9 पर्सनल हाइजीन की आदतें जो हर बच्चे के लिए जानना जरूरी है

मोनिका अग्रवाल

13th January 2021

बचपन से ही बच्चों में ऐसी आदतें डालनी चाहिए, जो उनके साथ ताउम्र रहे। उन्हीं आदतों में से एक सबसे अहम आदत है साफ़-सफाई यानि की हाइजीन की।

9 पर्सनल हाइजीन की आदतें जो हर बच्चे के लिए जानना जरूरी है

9 पर्सनल हाइजीन की आदतें जो हर बच्चे के लिए जानना जरूरी है

बच्चों में अच्छी आदतों का समावेश हो, इसका ख्याल आपको ही रखना होगा। बचपन से ही बच्चों को अच्छी आदतों के बारे में सिखाते रहें। ये आदतें उनकी अच्छी हेल्थ से जुड़ी हो तो कहने ही क्या। शिष्टाचार के साथ साफ़-सफाई यानी की हाइजीन का कैसे ख्याल रखना है, ये भी बच्चों को बचपन से ही पता होनी चाहिए। जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते जाते हैं वैसे-वैसे साफ़ सफाई की आदत और भी ज्यादा विकसित होती चली जाती है। ये आदत उन्हें ना सिर्फ अच्छी हेल्थ देती है, बल्कि सामाजिक स्तर में भी आगे रखती है। वो कम बीमार पड़ते हैं, और उनकी इम्युनिटी मजबूत रहती है। बच्चों को अच्छी आदतों में न सिर्फ हाथ धोना सिखाएं, बल्कि एक अच्छी दिनचर्या को अपनी जिन्दगी में कैसे शामिल करना है ये भी सिखाएं। आज इस लेख के जरिये हम आपको बताएंगे बच्चों को कौन-कौन सी आदतें सिखाएं।

1.नहाने की आदत- बच्चे अक्सर या तो नहाना बहुत पसंद करते हैं, या फिर बिलकुल भी नहीं। आप बच्चों में नहाने की आदत जरुर डालें। खेल के जरिये उन्हें ये बात बताएं कि उनके लिए नहाना कितना जरूरी है। उन्हें ये भी बताएं कि ना नहाने से उन्हें बीमारी हो सकती है। ऐसे में आप बच्चों को खुद नहाने दें और उन्हें समय-समय पर तरीका भी बताते रहें।

2.हाथ धोने की आदत- यूं तो हाथ धोने की आदत को सबसे अच्छी आदतों में से एक माना जाता है। खाना खाने से पहले और खाने के बाद अच्छी तरह से हाथ को धोना बेहद जरूरी है। हालंकि बच्चों की आदत होती है कि वो खेलते हुए कभी भी कहीं भी हाथ रखते हैं, या पालतू जानवरों को छूते हैं। ऐसे में वो कीटाणुओं के सम्पर्क में आ जाते हैं। हाथ धोना कीटाणुओं से निजात पाने के लिए सबसे अच्छा विकल्प है।

3.बाल धोने की आदत-बच्चे अकसर बालों को नहीं जल्दी-जल्दी नहीं धोते। बहुत बार बाल धोना भी हानिकारक होता है। लेकिन जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते जाते हैं, वैसे-वैसे उनके लिए बालों को खूबसूरत दिखाने की चाह भी बढ़ जाती है। इसलिए शैंपू के साथ वो हफ्ते में कम से कम दो बार अपने बाल धो सकते हैं।

4.शौच की आदत- एक बार जब बच्चों के अंदर शौच की आदत पड़ जाती है, वो इससे जुड़ी साफ़ सफाई का ध्यान रखते हैं। इसलिए ये सभी जानकारी आप ही को उन्हेंं देनी होगी। आप उन्हें पोछना सिखाएं और इसके बाद हाथ धोना भी सिखाएं। ये अच्छी आदतें बच्चों को संक्रमित होने से बचाती हैं।

5.स्किनकेयर की आदत- उम्र चाहे कोई भी क्यों ना हो, स्किनकेयर सबसे जरूरी है। आप बचपन से ही इससे जुड़ी आदतों के बारे में अपने बच्चों को सिखाये। उन्हें ये जरुर बताएं कि नहाने के बाद स्किन को अच्छे से पौछें, उसकी देखभाल करें।

9 पर्सनल हाइजीन की आदतें

6.मुंह की सफाई की आदत- दांत और मसूड़े स्वास्थ्य की समस्याओं को रोकने में मदद करते हैं। आप अपने बच्चे को हर रोज कम से कम दो बार ब्रश करने की आदत सिखाएं। उन्हें इससे जुड़े बेनिफिट्स के बारे में भी जरुर बताएं।

7.अंडरआर्म की सफाई की आदत- बच्चे हों या युवा अक्सर अंडरआर्म्स की सफाई को नजरअंदाज कर देते हैं। पूरे शरीर में सबसे ज्यादा इसी अंग से पसीना आता है। आप अपने बच्चों से इसके अंडरआर्म को साफ़ रखने के फायदे बताएं। एक डिओडोरेंट बैक्टीरिया को नियंत्रित करता है और बदबू को रोकता है। जबकि एक एंटीपर्सपिरेंट भी पसीने को कम करने में मदद करता है।

8.नाखूनों की सफाई- नाखूनों की सफाई का ध्यान रखना सबसे ज्यादा जरूरी है। आपके बच्चे के नाखूनों के नीचे रहने वाले कीटाणु आसानी से उनकी आंखों, नाक और मुंह में जा सकते हैं। आप अपने बच्चे को सिखाएं कि, सोने से पहले अपने नाखूनों को साफ़ रखें। नाखूनों को बढ़ाए नहीं।

9. पीरियड्स से जुड़ी सफाई की आदत- जब एक बार लड़कियों को पीरियड्स आना शुरू हो जाता है, तो इससे जुड़ी सफाई की आदतों को भी ध्यान में रखना जरूरी हो जाता है। आप अपनी बेटी की मदद के लिए अपनी बेटी को उसके चक्र का एक चार्ट रखने के लिए प्रोत्साहित करें। ताकि वह जान सके कि कब उन्हें सबसे ज्यादा ध्यान देना है। आप अपनी बेटी को बताएं कि शुरूआती दो सालों में तक पीरियड्स अनियमित हो सकते हैं, इसलिए उसे तैयार रहने में मदद करें।

ये कुछ ऐसी आदतें हैं, जो बच्चों को जानना ज्यादा जरूरी है। सफाई से जुड़ी ये आदतें आपके बच्चे के लिए अच्छी भी हैं और हेल्दी भी। अगर एक बार आपके बच्चे के जीवन में ये सारी आदतें शामिल हो गयीं तो ताउम्र ये उनके साथ रहेंगी।

यह भी पढ़ें-

ब्यूटी कांटेस्ट के लिए खुद को तैयार करें

शिशु के लिए मालिश क्यों है जरूरी और मालिश करने के तरीके, जाने विस्तार से

बच्चों के मन की बात कैसे समझें? जाने 5 जरूरी टिप्स

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

बच्चों को डा...

बच्चों को डालें दांत साफ करने की आदत

बच्चों में स...

बच्चों में सबसे आम 5 बीमारियां क्या हैं

मां कैसे डाल...

मां कैसे डाल सकती है बढ़ते बच्चे में अच्छे...

युवाओं में ब...

युवाओं में बढ़ता जंक फूड्स का क्रेज

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

क्या है वॉटर...

क्या है वॉटर वेट?...

आपने कुछ खाया और खाते ही अचानक आपको महसूस होने लगा...

विजडम टीथ या...

विजडम टीथ यानी अकल...

पिछले कुछ दिनों से शिल्पा के मुंह में बहुत दर्द हो...

संपादक की पसंद

नारदजी के कि...

नारदजी के किस श्राप...

कहते हैं कि मां लक्ष्मी की पूजा करने से पैसों की कमी...

पहली बार खुद...

पहली बार खुद अपने...

मेहंदी लगाना एक कला है और इस कला को आजमाने की कोशिश...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription