब्लड प्रेशर को तुरंत कंट्रोल करने के लिए इन जरूरी 12 बातों का रखें ख्याल

लो ब्लड प्रेशर

ब्लडप्रेशर एक ऐसी बिमारी, जिससे लगभग हर दूसरा इंसान ग्रसित है। ब्लडप्रेशर को नियंत्रित रखना हमारे लिए बेहद जरूरी होता है। अगर ब्लडप्रेशर बढ़ जाए तो जान तक जा सकती है, वहीं अगर ब्लडप्रेशर लो हो जाए तो भी कई गम्भीर बिनारियों से जूझना पड़ सकता है। इसलिए शोधकर्ताओं की मानें तो ब्लडप्रेशर को कंट्रोल करना सबसे अहम और जरूरी है। अगर आपने इसे कंट्रोल कर लिए तो समझिये जिंदगी से जुड़े स्वास्थ्य की आधी जंग आप जीत लेंगे। लेकिन समस्या तब होती है जब हम दवा लेने के बाद भी अपना ब्लडप्रेशर कंट्रोल नहीं कर पाते। या यूं कहें दवा के अलावा हमें पता ही नहीं होता कि हम अपनी दिनचर्या में ऐसा क्या बदलाव करें, ऐसी कौन सी चीजों को शामिल करें जिससे हम आसानी से ब्लडप्रेशर को कंट्रोल कर सकें। तो आज के हमारे इस खास लेख के जरिये हम आपको बताएंगे, कि आखिर आप ऐसा क्या करें जिससे आपका ब्लडप्रेशर कंट्रोल में रहे। तो आइये फिर शुरू करते हैं।

1. लायें छोटे बदलाव- अगर आप ब्लडप्रेशर की लो या हाई की समस्या से जूझ रहे हैं तो आपके लिए सबसे ज्यादा जरूरी है की आप इसे नियंत्रित करें, और इसके लिए आपको इसकी शुरुवात अपनी  जीवनशैली में छोटे-छोटे बदलाव लाने से करनी होगी। इसके लिए आपके पास बहुत से विकल्प हैं। जिसमें स्वस्थ भोजन करना, अधिक व्यायाम करना और दिन-प्रतिदिन की आदतों को बदलना आपके ब्लडप्रेशर को नियंत्रण में रखने में मदद कर सकता है। हो सकता है कि दवा की आवश्यकता भी पड़ सकती है, जिसके लिए आपको पीछे नहीं हटना चाहिए।

2. खाएं हेल्दी डाइट- ब्लडप्रेशर का सीधा कनेक्शन आपके खान-पान, कैसी डाइट ले रही हैं आप, से भी होता है। अपने खान-पान के जरिये भी आप आप अपना ब्लडप्रेशर को नियंत्रित रख सकते हैं। जिसके लिए आप साबुत अनाज, फल, सब्जियां, और कम वसा वाले डेयरी खाने से अपने ब्लडप्रेशर को कम कर सकते हैं। धयन रखें आप ऐसे खाद्य पदार्थों की तलाश करें, जिनमें वसा या कोलेस्ट्रॉल अधिक न हो। देखा जाए तो आप इसमें लीन मीट, पोल्ट्री, मछली और नट्स को अपने खाने में शामिल कर सकते हैं। इसमें प्रोटीन और फाइबर में उच्च मात्रा में होता है। इसके अलावा आप मीठा पेय, लाल मीट और मिठाई खाने से अपना बचाव जरुर करें।

3. अतिरिक्त वजन कम करें- ज्यादा वजन कई बिमारियों को जन्म देता है। शरीर का भारी होना ब्लडप्रेशर के मरीजों के लिए जानलेवा हो सकता है। इसलिए आपको अपना अतिरिक्त वजन कम करने की भी जरूरत है। आप अगर अपना वजन कंट्रोल करेंगे तो आपको ब्लडप्रेशर कम करने में भी थोड़ी कम मेहनत करनी पड़ेगी। 

4. व्यायाम भी जरूरी-  कहते हैं व्यायाम शरीर के आधे रोगों की छुट्टी यूं ही कर देता है। रोज की दिनचर्या में व्यायाम से दोस्ती बेहद लाभदायक है। व्यायाम न सिर्फ ब्लडप्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करता है बल्कि वजन को भी कम करता है। हर रोज कम से कम 150 मिनट का व्यायाम करने का लक्ष्य रखें। एरोबिक वर्कआउट भी बेहतरीन विकल्प में से एक है। व्यायाम के अलावा कुछ ऐसा करें जिससे शरीर पूरी तरह से सक्रिय रहे। इसके लिए आप ब्रिस्क वॉकिंग, बाइकिंग, स्विमिंग या डांसिंग जैसी चीजों को आजमाएं।

5. नमक का रखें ख्याल- ब्लडप्रेशर हाई और लो होने का जिम्मेदार सबसे ज्यादा नमक होता है, और ये सच भी है। नमक में सोडियम होता है। बहुत अधिक सोडियम आपके ब्लडप्रेशर को बढ़ा सकता है। आपको एक दिन में 1,500 मिलीग्राम से अधिक नमक का सेवन नहीं करना चाहिए। खाद्य पदार्थों में छिड़कने वाले नमक से आपको सोडियम नहीं मिलता है। यह डिब्बाबंद खाद्य पदार्थों में भी छिपा सकता है। आप नमक खरीदने से पहले लेबल पढ़ें। सूप, सैंडविच, और पिज्जा जैसी चीजों में नमक ज्यादा होता है। जो घातक साबित हो सकता है।

6. पोटेशियम से करें दोस्ती- अगर आपके पास पोटेशियम जैसे पोषक तत्व की पर्याप्त मात्रा नहीं है तो आपका ब्लडप्रेशर अधिक होने की संभावना है। हर रोज 3,000 और 3,500 मिलीग्राम के पोटेशियम हमारे शरीर के लिए जरूरी होता है। पोटेशियम सबसे ज्यादा आलू में मिलता है। बिना छिला हुआ एक बेक्ड आलू आपको 900 मिलीग्राम से अधिकबी पोटेशियम देता है। पालक, बीन्स, टमाटर, संतरे, दही, और शकरकंद में भी पोटेशियम अधिक मात्रा में मिलता है। जहां किडनी की बीमारी जैसे कुछ मामलों में या कुछ दवाएं लेने वाले लोगों को पोटेशियम से सावधान रहना होगा। इसलिए आप जो भी खाते हैं उसे बदलने से पहले अपने डॉक्टर से जांच लें।

7. तनाव कम करें- तनाव होना आम बात है, लेकिन ज्यादा तनाव आपके ब्लडप्रेशर को प्रभावित कर सकता है। खासकर यदि आप बहुत सारे अस्वास्थ्यकर खाद्य पदार्थ खाते हैं। तो इसका असर भी आप पर पड़ता है। इसलिए तनाव को कम करने के लिए खुद को आराम दें। और अपने लिए कुछ समय निकालें। उन चीजों का आनंद लें जो आपको बेहद पसंद हों। इसके लिए आप संगीत सुनना, बागवानी करना या दोस्तों के साथ समय बिताने जैसे विकल्प को चुन सकते हैं।

8. शराब को कहें ना- शराब का सेवन आपके शरीर के साथ-साथ आपके दिमाग को भी प्रभावित करता है। ज्यादा शराब का सेवन किस कदर आपका स्वास्थ्य खराब कर सकता है, इसका अंदाजा जब तक आप लगाएंगे, हो सकता है तब तक देर हो जाए। इसके अलावा अगर आप ब्लडप्रेशर के लिए दवा का सेवन भी करते हैं तो, एल्कोहल आपको प्रभावित कर सकता है और आपका ब्लडप्रेशर बढ़ा सकता है।

9. तुरंत छोड़ें धूम्रपान- धूम्रपान आपके ब्लडप्रेशर को बढ़ाता है और दिल का दौरा या स्ट्रोक की संभावना अधिक बनाता है। जब आप धूम्रपान करते हैं, तो आप अपने रक्त वाहिकाओं के अस्तर पर चोट करते हैं। जिससे उन्हें आराम करना मुश्किल हो जाता है। और इससे जान तक जाने का जोखिम बन जाता है। इसलिए अगर आप धूम्रपान करते हैं तो तुरंत इसे छोड़ दें। इसके लिए आप डॉक्टर से सुझाव ले सकते हैं। डॉक्टर आपको धूम्रपान छोड़ने के अच्छे और कारगर सुझाव दे सकते हैं।

10. कैफीन पर ध्यान दें- यदि आप नियमित रूप से कॉफी, सोडा और अन्य पेय कैफीन के साथ पीते हैं, तो यह आपके बीपी को अधिक प्रभावित नहीं कर सकता है। और अगर आपको कभी ब्लडप्रेशर कम या ज्यादा होने की परेशानी हो तो आप कैफीन का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आप इसकी सही मात्रा अपने डॉक्टर से भी पुच सकते हैं।

11. पर्याप्त नींद लें- नींद पूरी होना बेहद जरूरी है। अगर नींद पूरी नहीं होगी तो कई बीमारियां हमें घर सकती हैं। सही नींद से ब्लडप्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है। नींद पूरी होना आपके दिल और रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ रखने का एक महत्वपूर्ण तरीका है। बता दें हर किसी को कम से कम 7 घंटे की उच्च गुणवत्ता वाली नींद की आवश्यकता होती है।

12. ब्लडप्रेशर की जांच भी जरूरी- अगर आपको ब्लडप्रेशर हाई या लो होने की शिकायत है तो, आपके लिए सबसे ज्यादा जरूरी ये है कि आप अपने ब्लडप्रेशर के ग्राफ पर भी नजर बनाए रखें। क्योंकि कभी-कभी ब्लडप्रेशर हाई होने के बाद भी लक्षण का पता नहीं चलता। अगर आपने अपने आहार, व्यायाम या जीवनशैली में बदलाव किये हैं तो, आपको अपना ब्लडप्रेशर जरुर जांचना चाहिए। आप इसे होम मॉनिटर से भी देख सकते हैं, या इसके लिए आप अपने डॉक्टर से मिल भी सकते हैं।

ब्लडप्रेशर के मरीजों को अपने स्वास्थ्य को लेकर बेहद सहज रहने की जरूरत होती है। थोड़ी सी भी लापरवाही हम पर भारी पड़ सकती है। देखा जाए तो ब्लडप्रेशर होना आम बात है, इसकी आयु निर्धारित नहीं है, युवा भी इससे आजकल ग्रसित हैं। इसका मुख्य कारण हमारी लापरवाही और खराब दिनचर्या है। डायबिटीज के मरीजों को भी हाई ब्लडप्रेशर की समस्या होती है। ज्यादा कोलेस्ट्रॉल, स्लीप एपनिया और थायरॉइड विकारों जैसी अन्य स्थितियों को भी अक्सर इसके साथ जोड़ा जाता है। इसलिए ब्लडप्रेशर को नियंत्रित रखना आपके स्वास्थ्य के प्रति आपकी सबसे पहली जिम्मेदारी भी है।

यह भी पढ़ें-

सारे शरीर में दर्द के क्या है कारण कहीं यह है रूमेटाइड गठिया तो नहीं , जानिए विस्तार से 

 10  हर्ब्स जो आपके ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक हैं

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

10  हर्ब्स ज...

10 हर्ब्स जो आपके ब्लड प्रेशर को कम करने...

ताकि बीपी रह...

ताकि बीपी रहे नियंत्रित

हर समय थकान ...

हर समय थकान और सुस्ती महसूस करने के कहीं...

लॉकडाउन के स...

लॉकडाउन के समय बढ़े हुए वजन को इन 7 आसान...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

क्या है वो ख...

क्या है वो खास कारण...

क्या है वो खास कारण जिसकी वजह से ब्यूटी कांटेस्ट में...

ननद का हुआ ह...

ननद का हुआ है तलाक,...

आपसी मतभेद में तलाक हो जाना अब आम हो चुका है। कई बार...

संपादक की पसंद

दुर्लभ मगरगच...

दुर्लभ मगरगच्छ के...

रूस की लग्जरी गैजेटस कंपनी केवियर ने सबसे मंहगा हेडफोन...

शिशु की मालि...

शिशु की मालिश के...

बच्चे के जन्म के साथ ही अधिकांश माँए हर रोज शिशु को...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription